29 नवंबर 2014

अंग में ताकत ही नहीं.......!

आपके  लिए कुछ लाये है उत्तम योग ....









पहला प्रयोग:-
========

मुलैठी का चूर्ण- २० ग्राम

अश्वगंधा का चूर्ण -२० ग्राम

विधारा चूर्ण- १० ग्राम

* इन सबको कस कर घोंट लीजिये और फिर इस मिश्रित चूर्ण में से तीन ग्राम मात्रा लेकर सिद्ध मकरध्वज एक रत्ती(१२५ मिलीग्राम) मिला कर मिश्री मिले दूध के साथ दिन में दो बार भोजन के बाद लीजिये।

दूसरा प्रयोग :-
========

मन्मथ रस एक गोली

पानी में भिगो कर छिलका निकाला इमली के बीज जिसे चियां या चिंचोका भी कहते हैं १ ग्राम पीसा हुआ .

गुड दो ग्राम  .

* तीनो को आपस मिला कर सुबह शाम दूध से लीजिये।

* औषधि सेवन काल में सम्भोग से परहेज करिये फिर चालीस दिन बाद जब आपकी समस्या हल हो जाए तो आप सामान्य जीवन जियें। कब्जियत न होने दें आवश्यकता होने पर त्रिफ़ला चूर्ण ले लीजियेगा
loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Information on Mail

Loading...