किन लोगों के हाथों में पैसा नहीं ठहरता है-

आज के युग में पैसा सभी की आवश्यकता है कई लागों की शिकायत रहती है कि पैसा जैसे आता है वैसे ही खर्च हो जाता है। चाह कर भी पैसा नहीं बचता। हो सकता है यह समस्या आपके साथ भी हो।



लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं कि कितना भी खर्च कर लें कभी हाथ खाली नहीं होता। पैसे के लिए इनका काम कभी नहीं रुकता हैं। आप चाहें तो इसकी वजह खुद अपनी हथेली देखकर जान सकता है।


हस्त रेखा विज्ञान के अनुसार जिन लोगों की हथेली कोमल होती है और उंगलियां पीछे की ओर मुड़ी होती है वह बड़े ही उदार प्रकृति के होते हैं। ऐसे लोग भौतिक सुखों के प्रति आकर्षित होते हैं जिससे इनका धन सुख सुविधाओं और  शौक की वस्तुओं में अधिक खर्च होता है।


उंगलियों को सीधा करने पर जिनकी उंगलियों के पोरों के बीच खाली स्थान होता है, उनके पास पैसा ठहरता नहीं है। अचानक खर्च का योग बनता रहता है जिससे बचत मुश्किल से हो पाता है। लेकिन अगर हथेली के बीच में गहरा स्थान हो तो खर्च होने पर भी कुछ न कुछ बचत करने में सफलता मिलती है।


जिनकी उंगलियों आपस में एक दूसरे से चिपकी होती है और हथेली के बीच में गड्ढ़ा होता है वह कंजूस होते हैं। ऐसे लोग धन खर्च होने पर परेशान हो जाते हैं। इनमें बचत करने की तीव्र चाहत होती है।


उंगली से नाप लेने पर जिसकी लंबाई सौ उंगल होती है वह मध्यम श्रेणी का पुरुष होता है। ऐसे व्यक्ति को मेहनत करने पर भाग्य का साथ मिलता रहता है जिससे धीरे-धीरे उन्नति की ओर बढ़ता है।और पैसा भी आता है .


शरीर की लंबाई नब्बे उंगल से कम होना अच्छा नहीं माना जाता है। यह अधम पुरुष की निशानी मानी जाती है। इन्हें जीवन में काफी संघर्ष करना पड़ता है। जीवन में कई बार अपमानित और हानि का सामना करना पड़ता है। उंगली से नाप का तरीका यह है कि सभी उंगलियों को बराबर मिला लें फिर शरीर की नाप लें।


सबसे उत्तम श्रेणी का पुरूष वह होता है जो व्यवहार और उत्तम गुण के साथ ही भाग्यवान भी होता है। तीनों प्रकार के पुरुष की जांच करने की विधि बहुत ही आसान है। व्यक्ति अपनी उंगली से पूरे शरीर की नाप लें, अगर शरीर की लंबाई एक सौ साठ उंगल यानी चार हाथ बार उंगल है तो व्यक्ति उत्तम श्रेणी का होता है। इस प्रकार के व्यक्ति भाग्यशाली तथा धनवान होते है .


जिनकी हथेली में जीवन रेखा पतली और स्पष्ट होती है उनकी उम्र लंबी होती है। इसे कोई दूसरी रेखा नहीं काटती हो तब स्थिति और भी उत्तम होती है। अनामिका उंगली की जड़ से साफ और स्पष्ट रेखा निकलना शुभ माना जाता है। ऐसे व्यक्ति का सूर्य प्रबल होता है। इन्हें अच्चाधिकारियों एवं सरकारी क्षेत्र से लाभ मिलता है। पिता की ओर से भी इन्हें खूब लाभ मिलता है। तथा तीसरी महत्वपूर्ण रेखा है भाग्यरेखा। मध्यमा उंगली की जड़ तक जो रेखा पहुंचती है वह भाग्य रेखा होती है। यह रेखा साफ और स्पष्ट हो। इसे कोई दूसरी रेखा काट नहीं रही हो तो इसे मजबूत भाग्य का संकेत समझना चाहिए। जिनकी हथेली में यह तीनों रेखाएं सुंदर और स्पष्ट होती हैं वह धनवान और बुद्घिमान होते हैं। इन पर लक्ष्मी और सरस्वती दोनों की कृपा रहती है।

उपचार स्वास्थ्य और प्रयोग -http://www.upcharaurprayog.com
loading...


EmoticonEmoticon