कामकाजी महिलाओं के लिए कुछ प्रयोग ....!

9:02 am Leave a Comment
*अब वह दिन नहीं रहे जब महिलाएं अपने आप को रसोई या घर की चार दीवारियों तक सीमित रखती थी। आजकल की महिलाएं अपने घर एवं अपने पेशे के साथ अपने पूरे व्यक्तिगत विकास पर ध्यान देती हैं।








* अपने पेशे तथा घर की जिम्मेदारियों को एक साथ संभालने के कारण, कई महिलाएं स्वास्थ्य से जुड़ी कई परेशानियों का सामना कर रही हैं, और इसका मुख्य कारण है व्यायाम या शारीरिक कसरत ना कर पाना। लेकिन इस तरह शिकायत करने से समस्या का समाधान नहीं मिलेगा, लेकिन फिटनेस और सही आहार द्वारा हमारी व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन के बीच बनाया गया संतुलन इस समस्या से निपटने में हमारी मदद कर सकता है, जो बहुत मुश्किल लेकिन महत्वपूर्ण है।

कामकाजी महिलाओं के लिए असरदार कुछ होने वाले कुछ उपाय है :-
==========================================

* आप जितना हो सके अपने हाथों को एक लय में हिलाते हुए चलते-चलते बातें करें, हो सके तो बैठकों के दौरान खड़े रहें, अगर आपके पास टाइपिंग का काम ज्यादा नहीं है तो खड़े होकर ही काम करें।

* जिन महिलाओं को दिन भर खाने की आदत है, तो आपके स्वास्थ्य को कोई नुकसान पहुंचाए बिना, पौष्टिक आहार आपकी इस इच्छा को पूरी करने में आपकी मदद कर सकते हैं। इसलिए, जीवनशैली की विभिन्न बीमारियों से स्वयं को दूर रखने के लिए अपने घर में पौष्टिक आहारों का भंड़ार मौजूद रखें।जिनमे फल आदि कि उपलब्धता हो .

* आप अपनी सुविधा के अनुसार एक व्यायाम पद्धति का चयन करें। हो सके तो बल प्रशिक्षण का चयन करें, और सप्ताह में दो बार 20 मिनट के लिए इस व्यायाम को करें, या फिर सैर या दौड़ने जैसी क्रियाओं का चयन करें जो आपके पूरे शरीर को स्वस्थ बनाने में आपकी मदद करेंगी।

* कामकाजी महिलाओं को कसरत के साथ-साथ अपने खान-पान पर भी ध्यान देना बहुत जरुरी है। अपने नाश्ते में ताजा फलों को शामिल करें क्योंकि ग्लूकोज से भरे ताजा फल आपकी मीठा खाने की इच्छा को नियंत्रण में रखते हैं।

* क्रंचस करते समय महिलाएं अपने पेट की मांसपेशियों का इस्तेमाल करने के बजाय अपनी गर्दन की मांसपेशियों का इस्तेमाल अधिक करती हैं। इस तरह के अभ्यास से केवल समय की बर्बादी होगी। इसलिए क्रंचस को शुरु करने से पहले अपना पूरा ध्यान अपनी पेट की मांसपेशियों पर दें और अपनी गर्दन को सीधा रखें तथा छत की ओर देखते हुए ऊपर की ओर उठें।

* आप आपके शरीर की कार्यशीलता को बनाए रखने के लिए पानी बहुत जरुरी है। निर्जल-करण से बचने के लिए नियमित अंतराल पर पानी पीते रहें।

* रिफाइंड़ कार्बोहाइड्रेट से युक्त कुकीज़, चॉकलेट, शहद और सफेद चावल जैसे खाद्य पदार्थों के सेवन को कम करें। जब आप रिफाइंड़ कार्बोहाइड्रेट से युक्त भोजन का सेवन करते हैं, तो यह आपके रक्त शर्करा के स्तर में बदलाव लाता है साथ ही इंसुलिन के उत्पादन को बढ़ाता है जिससे आपके शरीर की चरबी बढ़ाती है।

* किसी भी प्रकार के व्यायाम को अधिक समय के लिए ना करें क्योंकि ज्यादा व्यायाम या जिम में बिताया गया अधिक समय आपको पूरी तरह से थका देगा।

* जब कभी आपके पास समय हो इस क्रिया को करें- ईमेल के बीच, घर में टीवी देखते समय रबर बैंड़ या बालों को बांधने वाली बैंड़ लें। अब पीड़ा से भरे हाथ की सारी पांचों उंगलियों को छूएं, और इन्हें एक दूसरे के निकट लाएं। अब इन पांचों उंगलियों को रबर बैंड़ या बालों को बांधने वाली बैंड़ से बांधें और इन्हें जितना हो सके एक दूसरे से दूर खींचें। जैसे एक दूसरे से अलग की जा रही हों।

* कार्बोहाइड्रेट बहुत जरुरी हैं क्योंकि ये आपके शरीर को ऊर्जा प्रदान करते हैं। इसलिए, फलों एवं उच्च फाइबर से युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन अधिक करें। इसके अलावा, अपने आहार में कुछ प्रोटीन भी शामिल करें ताकि आपके शरीर में कार्बोहाइड्रेट धीरे से घुलते रहें।

* नियमित व्यायाम को शुरु करने से पहले अपनी शरीर की मांसपेशियों को लचीला बनाना बहुत जरुरी है। यह लचीलापन कसरत के दौरान चोट को लगने से रोकता है। इसलिए, कभी भी कसरत शुरु करने से पहले, अपनी गति को धीमा रखें और फिर धीरे-धीरे बढ़ाते जाएं।

* यदि आपका ध्यान वजन कम करने पर टिका रहेंगा, तो आपका वजन कम होने के बजाय और बढ़ जाएगा। इसके बजाय, आपका लक्ष्य एक स्वस्थ और दुरुस्त जीवनशैली को बनाए रखने पर होना चाहिए, जो केवल सही खान-पान और सही व्यायाम के अभ्यास से प्राप्त हो सकता है।

* कसरत शुरु करने से पहले एक चॉकलेट का सेवन आपके शरीर की ऊर्जा को बढ़ा सकता है क्योंकि इन सभी चॉकलेट में चीनी और फाइबर की मात्रा बहुत अधिक होती है। अगर आपको बहुत ज्यादा भूख लगी है तो एक केला खाएं क्योंकि यह पचाने में बहुत आसान और साथ ही पर्याप्त ऊर्जा को भी प्रदान करता है।

* अगर आप कंप्यूटर के सामने बैठे हैं, और आपके मानीटर की स्क्रीन आपकी आंखों के स्तर से थोड़ा ऊंचा है, तो यह आपके लिए बहुत आरामदायक रहेगा। यह आपको बिना सर झुकाए सीधे सामने देखने में मदद करती है।

* जब आप ज़ोर से हँसते हैं या खुश रहते हैं, तो आपका शरीर कुछ ऐसे अच्छे हार्मोन को स्रावित करता है, जो तनाव के भरे कोर्टिसोल हार्मोन का खात्मा करता है। इसलिए, सेहतमंद रहने के लिए जितना हो सके उतना हंसें और इसके लिए आप चाहे तो कॉमेड़ी विड़ियों या हंसी के क्लब में शामिर हो सकती हैं। इसके अलावा, हंसी आपके चेहरे की मांसपेशियों के आकार को बनाए रखने के लिए एक बहुत अच्छी कसरत है।

* इन सारे सुझावों का पालन करने के बावजूद, कई उतार-चढ़ाव, जीत और असफलताओं का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए, मंजिल तक पहुंचने के लिए बिना हिम्मत हारे धैर्य से आगे बढ़ें।
उपचार स्वास्थ्य और प्रयोग -http://upchaaraurpryog120.blogspot.in

0 comments :

एक टिप्पणी भेजें

-->