लोगो की नजरे आप पे हो- Logo Ki Najre Aap Pe Ho

सौंदर्य के प्रति स्त्री-पुरूष दोनों का ही झुकाव पहले भी रहा है और आज भी है पर यह कहना गलत न होगा कि पहले की तुलना में स्त्री-पुरूष आज अपने सौंदर्य और स्वास्थ्य को लेकर जागरूक हैं उनमें एक दूसरे से अधिक सुंदर देखने की जो हो़ड मची है वह वाजिब भी है क्योंकि सुंदरता ही स्वास्थ्य की सही पहचान है जानिए सौंदर्य को निखारने के कुछ आसान टिप्स-




हाथ-बांहें और कोहनियां खूबसूरत बनाए-

नारी की खूबसूरती में जहां चेहरा मुख्य भूमिका अदा करता है आँखें चार चांद लगाती हैं वहीं नारी के हाथ- बांहें और कोहनियां उसकी खूबसूरती को परवान चढाने में बेहद मददगार साबित होते हैं अक्सर महिलाएं अपने चेहरे को खूबसूरत बनाने में तो घंटों खर्च करती हैं लेकिन वे शारीरिक सुन्दरता के अन्य मुख्य स्तम्भ हाथ, बांहें और कोहनियों को नजरअंदाज कर जाती हैं खूबसूरत त्वचा की चाहत हर महिला और युवती की होती है- हाथ, बांहें और कोहनियां भी नारी के सौंदर्य में इजाफा करते हैं यदि ये अंग भद्दे, काले या खुरदरे हों तो सुन्दरता में फीकापन नजर आने लगता है- रोज की भागदौड, तनाव, धूप, प्रदूषण आदि ऎसे कारण हैं, जिनकी वजह से यह भाग ज्यादातर मैले ही नजर आते हैं- ऎसी अवस्था में हाथों, बांहों और कोहनियो को भी सुन्दर, आकर्षक तथा सुकोमल बनाने के लिए उचित उपाय करने चाहिए- इससे आपके चेहरे का सौंदर्य एवं आकर्षण कई गुना अधिक बढ जाएगा-

सुकोमल हाथ-

मुलायम,आकर्षक तथा नाजुक हाथ किसे अच्छे नहीं लगते- हाथ आपके व्यक्तित्व, आदतों और उम्र की चुगली कर देते हैं। सुंदर हाथ नारी के सुंदर व्यक्तित्व का आईना हैं। जिस नारी के हाथ जितने सुंदर और नाजुक होंगे, उसका व्यक्तित्व उतना ही आकर्षक होगा-

घरेलू नुस्खे-

रात को सोते समय एक चम्मच मलाई में दो-तीन बूंद नींबू का रस तथा दो-तीन बूंद गि्लसरीन मिलाकर हाथों पर ठीक से लगाएं। इससे हाथों की त्वचा साफ और सुंदर होती है। आधा नींबू काट लें। उस पर एक चम्मच चीनी रखकर हाथों की त्वचा पर तब तक रगडें, जब तक चीनी पूरी तरह घुल ना जाए। इस उपचार से हाथों का खुरदरापन, कालापन तथा झुर्रियां दूर होती हैं। एक बडा चम्मच दही में एक छोटा चम्मच बादाम रोगन मिला लें। इसे ठीक से फेंटकर दोनों हाथों पर लगाएं। आधे घंटे बाद गुनगुने पानी से धो लें। यह प्रयोग सप्ताह में एक बार जरूर करें। इससे खुरदरे हाथ मुलायम हो जाते हैं। एक चम्मच टमाटर का रस, एक चम्मच गि्लसरीन और एक चम्मच नींबू का रस- तीनों को मिलाकर हाथों पर लगाएं। इससे हाथों की त्वचा का कालापन दूर होकर त्वचा में निखार आ जाता है-

बचाव के उपाय-

घर का काम करते समय, विशेष रूप से बर्तनों की सफाई तथा कपडों की धुलाई के समय दस्तानों का प्रयोग करें। हाथों को अधिक समय तक गीला ना रखें। इससे हाथों की त्वचा शुष्क एवं खूरदरी हो जाती है। रात को सोते समय हाथों को गुनगुने पानी में थोडी देर तक डुबोए रखें। इससे थके हुए हाथों को आराम मिलता हैं। तेज धूप में निकलने पर हाथों पर हैंड लोशन, सनस्क्रीन लोशन या क्रीम जरूर लगा लें। हाथों और नाखूनों का सौंदर्य बनाए रखने के लिए रोजाना पौष्टिक आहार का सेवन करें-

खूबसूरत बांहें-

ये बेडौल थुलथुल तथा खुरदरी बांहें आपकी खूबसूरती में दाग लगा देती हैं -स्लीव लेस कपडे पहनने पर बांहों के प्रति विशेष रूप से ध्यान देने की आवश्यकता होती है-

घरेलू नुस्खे-

एक चम्मच बेसन, एक चम्मच ओलिव ऑयल और एक चम्मच हल्दी-तीनों को पानी में मिलाकर पेस्ट बना लें। इसे उबटन की तरह बांहों पर लगाएं। थोडी देर बाद उल्टी बत्तियां बनाते हुए उतारें। इससे बांहों के रोएं कम हो जाते हैं। कच्चो दूध में थोडा-सा नमक और आधा चम्मच गुलाबजल मिलाकर बांहों पर लगाएं। आधे घंटे बाद बांहों को धो लें। इससे त्वचा साफ होती है। एक चम्मच नींबू का रस, एक चम्मच गुलाबजल और एक चम्मच गि्लसरीन-तीनों को मिलाकर पूरी बांहों पर लगाएं। इससे शीतकाल में होने वाला रूखापन समाप्त हो जाता है-

बचाव के उपाय-

बांहो की खूबसूरती बनाए रखने के लिए नियमित रूप से देखभाल, व्यायाम, मालिश तथा उबटन का प्रयोग करें। यदि आपकी बांहें अधिक बेडौल, मोटी और थुलथुल हों तो बैडमिंटन या टेनिस खेलें या स्विमिंग करें इसके अलावा बांहों के लिए विशेष व्यायाम करें बांहों पर अधिक एवं वजनदार आभूषण ना पहनें इससे बांहें बेडौल तथा अनाकर्षक हो जाती है। जब भी तेज धूप में निकलें, बांहों पर सनस्क्रीन क्रीम या लोशन लगा लें-

कोहनियों का कालापन-

कोहनियों की साफ-सफाई पर ध्यान ना देने से कोहनियां अपनी सुंदरता खो बैठती हैं। कोहनियां काली, खुरदरी एवं अनाकर्षक हो जाती हैं। कोहनियां अपना आकर्षण ना खोएं, इसके लिए स्नान करते समय सभी अंगों की सफाई की भांति कोहनियां की भी नियमित रूप से सफाई करें। एक कप गुनगुने पानी में एक चम्मच नींबू का रस डालें। अब रूमाल को इस पानी में भिगोकर काली हुई कोहनियो पर रखें ताकि मैल फूल जाए। फिर रूमाल से हल्के-हल्के रगडकर मैल साफ करें। नींबू का छिलका रोजाना कोहनियों पर मलने से काली पड गई कोहनियां साफ एवं चिकनी हो जाती हैं। खुरदरी कोहनियां होने पर आधे नींबू पर चीनी रखकर रगडें। इससे वहां की मैल ठीक से साफ होकर कोहनी सुन्दर हो जाएगी-

चेहरे के दाग धब्बे दूर करना-

शहद में तुलसी के पत्तों का रस मिलाकर चेहरे पर मसाज करें। नियमित रूप से ऐसा करने पर कुछ ही दिनों में चेहरे के दाग धब्बे दूर हो जाते हैं और चेहरे की चमक भी बढ़ जाती है-

चेहरे की त्वचा में कसावट लाना-

गले सहित चेहरे पर शहद का लेप करें। थोड़ा सा सूखकर चिपचिपा हो जाने पर लेप वाली पूरी त्वचा पर उँगलियों को चलाते हुए हल्का मालिश करें। पूरी तरह से सूख जाने पर गुनगुने पानी से धो लें। आपको खुद महसूस होगा कि त्वचा कसी हुई हो रही है-

आँखों के नीचे का काला धब्बा दूर करना-

दूध में भीगे हुए बादाम को चन्दन की तरह, दूध की बूंदें डालकर, महीन घिसे। इसे घिसे हुए चन्दन के साथ मिलाकर आँखों के नीचे काले धब्बों पर लेप करें। 10-15 मिनट बाद ठंडे पानी से धो लें। प्रतिदिन नियमित रूप से लेप करने पर काले धब्बे दूर हो जाते हैं-

चेहरे की झुर्रियाँ दूर करना-

पोदीने के रस और गुलाजल को मिलाकर घिसे हुए चन्दन के साथ एक पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को चेहरे पर लेप करके कुछ देर सूखने दें। फिर ठंडे पानी से धो लें। प्रतिदिन नियमित रूप से लेप करने पर चेहरे पर की झुर्रियाँ खत्म हो जाएँगी। शहद में नीबू का रस मिलाकर चेहरे पर लेप करने से भी चेहरे की झुर्रियाँ दूर होती हैं-

चेहरे का तैलीयपन दूर करना-

खीरे का रस एक प्राकृतिक एस्ट्रेंजेंट है। खीरे को स्लाइस में काट कर चेहरे पर मलें ताकि उसका रस चेहरे पर पूरी तरह से लग जाये। मात्र 1-2 मिनट बाद ठंडे पानी से धो लें। चेहरे का तैलीयपन दूर हो जायेगा-

उभरे पेट को कम करना-

शारीरिक सुन्दरता को लेकर हर महिला जिज्ञासु होती है। वह चाहती है कि वह हमेशा दूसरों की नजरों में सुन्दर लगे। उसका शरीर छरहरा और पतला-दुबला लेकिन आकर्षक नजर आए। फिर चाहे वह 18 वर्षीय युवती हो या 40 वर्षीय महिला। वैसे आजकल तो 60 वर्षीय बुजुर्ग महिलाएँ भी अपने आप को सुन्दर व आकर्षक दिखाने की होड करती नजर आती हैं, बावजूद इसके कि उनकी काया, उनकी त्वचा इसमें उनका साथ नहीं देती है लेकिन वे स्वयं को सुन्दर व आकर्षक दिखाने का हर सम्भव प्रयास करती हैं। सुन्दर व आकर्षक न दिखने में महिलाओं का पेट सबसे बडी अचडन होता है-

ज्यादातर महिलाओं या नवयुवतियों का पेट गर्भ धारण करने के बाद बाहर निकल आता है जिससे उनकी शारीरिक सुन्दरता घट जाती है। प्रयास करके महिलाएं बच्चे को जन्म देने के बाद अपने वजन पर नियंत्रण करने का प्रयास करती हैं लेकिन कई महिलाओं को इससे निजात नहीं मिल पाती है। पेट का आकार बढ जाने से पूरे शरीर का आकार बिगड जाता है। कोई ड्रेस फिट नहीं आती है तो कितना बुरा लगता है-

पेट बढ जाने के कुछ कारण होते हैं आइएं जानते है-

रोजाना के खाने में कुछ बातों के नजरअंदाज करने से पेट बाहर निकल आता है जिससे कोई भी ड्रेस फिट नहीं आती और इससे पूरे शरीर का आकार खराब दिखने लगता है। इसलिए आप खाना खाते समय बीच में कभी भी पानी न पीएं खाने के कम से कम 10-15 मिनट बाद गुनगुना पानी पियें-

खाने में बादी पैदा करने वाले पदार्थ जैसे चावल, अरबी, मीट का सेवन कम ही करें और रात को तो बिल्कुल ना खाएं। खाने के बाद टीवी नहीं देखें और नहीं सोएं बल्कि खाना खाने के बाद लगभग आधे घंटे तक पैदल चहलकदमी करनी चाहिए, इससे खाना पचाने में सहायता मिलती है और सोने से पहले पानी पीने की इच्छा होती है जिससे रात को सोते समय किसी प्रकार की एसिडिटी या जलन महसूस नहीं होती है-

नियमित घूमने जाएं और घूमते समय सांस को अंदर की ओर खींचे और पेट को भी अंदर लें ऎसा कई बार करते रहें इससे उभरा हुआ पेट कम होगा-

हफते में एक बार गरम पानी से पेट की सिंकाई करें। ऎसा करने से पसीना अधिक आएगा और चरबी कम होगी और पेट की स्किन में कसाव आता है-

तले भुने खाने से परहेज करना चाहिए। यदि कुछ नमकीन खाने का मन है तो तले चिप्स खाने के बजाय रोस्टेड बादाम खाएं। मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड्स से भरपूर होने के कारण ये हैल्दी तो रखता है और आपको फिट भी बनाता है-

खाने में प्रोटीन की मात्रा बढाएं। ये पचने में ज्यादा समय लेते हैं और पेट देर तक भरा रहता है। जैसे अंडे का सफेद भाग, फैट फ्री दूध व दही ग्रिल्ड फिश और सब्जियां आपको स्लिम फिट बनाएंगी-

दोपहर और रात के बीच में भूख लगने पर तले स्नैक्स खाने के बजाय ग्रीन या ब्लैक टी पीएं। इसमें थायनाइन नामक अमीनो एसिड होता है, जो मस्तिष्क में रिलैक्सग केमिकल्स का स्त्राव करता है और आपकी भूख पर कंट्रोल करता है-

गालो की आभा बनाये रखने के लिए-

आपके बॉयफ्रेंड की नजरें बस आप पर ही हों तो ऎसे में आप गालों के सौन्दर्य, रंगत और कोमलता को बढाना चाहते हैं तो गालों के लिए चुनें प्राकृतिक सौन्दर्य प्रसाधन, जो उनकी कुरदरती आभा में और वृद्धि करें-

चुकंदर को पीसकर उसका पैक गालों पर लगाएं तथा 30 मिनट के बाद चेहरा ताजे पानी से धो लें। रोजाना कुछ रोज तक यह उपाय करने से गाल गुलाबी हो जाते हैं-

गालों पर नींबू का रस लगाकर नींबू निचोडें छिलके कुछ दिन मलें। गाल झुर्रियों रहित और सुन्दर हो जाते हैं। साथ ही मुंह धोने के बाद गालों को हथेलियों से थपथपाकर सुखाएं। इससे गालों में खून का प्रवाह बढ जाता है और झुर्रियां मिट जाती हैं-

रोजाना सुबह-शाम रूई में कच्चा दूध लेकर गालों को साफ करें। इससे रंगत निखर कर गालों की चमक बढ जाती है-

लौह और कैल्शियम की कमी के कारण गालों पर कालापन छा जाता है। क्रोधी स्वभाव और कामुक विचारों की अधिकता से भी गालों की रंगत प्रभावित होती है। लाल पके टमाटर विटामिन ए, सी एवं लौह के उत्तम स्त्रोत हैं। टमाटरों को खाएं-

आंवला का मुरब्बा एक बडा नग प्रतिदिन सुबह दो-तीन माह सेवन करने से भी गालों की रंगत में निखार आता है-

गाजर एवं सेब के कद्दूकस किए गए लच्छों को मिलाकर सेवन करने से भी गालों की स्किन स्त्रिग्ध, रंगत साफ व गुलाबी हो जाती है-

गालों को कालापन मिटाने के लिए एक चम्मच टमाटर का रस, आधा चम्मच नींबू का रस, चुटकी भर हल्दी का पाउडर, थोडा-सा बेसन मिलाकर गाढा लेप बना लें। गालों पर लगाकर 10 मिनट के लिए छोड दें। सूखने से पहले ही धीरे-धीरे मलकर छुडा दें और पानी से गालों को धो दें। कुछ दिन तक नित्य एक बार प्रयोग करें-

गालों पर पडी झुर्रियों से छुटकारा पाने के लिए अंकुरित चने एवं मूंग को सुबह-शाम खाएं। इनमें विटामिन ई होता है, जो झुर्रियां मिटाने और युवा बनाए रखने में मदद करता है-

आधा गिलास गाजर का रस नित्य शाम के चार बजे पीने से भी गालों की आभा बढती है और झुर्रियों गायब होती हैं-

देखे- घरेलू उपचार-सुन्दरता के लिए - Home remedies for beauty

उपचार और प्रयोग -
loading...


EmoticonEmoticon