घरेलू उपचार जलने या काटने पर - Home Remedies Burning or cutting

6:47 pm Leave a Comment
घर में काम करते वक्त जलना या कटना आम बात है लेकिन कभी-कभी जलने-कटने के निशान रह जाते है जो देखने में भद्दे और बेतुके लगते है कुछ निशान आपकी की खूबसूरती को भी प्रभावित करते है -


आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है आपके रसोईघर में ही बहुत सी चीजे उपलब्ध है जिनका प्रयोग करके आप इनसे छुटकारा पा सकते है -

आपको पता है कि टमाटर और नीबू में बहुत सारा विटामिन सी होता है जो दाग-धब्बे को कम करता है टमाटर और नीबू के रस को आपस में मिला कर प्रतिदिन आधे घंटे के लिए लगा कर छोड़ दे ये आपके स्किन को साफ़ करती है स्किन में चमक लाती है -नीबू का खट्टा पन आपकी स्किन को निखारने में आपकी बहुत मदद करेगा ये एक प्राकतिक ब्लीच है आप इसे चेहरे पर भी इस्तेमाल कर सकते है -

अन्य उपाय :-



त्वचा के जलने पर आपके किचन में रक्खा हुआ बेकिंग सोडा उस जगह पर मले इससे दाग और फोड़ा नहीं पड़ता है और जलन पड़ने से भी राहत होगी -



जलने पर सबसे पहले ठंडे पानी से धो लें। उसके बाद जले हुए स्थान पर नींबू और टमाटर का जूस लगाकर कुछ देर के लिए रखें। इस जूस को रोज जलने या कटने के निशान पर हफ्ते में दो या तीन बार लगाएं। इससे निशान कम हो जाएंगे। नींबू को स्किन प्रॉब्लम जैसे मुंहासे, ब्लैकहेंड के लिए यूज कर सकते हैं। महीने भर में फर्क नजर आ जाएगा।


एलोवेरा का असर प्रभावी है  इसके एंटी-आॅक्सीडेंट गुण त्वचा की मृत कोशिकाओं को हटाने में मदद करते है तथा इसमें एस्ट्रीजेंट गुण होते हैं। एलोवेरा त्वचा को साफ करता है, चमकाता है। जले का निशान हो या फिर अन्य दाग- धब्बे एलोवेरा जैल लगाने से काफी हद तक कम हो जाते हैं। एलोवेरा औषधीय गुणों का भण्डार है। यह त्वचा को कोमल और चमकदार बनाने में मदद करता है। एक चुटकी हल्दी, एक चम्मच शहद, एक चम्मच दूध और गुलाब जल की कुछ बूंदों का मिश्रण बना लें। इसमें थोड़ा सा एलोवेरा का जैल मिला लें और इसे अच्छी तरह से मिक्स करें। 20 मिनट के लिए लगाएं। फिर ठंडे पानी से धो दें। इसी तरह टैन हटाने के लिए नींबू का रस एलोवेरा में मिलाकर चेहरे पर लगाएं।


जले के निशान पर मिटं (पुदीना ) कि पत्‍तियों का रस लगाएं। कुछ मिंट की पत्‍तियों को क्रश करें और उन्‍हें मलमल के कपड़े में बांध कर उसका रस अपने जले के निशान पर लगाएं। इससे न तो जलन होगी और न ही फोड़ा होगा।


तुरंत के जलने पर एक पैक बनाएं जिसमें गुलाब जल, मुल्‍तानी मिट्टी और नींबू का रस मिलाएं। यह पैक ज्‍यादा गाढा न हो। इस पैक को अपने निशान पर 6-7 मिनट तक लगाएं और ठंडे पानी से धो लें। त्‍वचा को बिल्‍कुल रगड़े ना।


मेथी दाना है भी  है प्रभावी इसे आप रातभर के लिये पानी में भिगो दें। सुबह पेस्ट बना कर जले हुए निशान पर लगाएं। एक घंटे बाद चेहरा धो लें। ये  भी  एक  माह करे .


हल्दी, शहद और गुलाबजल का मिक्स पेस्ट बनाएं। इसे चेहरे पर 20 मिनट तक लगाएं। फिर धीरे- धीरे रगड़ कर हटाएं। कुछ दिनों में जला निशान हल्का हो जाएगा। इसके अलावा थोड़ा सा दही और चुटकीभर हल्दी, जौ पाउडर मिक्स कर नींबू रस डालकर चेहरे पर लगाएं।


पुराने निशान के लिए :-



मूंग की दाल कडाही में भून राख बना लें राख बनाने का मतलब है कि अच्‍छे से भून जाने पर पीस कर छान लें अब जले हुवे जगह तेल ( खोपरा तेल  ) चुपड मूंग का बनाया चूर्ण बुरक दें सुबह शाम दोनो समय यह करें आशा है 10 - 15 दिन में आपको लाभ नजर आने लगेगा

.
काली मसूर की दाल को तवे पर जला कोयला कर लें इसे पीस छान खोपरा तेल(नारियल तेल )  में मिला जले के निशान पर लगायें आशा है जले का निशान नहीं रहेगा ....


आंवले व तिल समान माञा में ले दूध में पीस लें इसमें गुलाब जल की 3 - 4 बूंदे मिला जले के निशान पर लेप दें यह रात को सोते समय करोगे तो आंवले को रात भर असर करने का मौका मिलेगा .


मूली या प्‍याज के रस का लेप भी ( दोनों मिला कर नहीं कोई भी एक प्रयोग करें ) जले के निशान को मिटाने में असरदार है .

उपचार और प्रयोग-

0 comments :

एक टिप्पणी भेजें

-->