केसे -केसे है ये रेस्टोरेंट .?

7:30 am Leave a Comment
हमारी दुनिया भर में कई ऐसे अजीबो-गरीब रेस्टोरेंट हैं, जिनके बारे में जानने और सुनने के बाद बड़ा आश्चर्य होता है।

इनमें से कोई रेस्टोरेंट पेड़ों पर है तो कोई अंडरवाटर बना है। भारत के कई प्रमुख शहरों में भी इस तरह के वीयर्ड थीम वाले कई रेस्टोरेंट बने हैं, जो खासे पॉपुलर हो रहे हैं।

आज हम आपको देश के अनोखे रेस्टोरेंट के बारे में बताने जा रहे हैं, जो अनोखे कारणों से कस्टमर्स को अपनी ओर अट्रैक्ट करते हैं।

तिहाड़ फूड कोर्ट- दिल्ली: -
==============

लीजिए जेल के अंदर लज़ीज एक्सपीरियंस
=========================

दिल्ली का तिहाड़ जेल दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा जेल कैंपस है। यहां कैदियों को सेल्फ-मेड बनाने की कोशिशों को हमेशा तारीफ होती है। जेल कैंपस में फूड कोर्ट बनाना इसी का एक हिस्सा है। यहां सजा काट वाले ही इस फूड कोर्ट के वेटर हैं और अन्य स्टाफ भी। स्टाफ के विनम्र व्यवहार के चलते दिल्ली के बाशिंदों में धीरे-धीरे यह रेस्टोरेंट जगह बनाने लगा है।

70MM, हैदराबाद (70 mm, Hyderabad - Feel the thrill of cinema):-
==========

सिनेमाई प्रेमियों के लिए हैदराबाद में 70MM नाम का एक अनोखा रेस्टोरेंट हैं, जहां पर लोगों को फिल्म देखने जैसा अहसास होता है। यहां की दीवारों और सीलिंग की सजावट फिल्म स्टार्स की पिक्चर्स से की गई है। यहां अपने समय के हर मशहूर एक्टर-एक्ट्रेस की तस्वीरें हैं, जो उनके फैन्स को अट्रैक्ट करती हैं।

न्यू लकी रेस्टोरेंट-अहमदाबादः-
==================

आप आश्चर्य करेगे कि मर चुके लोगों के बीच टेस्ट एक्सपीरियंस है इस रेस्टोरेंट के मालिक कृष्णन कुट्टी ने वो तरीका अपनाया, जो शायद और कोई बिजनेसमैन अपनाना नहीं चाहेगा। उन्होंने तय किया कि वह ऐसा रेस्टोरेंट तैयार करेंगे, जो किसी कब्रिस्तान की तरह हो। इतना ही नहीं, उन्होंने कब्रें चुनीं और उसी के बीच रेस्टोरेंट बना डाला। कृष्णन का मानना है कि ये कब्र ही उन्हें 'गुडलक' देती हैं। यह सही भी है क्योंकि यहां हमेशा रहने वाली कस्टमर्स की भीड़ बिना दिक्कत चाय और नाश्ते का आनंद लेती है-

टेस्ट ऑफ डार्कनेस- हैदराबाद :-
==================

अपने यूनिक डाइनिंग कॉन्सेप्ट के लिए मशहूर हैदराबाद का 'टेस्ट ऑफ डार्कनेस' उन कस्टमर्स के लिए खास है, जो देख नहीं सकते यानी नेत्रहीनों के लिए। यहां पूरे समय अंधेरा रहता है, ताकि देख न सकने वाले खाने का अहसास कर सकें। यहां आंख वाले भी आते हैं, लेकिन उनके लिए भी अंधेरा ही रखा जाता है। इसके पीछे कारण बेहद स्पष्ट हैः ताकि आंख वाले भी अहसास करें कि जिनकी जिंदगी में उजाला नहीं, वे कैसे जीते हैं। यहां आप हिलते ब्रिज और पार्क का अनुभव भी कर सकते हैं।

हाईजैक कैफे- अहमदाबाद:-
================

इसे शुरू करने वाले Moistclay media ने इस रेस्टोरेंट को बिल्कुल नए अंदाज में तैयार किया है, जहां कस्टमर को फूड के साथ अहमदाबाद की सैर भी कराई जाती है। यह टूर एक या दो घंटे का हो सकता है। टूर में कस्टमर अच्छे फूड के टेस्ट के साथ अहमदाबाद के कई नज़ारे भी देखने मिलते हैं। इस रेस्टोरेंट को अपने नाम में 'हाईजैक' यानी अपहरण शब्द के बेपरवाह यूज़ से काफी आलोचना सहनी पड़ी, लेकिन इसने नाम भी बहुत कमाया।

रेस्टोरेंट की टैग लाइन है- "जो आपने पहली बार किया था वो आखिरी बार कब किया था..?"

वेली लेक फ्लोटिंग रेस्टोरेंट- त्रिवेंद्रम:-
======================

केरल में यूं तो देखने लायक जगह और यूनिक रेस्टोरेंट्स की भरमार है, लेकिन वेली गांव इनमें अनोखा है। गांववालों ने झील के बीचो-बीच तैरने वाला रेस्टोरेंट बनाया है, जो गांव का ही हिस्सा है। एक ब्रिज से होकर आप इस रेस्टोरेंट पर पहुंच सकते हैं। यहां बनने वाला खाना भी स्थानीय तौर-तरीकों से ही बनाया जाता है।

नासा-बेंगलुरू का  खूब सारा आसमान:-
=========================

इस पब को एक स्पेसशिप की तरह डिजाइन किया गया है। यहां के वेटर भी स्पेससूट पहने एक एस्ट्रोनॉट की तरह नज़र आते हैं। पूरा पब नीली मध्यम रोशनी से चमकता है, जो कस्टमर्स को 'स्पेस' में होने का अहसास दिलाता है।



सोशल ऑफलाइन- दिल्ली रेस्टोरेंट के अंदर ऑफिस:-
==================================

एक ऐसी जगह, जहां आप अपने काम को एन्जॉय कर सकते हैं, सोशल साइट्स पर ऑफलाइन रहने के दौरान भी सबसे जुड़े रह सकते हैं। इसे आप ऑफिस-कम-रेस्टोरेंट कहें, तो गलत नहीं होगा। दिल्ली के यंग प्रोफेशनल्स के बीच सोशल ऑफलाइन खासा मशहूर है।



नेचर्स टॉयलेट कैफे-अहमदाबाद :-
=====================

जी हाँ अनोखी सीट है यहां की खासियत दुनियाभर में यूं तो कई जगहों पर टॉयलेट थीम वाले रेस्टोरेंट हैं, लेकिन अहमदाबाद स्थित नेचर टॉयलेट कैफे देश का पहला टॉयलेट थीम रेस्टोरेंट है। यहां कस्टमर्स के लिए टॉयलेट सीट्स लगाई गई हैं, जिन्हें यहां टॉयलेट गार्डन कहा जाता है। रेस्टोरेंट के मालिक जयेश पटेल ने इस टॉयलेट गार्डन को तैयार किया है।


कैदी किचन-चेन्नई :-
=============

यहाँ होगा आपको जेल में आने का अहसास जी हाँ चेन्नई के इस रेस्टोरेंट को इस तरह बनाया गया है ताकि आपको जेल का अहसास हो। यहां का स्टाफ कैदी और जेलर की वर्दी में दिखते हैं। रेस्टोरेंट का इंटीरियर भी जेल का लुक लिए हुए है।





हिटलर से इंस्पायर मुंबई का 'क्रास कैफे':-
========================

आम तौर पर यह हिटलर्स क्रास के नाम से मशहूर है। यह स्पेस दुनिया भर के यहूदी संगठनों के गुस्से को इनवाइट करता है। इस रेस्टोरेंट के नाम पर काफी विवाद भी हुआ। जब इसका नामकरण हुआ तो लोगों में गलत मैसेज गया कि हिटलर के शासनकाल में यहूदियों और अन्य अल्पसंख्यक समुदायों के लिए इतिहास की सबसे क्रूर अवधियों में से एक के रूप में याद करने के लिए यह स्पेस तैयार किया गया, लेकिन रेस्टोरेंट के मालिक पुनीत सबलोक ने तय किया कि नाम क्रास कैफे किया गया और नाजियों के स्वास्तिक को डेकोर का हिस्सा बनाया गया।


फिरंगी ढाबा-मुंबई:-
===========

ऑटो रिक्शा भारत के ट्रांसपोर्ट सिस्टम में अहम स्थान रखते हैं, लेकिन अगर इन्हें रेस्टोरेंट के साथ जोड़ दिया जाए तो...?

मुंबई के फिरंगी ढाबा ने इस कॉन्सेप्ट को बेहद खूबसूरती के साथ अपनाया है। यहां का इंटीरियर बिल्कुल देसी टच लिया हुआ है। आप ऑटो में बैठकर लज़ीज खाने का स्वाद ले सकते हैं।

उपचार स्वास्थ्य और प्रयोग-

0 comments :

एक टिप्पणी भेजें

-->