This website about Treatment and use for General Problems and Beauty Tips ,Sexual Related Problems and his solution for Male and Females. Home treatment,Ayurveda treatment ,Homeopathic Remedies. Ayurveda treatment tips in Hindi and also you can read about health Related problems and treatment for male and female

loading...

13 सितंबर 2015

आपके लिए कुछ काम के टिप्स -

By
कभी -कभी छोटी-छोटी चीजे कब आपके काम आ जाए - इसी प्रकार की कुछ काम  की चीजे आप को नोट कर के रखनी चाहिए -जो वक्त जरुरत पे काम आ सकती  है -


आम का अचार बनाते समय जब फांको में नमक हल्दी लगाकर रखती है तब उनपर १-२ चम्मच पीसी चीनी भी बुरक दीजिये इससे जहा सारी फाकें पानी छोड देगीं वही अचार की रगतं भी साफ़ सुथरी बनी रहे गी अचार चमकीला बनेगा।


आम के मीठे अचार में थोडा सा अदरक भी कस कर मिला दीजिये अचार अधिक पौष्टिक व चटपटा बनेगा।


निम्बू का अचार अगर खराब होने लगे तो अचार को किसी बर्तन मे निकाल कर सिरका डाल कर पका लीजिये -अचार फिर से नया हो जायेगा।


निम्बू के अचार में नमक के दाने पड जाते है-अचार डालते समय ही थोडी पिसी हुई चीनी भी बुरक दे तो ये दाने नही पडेगें और अगर पड गये है तो भी थोडी पीसी चीनी बुरक दीजिये अचार नया सा हो जायेगा।


आप के पास चटनी बनाने के लिये यदि कुछ नही है तब भी आप चटनी का मजा ले सकते है कोइ भी खट्टा फ़ल जैसे--अलुचा,खट्टासेव,हरी कच्ची ईमली, अनार या रसभरी,लेकर हरी मिर्च,नमक के साथ पीस कर चटनी बना लीजिये अनोखा स्वाद देगी।


थोडे से गाढे दही में अगर शहद फ़ेट कर उसे सलाद के उपर डालकर तो देखीये सलाद का मजा ही दुगना हो जायेगा सलाद गुण कारी व पोष्टिक भी हो जायेगी।


बनाने से पहले यदी साबुत मसुर की दाल को कडाही मे हल्का सा भुन कर फिर बनाइये अधिक सोंधी दाल बनेगी।


हम कई बार तरह- तरह की जानवरो की शक्ल  बना देते है सलाद में,अब जब भी खाने के लिये सलाद की प्लेट सजायें , तो उसमें किसी जीव जंतु की डिजाइन ना बना कर फ़ुल पत्तियों के डिजाइन बनाएं जीव जतुं का आकार देख कर अक्सर लोगो का मन उसे खाने का नही करता है-


कई बार गर्मी में दोसे का घोल बहुत खट्टा हो जाता है अगर दोसे का घोल ज्यादा खट्टा हो गया है तो परेशान न हो उस में 2-3 गिलास पानी डाल कर रख दें 1-2 घटें बाद उपर का पानी धीरे से निकाल दें आप  देखेगी कि उसकी खटास कम होजाएगी।


इडली बनाने से पहले कभी भी घोल को चलाएं नही रात में ही घोल को बहुत अच्छे से चला कर रखदें इससे इडली बहुत फ़ूली हुई और सोफ़्ट बनेगी। जरा अजमाकर तो देखीये-


सलाद बनाने से पहले सब्जीयों में को कुछ देर फ़्रीजर मे रखें फिर सलाद काटें आसानी से कटेगा खुबसुरत दिखेगा।


टमाटर, पपीता, खरबूजा, सेव आदी फ़ल काटते समय उनका जो रस हाथ म पर लग जाता है उसे चेहरे पर व कोहनियों पर मल लें सुखने पर स्नान कर लें त्वचा कमनीय हो जाएगी-


चाय पार्टी में अगर आप खुब सूरत टॊकरी में तरह तरह के ताजे फल सजा के रखेंगी तो टेबल तो खूबसूरत दिखेगी ही और मेन्यू में फ़लों की ताजगी भी आजाएगी।


केले अगर आप ने ज्यादा खालिये है तो आप एक इलायची खा लीजिये जल्दी ही हजम होजाएगा


अगर आप सब्जियां छिलकर उबालें तो उसका पानी नही फ़ेकें पानी मे अनेक पोष्टिक तत्व होते है इसे आप दाल या करी मे इस्तेमाल कर सकते है।


निम्बू का रस निचोड्ने से पहले यदी उनको कुछ देर तक गरम पानी में रखदे तो दोगुना रस निकलेगा।


आलु उबालते समय उसमें थोडा सा नमक भी डाल दीजिये।आलू का छिलका तुरन्त उतर जयेगा।


आलू को उबालने से पहले 20 मिनट तक ठंडेपानी में रखीये। फ़िर आग पे रखीये इससे आलू बहुत कम समय में ही गल जायेंगे अरे आप आजमा के तो देखीये-


सेव केला आदि फ़ल काटने के बाद काले पडजाते है अत: उनमे नीम्बू के रस का छिड्काव कर दें तो काले नही पडेगें।


अंडा फ़्राई करते समय घी में थोडा सा सिरका डाल दें इससे घर में जो अंडे कि गंध फ़ैल जाती है वह नही फ़ैलेगी।


अंडॊ को उबालते समय पानी मे थोडा सा नमक भी डाल दीजिये ईससे अडां फ़ूटेगा नही और आसानी से निकल भी जायेगा।


आमलेट को अधिक स्पंजी बनाने के लिये नोन स्टिक पैन को आग पर गर्म करे और घी डाल दीजिये और फ़ेटे हुए अडें का घोल डाल कर कांटे से और फ़ेटे। सिकते समय ही उसमें हवा अधिक भर जायेगी आमलेट स्पंजी बन जाये जायेगा।


अगर रसोई का कोई भी बर्तन बहुत अधिक चिकना हो गया है और साफ़ नही हो रहा हो तो बची हुई चाय की पत्तियों को बर्तन को अच्छी तरह से रगडे फ़िर साबुन से धोलें सारी चिकनाइ दुर हो जाएगी-


अगर अंडा चटक जाऎ,तो उबाल ने से पहले उस स्थान पर सिरका मल दें। उबालते समय अंडा नही टूटेगा।


घी में नमक की एक डली डाल कर रख दे घी खराब नही होगा।


आज कल चींटियों को घर में घर में घुसने से रोकना हो तो उनकी कतार पे तम्बाकू मिले पानी की कुछ बूंदे छिडक दीजिये फ़िर देखिये सब भाग जायेंगी।


प्लास्टिक कंटेनर मे दुर्गंध दुर करनी हो तो रात भर के लिए उसमें अखबार तोड मोद के कर भर दीजिये दुर्गंध दुर हो जाएगी।


लकडी के फ़र्नीचर में अगर दाग धब्बे लग गए है तो उनको साफ़ करने के लिए स्प्रिट का प्रयोग करीये दाग तुरन्त निकल जाएगा-


इनामेल पेण्ट वाले लकडी के फ़र्नीचर को दमकाना हो तो उस को सर्फ़ मिले गुनगुने पानी से रगडें।


लिपस्टिक के दाग छुडाने है तो उस पर एसिटोन लगा कर बाद मे साबुन लगा कर फ़िर पानी से धो दीजिये-


कार पोलिश नही है तब भी आप कैसे पोलिश करे आईये देखिये एक बाल्टी में गर्म पानी लें एक कप पैराफ़िन मिलाने से चमक बढ जाती है अलबत्ता उसे अपने समय से सुखने दीजिये।


चमडे के जूतो पर पेट्रोलियम जैली लगाइये वे चमकने लग जायेंगे और उन में दरार भी नही पडेगी।


नेल पोलिश को सुखने से बचाने के लिये उसे फ़्रिज मे रखिये।


कपडे पर से चाय के दाग हटाने के लिये उस पर पावडर रगड दीजिये।


जूतो पर बरसात में काई लग जाती है,जूते से काई हटाने के लिये उसे स्पिरिट और पानी से साफ़ करें साफ़ हो जायेगी।


काँच की कट्लरी को साफ़ करने के लिये उसे निम्बू के रस व नमक मिले पानी से साफ़ करीये चमक जायेंगे।


लकडी के फ़र्नीचर पर पानी या किसी अन्य वस्तु का दाग लग गया हो तो उसे थोडा सा अल्कोहल लेकर साफ़ कर ले।


कांच के खिड्की दरवाजों पर दाग धब्बे लग गए हों तो पहले उन पर चूने का पानी लगा दे फ़िर कुछ देर बाद अखबार से रगड कर पोंछ दीजिये चमक आजाएगी।


नान स्टिक बर्तन को साफ़ करने के लिये खट्टे दही में थोडा सा नीम्बू का रस मिला दीजिये इस से आप बर्तन साफ़ करीये आसानी से साफ़ हो जायेगे।


सिल्क या ऊनी कपडों पर मक्खन के दाग लग गए हो तो उस स्थान पर टैलकम पावडर डाल दीजिये ओर कुछ देर बाद गुनगुने पानी से धो दीजिये दे खियेगा दाग जाता रहेगा।


अगर आप के फ़्रिज मे महक आ रही है तो आप 4-5 कच्चे कोयले के टुकडे रख दीजिये महक जाती रहेगी। अगर नही जाये तो 3 सप्ताह के बाद बदल दीजिये।


अण्डे उबालने के बाद बचे पानी को यू ही न फ़ेंकें बल्कि उसे गमले या क्यारी में डाल दें पौधे खिल उठेंगें।


रसोई मे अगर एका-एक आग भडक उठे तो फ़ौरन उस पर नमक और खाने का सोडा,डाल दें इससे न सिर्फ़ आग फ़ैल ने से रुकेगी व धुएँ को भी रोकेगी


बिजली जाने पर मोमबत्ती जला कर शीशे के सामने रखिये कमरे मे दुगनी रोशनी हो जायेगी।


पानी मे चुट्की भर खाने का सोडा व 1/4 चम्मच हल्दी डाल कर उबालें व जेवर डाल कर उबाले सोने के जेवर नये जैसे चमकने लग जायेंगे।


दूध जलने पर उसे दुसरे बर्तन में बिना खुरचे पलट दीजिये, अब एक चुट्की मीठा सोडा डाल कर गर्म करें गंध गायब हो जायेगी।


प्लास्टिक के बर्तन गन्दे हो जाये तो उनको मिट्टी के तेल से साफ़ करीये चमक बढ जायेगी।


घर मे रखी हुई दवाईया बहुत बार रहजाती है और उनकी डेट निकल जाती है जैसे कैपसूल-टेबलेट-सीरप-एक्सपायर होजाते है -इन्हे फ़ेके नही घर की बगिया में लगे पेड-पौधो में डाल दीजिये उनके लिये यह टोनिक का काम करेगी।


क्रोकरी में अगर पीले दाग-धब्बे लग गये है तो उन्हे साफ़ करने के लिये क्रोकरी में सफ़ेद टूथ पाउडर डालकर रगड दीजिये।दाग-धब्बे साफ़ हो जायेगें और यदि इसमें सोडाबाईकार्ब भी डाल कर लगा दे तो दाग धब्बे खत्म हो जाएंगे।


घर में यदि कोकरोच हो गये है तो खीरे के टुकडे काटकर रातभर के लिये कमरो के अदंर रख दें काकरोच व अन्य कीडे मकोडे गायब हो जाएंगे।


कपडे प्रेस करते समय पानी स्प्रे करते है उस में थोडे से परफ़्यूम की बूदें मिलादें कपडो पर छिडक दें।आप के कपडे भीनी भीनी सुगधं देते रहेगें।


वाशिगं मशीन के अदरं साबुन के धब्बे पड गए है तो गुनगुने पानी में एक कप सिरका डाल कर खाली मशीन को चला दीजिये। दाग धब्बे गायब हो जायेगें।


यदि लोहे के औजार रखने वाले डिब्बे में थोडे से कोयले के टुकडे रख दिये जाएं तो उनमें कभी जंग नही लगेगी


इस्तेमाल में लाई हुई चाय की पत्तियों को आप धोकर फ़िर आप उसे मनीप्लाटं के पौधे मे डाले देखियेगा पौधा कितनी तेजी से बढता है।


आप के प्लास्टिक के टिफ़िन में खाने की गघं से भर जाते है आप खाने को फ़ोयल में लपेट कर प्लास्टिक मे रखने के बाद ही टिफ़िन में रखें


अगर आप राजस्थानी-बेसन के गट्टे कि सब्जी बनाने जा रही है तो ध्यान रखें कि गट्टे में मोयन पर्याप्त हो नही तो गट्टे सख्त हो जायेगें (आप बेसन मेंथोडा सा मोयन डालकर दही से गूंथे गट्टे बहुत स्वादिष्ट व नरम बनेगे)


मूली की भुजीया भूनते समय यदि छौंक ते समय थोडा सा बेसन भी भून लें तो सब्जी बहुत अधिक स्वादिष्ट बनेगी


समोसे का आटा गूथते समय आप उसमें थोडा सा चावल का आटा भी मिला दें तो समोसे अधिक कुरकुरे बनेगे


भटूरे के आटे में खमीर उठाने के लिये ब्रेड के 2-3 स्लाइस तोडकर मिला दीजिये देखियेगा कितनी जल्दी खमीर उठ जाता है


दही बडे बनाने के लिये पिसी हुई दाल में थोडी सी सूजी भी फ़ेटकर मिला दे, बडॆ अधिक नरम बनेगे।


आलू की टिकिया बनाते वक्त थोडे से कच्चे केले को उबाल कर उस का  गूदा भी मिला दीजिये टिकिया बहुत अधिक स्वादिष्ट बनेगी।


अगर प्याज अधिक कट जाए या कटा हुआ बच जाये तो उसे नमक लगा कर थो्डा सा सिरका डाल कर रख दीजिये खाने के साथ खाएं स्वादिष्ट लगेगा।


चावल जब पकने पर आ जाए तो उसमें कुछ बूदें नीबूं का रस निचोड दीजिये फ़िर देखिये चावल कितने महकदार व खिले खिले बनेगें


कच्चा केला काटते समय हाथ काले पड जाते है।उन्हे साफ़ करने के लिए कुछ बुदें नीम्बू का रस व जरा सा नमक लगा कर साफ़ करे हाथ तुरन्त साफ़ हो जाएगे।


बथुआ उबाल कर उसका पानी फ़ेकें नही, उस से पैर साफ़ करे चिकने हो जाएगें


उबला पालक पीस कर उससे आटा गूथं ले आकर्षक, स्वादिष्ट व पौष्टिक पालक पराठा बनेगा |


आटा गूथते समय पानी मे थोडा दूध भी मिलायें इससे रोटीयं व पराठे अधिक पोष्टिक स्वादिष्ट बनेगे।


दाल को उबालते समय उसमें एक चुट्की पीसी हल्दी और घी या तेल की कुछ बूदेँ डालें।देखियेगा दाल जल्दी पकेगी और बहुत स्वादिष्ट भी बनेगी।


अगर आप भिडीं की सब्जी बनारही है तो उसमें थोडा सा नीबू का रस या दही मिला लिजीये आप की सब्जी पैन में चिपकेगी-


करेले की सब्जी बनाते समय उसका कड्वापन दूर करने के लिये उसमें थोडा सा मेथी पाउडर मिला दीजियें।फ़िर देखियेगा कमाल कड्वापन गायब होजायेगा।


यदि दूध में खटास आने लगे और फ़टने का खतरा लगे तो,उसमें एक  चम्मच पानी में 1/2चम्मच खाने का सोडा मिलाकर डाल दीजिये दूध नही फ़टेगा


अखरोट का छिलका उतारना होतो उन पर उबलता पानी डालकर थोडी देर के लिये अलग रख दे फ़िर तोड्ने पर साबुत गिरी निकल आएगी।


अंडो को उबाल्ते समय पानी मे थोडा सा नमक भी डाल दीजिये एक भी  अंडा नही फूटेगा।


गोभी या बन्दगोभी की सब्जी बनाते समय उसमें एक चम्मच दूध व आधा चम्मच चीनी भी डाल दीजिये फ़ीर देखीये सब्जी का स्वाद और रगं कैसे निकल के आता है


प्याज को ऎसी सूखी जगह पर जाली में लटकाकर रखें,जहां ताजी हवा आती जाती हो।प्याज जल्दी खराब नही होगें


अगर आप सब्जियां छिलकर उबाले तो उनका पानी फ़ेके नही इस पानीमें अनेक पौष्टिक तत्व होते है इसे आप शोरबा या चटनीके लिये इस्तेमाल कर सकती है।


कटे हुये फ़लो को रखना नही चाहीये मगर रखना पड्जाये तो आप उसे दूध मिले हुये पानी में रख सकते है काले नही पडॆगे।


सब्जियो का रगं बनाये रखने के लिये उन्हे ज्यादा नही पकाएं।लगातार आचं पर रहने से अपना रगं खो देती है।


कई बार घी बनाते समय घी जल जाता है जले हुये घी में एक ताजा कटा हुआ आलू का टुकडा डालकर आग पर रखें जला हुआ घी साफ़ हो जाएगा -


करेले टिन्डे भिन्डी तोरई आदी सब्जिया नरम पड गई होतो इन्हे थोडी देर पानी में भीगो कर रखें फ़ीर ये आसानी से कट जायेगी व छिल जायेगी

हाथो से प्याज की दुर्गन्ध दुर करने के लिए कच्चे आलू मले ,दुर्गन्ध दुर हो जायेगी|


आलु उबालते समय पानी मे अगर थोडा सा नमक डाल दे तो आलु का छिलका तुरन्त उतर जायेगा


अगुरं का रस निकालने से पहले हल्के गर्म पानी में पाच मिनट के लिये रख दे ज्यादा रस निकलेगा।


कोफ्ते तलते समय तेल पर्याप्त गरम होना चाहिये, इन्हें धीमी आग में मत तलिये. कम गरम तेल में कोफ्ते डालने से वे तेल में फट सकते हैं., पनीर में अरारोट कम होने पर कोफ्ते तेल में फट सकते हैं.


अगर सब्जी मे नमक अधिक पड जाता है तो उबला आलु डाल कर सब्जी ओर थोडी देर पका लीजिये न नमक ठीक हो जायेगा -


मूंग की दाल की मंगोडी की दाल गीली हो गई है तो आप उबले आलू को मसल कर दाल मे मिला दीजिये मंगोडी और भी खस्ता बनेगी


आप के हाथ में किसी भी मसाले के दाग लग गये है तो उनको दूर करने  के लिये आप कच्चे आलू को काट कर हाथ पे रगडिए धब्बे दूर हो जाएगें-


आलू के चिप्स आप लोग सब बनाते ही होगें उनको स्टोर करने पर कई बार उनमे से अजीब सी गध आने लगती हैइस के लिये आप उसमें सूखी हुई लाल मिर्च व नीम की सूखी पत्तियां रखीये डिब्बा बदं होने पर भी गधं नही आयेगी।


यदि  आलू मे रक्खे रक्खे झूरियां पड जाती है तो उन्हे नमक के पानी में डालकर उबालें ।आलू का बासी पन जाता रहेगा।


प्याज की गधं अगर हाथो से नही जा रही हो तो हाथमें कच्चे आलु को रगडे बस गधं गायब |


आलू के पराठे बनाने जा रही है तो थोडा सा आम के अचार का मसाला डाल कर बनाये पराठे बहुत स्वादिष्ट बनेगे।


आलू को 15-20 मिनट तक ठंडे पानी में डाल कर रक्खे उसके बाद उबालीये आधे समय मे ही आलू उबल जायेंगे|


आलू की सब्जी बनाने जा रही है तो अगर सब्जी जल्दी पकाना चाहती है तो आप आलू को लम्बाई में काटें आळु जल्दी गलेगें और सब्जी अधिक स्वादिष्ट बनेगी।


आलू उबाल ने के बाद पानी नही फ़ेके,उस पानी से नीम्बु मिला कर उस पानी से सर धोये बाल चमक जाएगे


अगर आखें थकी-थकी हो तो कच्चे आलु का गोल गोल काट कर आखो पे रखें आंखो की थकान गयब हो जायेगी

उपचार और प्रयोग -http://www.upcharaurprayog.com




0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

लेबल