एक उपाय पूरी करता है आपकी दस खास इच्छाएं -

9:00 pm Leave a Comment

यदि किसी व्यक्ति के जीवन में सुख ही सुख है तब तो ठीक है, लेकिन किसी व्यक्ति के जीवन में दुख ही दुख है तो वह निराश हो जाता है निराश मन से किए गए कार्यों में सफलता मिलने की संभावनाएं भी बहुत कम हो जाती हैं-ऐसे में व्यक्ति और अधिक परेशानियों में घिर जाता है। निराशा और दुखों को दूर करने के लिए शिवपुराण में कई उपाय बताए गए हैं। यहां उन्हीं उपायों में से एक उपाय बताया जा रहा है, इस उपाय की विधि है। इसे करने पर आपकी 10 खास इच्छाएं पूरी होती हैं-







इस प्रकार है उपाय की विधि:-



किसी भी श्रेष्ठ मुहूर्त में यह उपाय किया जा सकता है। जिस दिन यह उपाय करना हो, उस ब्रह्म मुहूर्त में यानी सुबह जल्दी उठें और बिस्तरों का त्याग करने से पहले भगवान शिव का ध्यान करें और कृपा बनाए रखने की प्रार्थना करें। इसके बाद सोलह बार मुख को साफ पानी से धोएं। 


स्नान आदि कर्मों से निवृत्त होकर पवित्र हो जाएं। यदि आप रविवार, श्राद्ध, संक्रांति, ग्रहण काल, व्रत-उपवास के दिन यह उपाय करना चाहते हैं तो इन दिनों में गर्म जल से स्नान नहीं करना चाहिए। स्नान के बाद श्रेष्ठ वस्त्र धारण करें।

श्रेष्ठ वस्त्र धारण करने के बाद किसी पवित्र नदी, तालाब, कुएं से मिट्टी लेकर आएं और इससे शिवलिंग बनाएं। यह शिवलिंग किसी पीपल के पेड़ के नीचे या घर पर ही बना सकते हैं। घर में शांत एवं पवित्र स्थान पर कुश का आसन बिछाएं और उत्तर दिशा की ओर मुख करके बैठ जाएं। स्वयं के सामने मिट्टी का शिवलिंग स्थापित करें और विधिवत पूजा करते हुए पूजन सामग्री अर्पित करें। पूजन सामग्री में पुष्प-हार, चावल, कुमकुम, बिल्व पत्र, प्रसाद, वस्त्र आदि शामिल करें। समय-समय पर इस शिवलिंग का पूजन करते रहना चाहिए-





सुखवर्धक है ये उपाय:-





नियमित रूप से यह उपाय करते रहने पर व्यक्ति के दुखों का अंत होता है और सुखों में बढ़ोतरी होती है। यदि दुख का समय चल रहा है तो वह जल्दी समाप्त हो सकता है और यदि सुख के समय में ये उपाय करेंगे तो दुखों से बचे रह सकते हैं।



आयु बढ़ाता है ये उपाय:-




शिवपुराण में बताया गया है कि जो लोग शिवजी की कृपा प्राप्त करते हैं, उनकी आयु बढ़ सकती है। व्यक्ति लंबी आयु तक जीवित रहता है और सभी सुख-सुविधाएं प्राप्त करता है।



धन लाभ देता है ये उपाय:-




शिवजी की इस पूजा से महालक्ष्मी सहित सभी देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त होती है। घर का वातावरण पवित्र और सकारात्मक बनता है। इस कारण घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।



मिलता है उत्तम स्वास्थ्य:-





जो लोग यह उपाय समय-समय पर करते रहते हैं, उन्हें भोलेनाथ की कृपा से शक्तिशाली और निरोगी शरीर प्राप्त हो सकता है। शिवपुराण के अनुसार शिवजी की कृपा से कई प्रकार के रोगों से भी बचे रहते हैं।



स्वर्ग की प्राप्ति होती है:-





ये उपाय करने वाले भक्त की मृत्यु के बाद उसकी आत्मा स्वर्ग लोक प्राप्त करती है। ऐसे लोगों को जीवन में भी सभी भौतिक सुविधाएं प्राप्त होती है और ऐश्वर्य पूर्ण जीवन व्यतीत करते हैं।



दूर होते हैं शनि, मंगल और अन्य ग्रहों के दोष:-





यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में शनि का दोष हो या साढ़ेसाती या ढय्या चल रही हो या राहु-केतु का कालसर्प दोष हो तो यह उपाय शांति दे सकता है। शिवजी की पूजा से ये दोष दूर हो सकते हैं। मंगल का पूजन शिवलिंग रूप में ही किया जाता है। यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में मंगल का मांगलिक दोष हो तो उसे यह उपाय लाभ दे सकता है। मंगल दोष के पूर्ण निवारण के लिए भात पूजन करवाना चाहिए।



वैवाहिक जीवन से दूर हो सकती है अशांति:-




शिवजी की कृपा घर-परिवार की समस्त परेशानियों को दूर करने वाली मानी गई है। यदि किसी दंपत्ति के जीवन में आपसी तालमेल की कमी है और अशांत बनी हुई रहती है तो अशांति को दूर करने की कामना के साथ यह उपाय समय-समय पर करते रहना चाहिए।



मिलती है मानसिक शांति:-





यदि कोई व्यक्ति यह उपाय नियमित रूप से करते रहता है तो व्यक्ति को अद्भुत मानसिक शांति मिलती है। तनाव दूर होते हैं। व्यक्ति संतोषी हो जाता है। उपलब्ध सुख-सुविधाओं से ही उसे संतोष प्राप्त हो सकता है।


Synthesis Post-

0 comments :

एक टिप्पणी भेजें

-->