हाइजीन के लिए इस्तेमाल करे पैंटी लाइनर - Use panty liners For hygiene

11:54 am Leave a Comment
लडकियों या महिलाओं के लिए बहुत सी महत्व-पूर्ण है पैंटी-लाइनर -आइये जाने इसके क्या फायदे है और क्या-क्या इस्तेमाल है -


ये भी सेनेटरी पैड की तरह ही होता है बस ये पैड की तुलना में पतला होता है और पैड की तुलना में इसकी सोखने(ABSORB ) की छमता कम होती है फिर भी ये काफी काम का है इसके पैकेट भी सस्ते होते है तथा आसानी से आपको कास्मेटिक या केमिस्ट से उपलब्ध हो जायेगे -

जीवन के कुछ येसे भी पल आ जाते है जब आप अपने यूरीन ब्लैडर (Urine Bleder ) पे काबू नहीं कर पाती है और अचानक ही मूत्र-प्रवाह हो जाता है तब ये पैंटी लाइनर आपको उन बूंदों का येहसास नहीं होने देता है -कभी -कभी तेज हंसने से या जागिंग करने से भी मूत्रप्रवाह(Urine flow )  होता है -तब भी ये आपका दोस्त बन जाता है और आपको महसूस नहीं होने देता है कि कुछ गीला है -

अगर आपके पर्स में पैंटी-लाइनर है तो आप को कोई नहीं टेंसन है कभी-कभी बिना टाइम के आ जाने वाले मासिक धर्म (Menstrual ) से आपकी सुरक्षा के लिए तुरंत हाजिर है और आप इसका इस्तेमाल काम चलाऊ रूप में कर सकती है -

पीरियड्स के दौरान पैंटी लाइनर एक सेनेटरी पैड के मुक़ाबले बेहतर भी है- ये पतला भी और इस्तेमाल में भी आसान होता है -

किसी होटल या रेस्टोरेंट के बाथरूम में टॉयलेट पेपर ख़त्म हो गया है तो भी घबराने की बात नहीं पैंटी लाइनर का इस्तेमाल वहाँ भी किया जा सकता है-कार में या थिएटर में इंटिमेट (Intimate )हो भी गयीं हो तो आपको यह सोचना नहीं पड़ेगा कि अरे कुछ गीला हो गया है- दिखेगा या लोगों को कहीं पता ना चल जाए- अब रोमांस के बीच गीलापन नहीं आ पायेगा -

गुप्तांग जितने सूखे और ताज़ा रहते हैं उतनी ही आपकी सेहत ठीक रहती है- इसलिए पर्सनल हाईजीन का अच्छे से ध्यान रखें-वजाइनल डिस्चार्ज से हो रहे गीलेपन से सारा दिन बचा के रखता है आपको पैंटी लाइनर- अंडरवियर सूखा रहता है और आप बिना किसी असुविधा के दिन भर काम कर सकती हैं-और अब आप खुल के हंस सकती है क्युकि सुरक्षा के लिए है न - "पैंटी लाइनर "

उपचार और प्रयोग-

0 comments :

एक टिप्पणी भेजें

TAGS

आस्था-ध्यान-ज्योतिष-धर्म (38) हर्बल-फल-सब्जियां (24) अदभुत-प्रयोग (22) जानकारी (22) स्वास्थ्य-सौन्दर्य-टिप्स (21) स्त्री-पुरुष रोग (19) पूजा-ध्यान(Worship-meditation) (17) मेरी बात (17) होम्योपैथी-उपचार (15) घरेलू-प्रयोग-टिप्स (14) चर्मरोग-एलर्जी (12) मुंह-दांतों की देखभाल (12) चाइल्ड-केयर (11) दर्द-सायटिका-जोड़ों का दर्द (11) बालों की समस्या (11) टाइफाइड-बुखार-खांसी (9) पुरुष-रोग (8) ब्लडप्रेशर (8) मोटापा-कोलेस्ट्रोल (8) मधुमेह (7) थायराइड (6) गांठ-फोड़ा (5) जडी बूटी सम्बन्धी (5) पेशाब में जलन(Dysuria) (5) हीमोग्लोबिन-प्लेटलेट (5) अलौकिक सत्य (4) पेट दर्द-डायरिया-हैजा-विशुचिका (4) यूरिक एसिड-गठिया (4) सूर्यकिरण जल चिकित्सा (4) स्त्री-रोग (4) आँख के रोग-अनिंद्रा (3) पीलिया-लीवर-पथरी-रोग (3) फिस्टुला-भगंदर-बवासीर (3) अनिंद्रा-तनाव (2) गर्भावस्था-आहार (2) कान-नाक-गले का रोग (1) टान्सिल (1) ल्यूकोडर्मा-श्वेत कुष्ठ-सफ़ेद दाग (1) हाइड्रोसिल (1)
-->