Small Breast-छोटे स्तन का साइज बढायें

12:00 pm 1 comment
महिलाओं और युवतियों  के लिये Small Breast-छोटे स्तन का आकार उनके लिये अत्यंत मायने रखता है जब कोई युवती Modelling आदि जैसे व्यवसाय आदि से जुड़ना चाहती है तो उसके लिये शारीरिक सौन्दर्य का बड़ा अंश उसके स्तन(Breast)के साइज पर भी आधारित रहता है-

Small Breast


महिलाओं के Breast का आकार यदि Body के अनुपात में है तो सचमुच उसकी Beauty में चांद लग जाते हैं कई बार जिन युवतियों के जल्दी-जल्दी बच्चे होते रहते हैं उनके Breast भी ढीले होकर लटक जाते हैं जो कि उनके सौंदर्य को प्रभावित करते हैं-

Breast एक ऎसा अंग है जो कि महिला की सुदंर में चार चांद लगती है सदियों से महिलायें अपने Breast की खूबसूरती को लेकर जागरूक रही हैं-

जिन महिलाओं में छोटे स्तन(Small Breast)होते है अधिकतर वे बहुत Frustrated रहती है कुदरत के नियम के अनुसार Breast महिला को एक देन है वहीं आजकल लडकियां स्तनों का मनचाहा आकार पाने के लिए Anlarjment Breast Surgery का सहारा लेने से भी नहीं चूक रही हैं-


छोटे स्तन(Small Breast)वाली महिलाएं ही सर्जरी के द्वारा ब्रेस्ट एंलार्जमेंट का ऑप्शन चुनती थीं लेकिन टाइम के साथ धीरे-धीरे इसमें काफी बदलाव आया है ब्रेस्ट एंलार्जमेंट सर्जरी के मामले में प्रत्येक महिला की स्थिति अलग-अलग होती है-

छोटे स्तन(Small Breast)के लिए अपनायें-

जैसे कि गर्भ धारण के बाद के स्तनों और कैंसरग्रस्त स्तनों की पुनर्रचना आदि कुछ ऎसे कारण हैं जिनसे स्त्री का रूप-रंग खराब दिखता है ऎसे में स्त्री के स्तनों का आकार और स्वरूप को सुरक्षित और कारगर तरीके से ठीक करने के लिए सिलिकॉन जेल आरोपण सबसे बढियां साधन है-

हार्मोनल असंतुलन (Hormonal Imbalance)भी एक आम वजह है जिसकी वजह से स्‍तन का आकार छोटा रहता है महिला के शरीर में अत्यधिक टेस्टोस्टेरोन (Testosterone)का उत्पादन स्‍तन को बढ़ने से रोक देता है तो इसी टेस्‍टोस्‍टेरोन के उत्‍पादन को कम करने के लिये आपको फल और सब्‍जियां खानी चाहिये-साबुत अनाज जैसे, जौ, ब्राउन राइस और जई खाने से ब्रेस्‍ट का आकार बढ़ जाता है-

चिकन में एस्‍ट्रोजन पाया जाता है इसलिये अपनी डाइट में चिकन का प्रयोग करें और आप देखेंगी की कुछ ही दिनों में आपका ब्रेस्‍ट बढ जाएगा-

डेयरी प्रोडक्‍ट जैसे, दूध, दही और पनीर में एस्‍ट्रोजन अधिक मात्रा में पाया जाता है इसलिये आप इन्‍हें भी अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं-

छोला,Black beans,लाल राजमा, मटर, सेम और मसूर में भी अत्‍यधिक मात्रा में एस्‍ट्रोजन पाया जाता है तो इन्‍हें अपने आहार में जरुर से जरुर  शामिल करें-

हरी पत्‍तेदार सब्‍जियां जिसमें Protein and Vitamins अधिक मात्रा में पाया जाता है, उन्‍हें खाने से ब्रेस्‍ट की कोशिकाओं का विकास होता है- 

चुकंदर, गोभी, फूलगोभी, फलियां, गाजर, प्याज, ककड़ी और कद्दू खाने से प्रोटीन मिलता है जिससे ब्रेस्‍ट का साइज बिल्‍कुल Natural तरीके से बढता है-

अंडा, प्रोटीन शेक, मछली , मीट और दूध में भी प्रोटीन अधिक मात्रा में पाया जाता है और इसे भी खाने से ब्रेस्‍ट साइज बढता है-

चैरी, स्‍ट्रॉबेरी और जामून में एस्‍ट्रोजन पाया जाता है आप इन्‍हें अपनी डाइट में शामिल कीजिये-

ब्रोमाइन और मैगनीशियम शरीर में सेक्‍स हार्मोन बढाने का कार्य करते हैं-सेब, बादाम, भुट्टा, अदरक, लहसुन, प्रॉन, ब्राउन राइस और अखरोठ में ब्रोमाइन और मैगनीशियम पाया जाता है-इन्‍हें अपनी डाइट में शामिल कीजिये और प्राकृतिक तरीके से अपने ब्रेस्‍ट(Breast)को बढते हुए पाइये-

जितना हो सके अपनी दिनचर्या में कैफीन, कार्बोनेटेड ड्रिंक, नमकीन और जंक फूड का कम से कम इस्तेमाल करें-इसके अलावा रोजाना ढेर सारा पानी पीजिये तथा साथ ही Breast साइज बढाने के लिये तिल का बीज खाइये-

आज कल बाजार में कई तरह के प्रोडक्ट उपलब्ध है आप इनका भी प्रयोग करके लाभ ले सकती है-

हर्बल स्तन संवर्धन गोलियाँ(Breast Pills)-

यह सबसे ज्‍यादा इस्तेमाल की जाने वाली प्राकृतिक जड़ी-बूटी है जो ब्रेस्‍ट के साइज को बढाती है इस जड़ी बूटी में मेथी, सौंफ, दामियाना आदि जैसे अनेक हर्ब होते हैं यह दवाई अपना असर तब से दिखाना शुरु कर देती है जब लड़की यौवन में कदम रख देती है यह दवा अपना असर 2-3 महीने के भीतर ही दिखाने लगती है-

हर्बल स्तन संवर्धन लोशन(Breast Loshan)-

अगर आप ऊपर दी हुई दवाएं ले रहीं हैं तों इसके साथ यह लोशन-क्रीम भी लगा सकती हैं इस क्रीम में भी कई प्रकार की जड़ी-बूटियां शामिल होने के साथ-साथ कुछ हल्‍के केमिकल्‍स भी मौजूद हैं यह केमिकल्‍स ब्रेस्‍ट में फैट सेल का विकास करते हैं जिससे ब्रेस्‍ट का साइज बड़ा हो जाता है अगर आपको अपने स्‍तनों में अंतर चाहिये तो इस लोशन से मसाज करें-

व्यायाम(Exercise)- 

यह तरीका ब्रेस्‍ट साइज बढाने का सबसे सस्‍ता और प्राकृतिक इलाज है अगर आपको अपने ब्रेस्‍ट साइज बढाने हैं तो अच्‍छा होगा कि आप अभी से ही पुश अप करना शुरु कर दें पर हां-इसको करने के लिए आपको पूरी लगन दिखानी होगी वरना आपका यह व्यायाम करना बेकार होगा-

कुछ आयुर्वेदिक उपाय जो समस्या से मुक्ति दिलाने में सफल रहे हैं-


स्तन(Breast)का आकार बढ़ाने के मोदक(लड्डू)-


असगंध नागौरी- 500 ग्राम
सोंठ- 250 ग्राम
पीपर- 125 ग्राम

उपरोक्त सामग्री लेकर बारीक पीस लें-

शुद्ध शहद - 2 किलो
गाय का घी-  500 ग्राम
भैंस का दूध- 5 किलो
मिश्री- 500 ग्राम

अब आप शहद ,घी, दूध और मिश्री को लेकर कढ़ाही में धीमी आंच पर पकाएं और जब खोवा जैसा बनने लगे तो ऊपर से कहे गये तीनों चूर्णों का मिश्रण मिला दें और हल्के हाथ से चलाते हुए भून लें तथाजब सुगंध आने लगे तो उसमें लौंग 10 ग्राम + तज 10 ग्राम + काली मिर्च 10 ग्राम + छोटी इलायची 10 ग्राम का बारीक चूर्ण मिलाएं और लगभग बीस-बीस ग्राम वजन के लड्डू हाथ से बांध लें- 

चार से छह माह तक इनमें से एक-एक लड्डू सुबह-शाम दूध से खाने से ढीले हो चुके ब्रेस्ट विकसित हो जाते हैं और साथ ही शरीर के प्रदर, अशक्ति, कमरदर्द आदि रोग भी नष्ट हो जाते है-

ब्रेस्ट(Breast)का आकार बढ़ाने वाला तेल-

जैतून का तेल 100 मिली
कड़वे बादाम का तेल 100 मिली
काशीशादि तेल 100 मिली

तीनो तेल को बराबर मात्रा में लेकर ब्रेस्ट की हल्के हाथों से गोलाई में मालिश करें-इस तेल के प्रभाव के आने में दो से तीन माह लग जाते हैं लेकिन बहुत दिनों तक स्थायी रहने वाला प्रभाव मिलता है-

Upcharऔर प्रयोग-

1 टिप्पणी :

-->