बार-बार क्यों टायलेट - Why Repeatedly Toilets

1:18 pm Leave a Comment
क्या आपको बार-बार टॉयलेट (Toilet ) जाने की परेशानी का सामना करना पड़ता है तो करे ये घरेलू उपचार (Home remedies )-




जी हाँ यदि बार- बार आपको टॉयलेट जाना पड़ रहा है तो इसकी सबसे अच्छी दवा जीरा (cumin ) है -आधा चम्मच जीरा चबा के खा लो पीछे से गुनगुना पानी पी लो तो दस्त (Diarrhea ) एकदम एक ही खुराक में बंद  हो जाते है-

अगर आपका पेट साफ़ नही रहता कब्जियत ( Constipation ) रहती है तो इसकी सबसे अच्छी दवा है अजवाईन (celery )इसको गुड में मिलाके चबा के खाओ और पीछे से गरम पानी पी लो तो पेट तुरंत साफ़ होता है -रात को खा के सो जाओ सुबह उठते ही पेट साफ होगा

एक अच्छी दवा है पेट साफ करने की वो है त्रिफला चूर्ण -रात को सोते समय एक चम्मच त्रिफला चूर्ण ले लो पानी के साथ पेट साफ हो जायेगा -


अगर बहुत जादा दस्त हो रहे  है हर दो मिनिट में आपको टॉयलेट जाना पड़ रहा है तो आधा कप कच्चा दूध ले लो बिना गरम किया हुआ और उसमे निम्बू डाल के जल्दी से पी लो | दूध फटने से पहले पीना है और बस एक ही खुराक लेना है बस इतने में ही खतरनाक दस्त ठीक हो जाते है -


एक और अच्छी दवा है ये जो बेल पत्र के पेड़ पर जो फल होते है उस बेल का गूदा चबा के खा लो पीछे से थोडा पानी पी लो ये भी दस्त ठीक कर देता है -बेल का पाउडर मिलता है बाज़ार में- उसका एक चम्मच गुनगुना पानी के साथ पी लो ये भी दस्त ठीक कर देता है |


एक नाम है अदरक जो हर घर में किचन की शोभा है -अदरक का सेवन करने से डायरिया में राहत मिलतीहै। अदरक की चाय पीने से पेट की पीडा कम होती है। अदरक का रस, नीबूं का रस और काली मिर्च का पाउडर पानी में मिलाकर पीने से राहत मिलती है-


केला आंतों की गति को नियंत्रण करने में और दस्त को बांधने में सहायता करता है। सेब और केले में मौजूद पेक्टिन दस्त की मात्रा कम करके डायरिया में फायदा देता है-


डायरिया होने पर 1 से 2 घंटे के अंतराल पर कम से कम 1 लीटर से ज्यादा पानी पीना चाहिए-पानी का सेवन 

करने से निर्जलीकरण (Dehydration ) नहीं होगा-नमक के छोटे-छोटे टुकडे चूसकर खाएं। 


नमक और पानी का घोल बनाकर प्रयोग करें-

उपचार और प्रयोग-

0 comments :

एक टिप्पणी भेजें

-->