Breaking News

महिलाओं की सभी कमजोरी दूर करे

हमारे देश में हमारी माताए बहने वैसे भी संस्कारित विचारों की होती है वो अपने परिवार की सेवा में अपना जीवन अर्पण कर देती है ये त्याग और ममता की प्रतिमूर्ति है ममता,प्यार,दया और सेवा भावना जन्म जात कूट-कूट कर इनमें भरी होती है इसलिए दूसरो का ध्यान देते-देते ये खुद का ध्यान नहीं रख पाती है-

महिलाओं की सभी कमजोरी दूर करे

धीरे-धीरे यही सेवा भावना स्वयं पे ध्यान न दे पाने के कारण उनको अंदर से कमजोर बना देती है और उनको कुछ बीमारियों से स्वाभाविक रूप से जूझना पड़ता है जैसे-मासिक धर्म की अनियमितता ,कमजोरी,दुबला-पन,सिरदर्द,श्वेत प्रदर ,रक्त-प्रदर ,कमर-दर्द आदि-

तो हमारी माताओं और बहनों के लिए एक आयुर्वेद का नुस्खा है जो महिलाओं की कमजोरी को दूर करके बीमारियों से भी निजात दिला सकता है-

महिलाओं की कमजोरी(Weakness)आयुर्वेद नुस्खा-


सामग्री-

स्वर्ण भस्म या वर्क -10 ग्राम 
मोती पिष्टी - 20 ग्राम 
शुद्ध हिंगुल - 30 ग्राम
सफेद मिर्च - 40 ग्राम
शुद्ध खर्पर - 80 ग्राम
गाय के दूध का मक्खन - 25 ग्राम 
नीबू का रस - थोडा सा 

बनाने की विधि-

सबसे पहले आप स्वर्ण भस्म या वर्क और हिंगुल को मिला कर एक जान कर लें तथा फिर शेष द्रव्य मिलाकर मक्खन के साथ घुटाई करें अब आप फिर नींबु का रस कपड़े की चार तह करके छान लें और इसमें मिलाकर चिकनापन दूर होने तक घुटाई करनी चाहिए इसकी आठ-दस दिन तक घुटाई करनी होगी फिर उसकी एक-एक रत्ती की गोलिया बना लें-

सेवन की विधि-

आप इसे एक या दो  गोली सुबह शाम एक चम्मच च्यवनप्राश के साथ सेवन करें-इस दवाई का सेवन करने से महिलाओं को प्रदर रोग,शारीरिक क्षीणता और कमजोरी आदि से मुक्ति मिलती है और शरीर स्वस्थ और सुडौल बनता है यदि आप इसे घर में नहीं बना सकते है तो यह दवाई ”स्वर्ण मालिनी वसंत" के नाम से बाजार में भी मिलती है इसके सेवन से शरीर बलशाली होता है शरीर के सभी अंगों को ताकत मिलती है-

Read Next Post-  

ल्यूकोरिया सरल घरेलू उपचार

Upcharऔर प्रयोग-

1 टिप्पणी: