This website about Treatment and use for General Problems and Beauty Tips ,Sexual Related Problems and his solution for Male and Females. Home treatment,Ayurveda treatment ,Homeopathic Remedies. Ayurveda treatment tips in Hindi and also you can read about health Related problems and treatment for male and female

1 नवंबर 2015

उच्च रक्तचाप का किशमिश से उपचार करें

By
जिन लोगों को हाई बी पी यानी उच्च रक्तचाप(High Blood Pressure)की शिकायत रहती है उनके लिए दवाइयों से बचने के लिए एक सुंदर और सफल उपाय है और खर्च भी खास नही तथा फायदा भी पक्का है हाई बीपी(High Blood Pressure)के जो भी बीमार हो या मरीज हो उनके लिए ये एक आशीर्वाद रूप है-

उच्च रक्तचाप का किशमिश से उपचार करें

आपको बस पहले दिन एक दाना किसमिस रात को गुलाब जल(Rose Water)मे भीगो देना है और फिर सुबह उस दाने को खूब चबा के खाना है ध्यान रहे कि बस गुलाबजल(Rose Water)उतना ही ले जितने मे किसमिस(Raisins)भीग जाए-

फिर दूसरे दिन दो किसमिस(Raisins)के दाने भिगों दे और फिर उसी प्रकार खूब चबा कर खाएं- 

तीसरे दिन तीन किसमिस(Raisins)के दाने भिगों दे-

चौथे दिन चार और पाचवे दिन पाँच तो छटे दिन छ: किसमिस(Raisins)के दाने भिगोंते जाए और इसी तरह आप इसे 21 दाने तक बढाते ही चले जाओ फिर ये प्रयोग को 10-15 दिन आप बंद करें दे-

अब 15 दिन बाद अब आपको वापस उसी प्रकार शुरू करना है यानी कि फिर एक से 21 दाने तक यही कोर्स शुरू करे जैसे पहले किया था बस ऐसे 1-2 कोर्स करें आपकी हाई बीपी(High Blood Pressure)चली जाएगी-अभी तक इस प्रयोग से कई लोगों को लाभ हुआ है-

आप गुलाबजल(Rose Water)बजारू न ले ध्यान रखे घर में ही बना ले-गुलाब के पत्तों को पानी मे उबाल कर उसकी भाप जमा कर ले-ये प्रयोग करे और परिणाम खुद ही देखे-

साथ में ये भी करे-


1- अपनी छोटी उंगली के नीचे की रेखा को ऊपर दबाने पे हृदय प्रॉब्लम में अद्भुत लाभ होता है साथ ही हृदयामृत वटी दो-दो गोली सुबह शाम ले -

2- किसी भी तरह के हृदय रोगों के लिए लोकी का जूस(Gourd juice)बहुत ही जादा लाभकारी होता है लौकी के 200 एम् एल जूस में तुलसी व पुदीना के 7-7 पत्ते व 2-3 काली मिर्च साथ में मिला के पिए तो बहुत लाभ होगा-

3- आप अर्जुनारिस्ट को खाना खाने के बाद 4-4 चम्मच  ले सकते हैं-

उपर का प्रयोग भाई राजीव भाई द्वारा अनुमोदित है-

Read Next Post-

आपका ह्रदय रोग और चुकंदर का सेवन

Upcharऔर प्रयोग -

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें