27 दिसंबर 2015

पेट की मालिश के क्या फायदे हैं

By
हमारे भारत-वर्ष में प्राचीन बहुत सी प्रथाए है लेकिन अज्ञानता वश हम उनके द्वारा होने वाले लाभों से आज भी उतने ही अनजान है नई पीढ़ी हमारे पुराने ज्ञान को अगर सही रूप से उसकी वैज्ञानिकता को समझ ले तो हम काफी रोगों से दूर रह सकते है हमारा एक छोटा सा प्रयास है कि हम कुछ इस प्रकार की चीजो से आपको अवगत कराये -



पेट की मालिश का प्रयोग हमारे यहां प्राचीन काल से चली आ रही है लेकिन इसके गुणों से आज भी बहुत लोग अनजान है पेट की मालिश हमें कई प्रकार के रोगों से मुक्त रखता है ये हमें पेट दर्द ,तनाव ,और होनेवाली पेट की खराबी से कोसो दूर रखता है यदि आप रोज न कर सके तो हफ्ते में दो बार अवश्य ही पेट की मालिश करे -

पेट की मालिश या मसाज करने से पहले आप पीठ के बल जमीन पर लेट जाएं तथा उसके बाद हाथों में तेल लगाएं और गोलाई में घुमाते हुए मसाज करें तीन से चार मिनट में 30 से 40 बार गोलाई में हाथो को घुमाते हुए मजाज करें दिमाग को पूरी तरह से शांत कर के अपना ध्‍यान मालिश में लगाएं हफ्ते भर में सिर्फ दो बार की जाने वाली यह 3-4  मिनटों की मसाज आपको कई पेट संबन्‍धित रोगों से छुटकारा दिलाएगी-

ये इसके फायदे है -

1- पेट की मालिश करने से पेट चयापचय छमता बढ़ती है और पाचन शक्ति को बल मिलता है यह उन लोगों के लिये अच्‍छी हो सकती है जो लोग वेट कम करने की बहुत महनत करते हैं और उन्‍हें किसी भी चीज का कोई फायदा नहीं मिलता है -

2- जिन लोगो को खाना ठीक से हजम न होने की वजह से पेट फूलना और उसमें गैस बनने की समस्‍या मुख्य कारण होता है यकीन माने कि पेट की मालिश करने से पेट की गैस आराम से निकल जाती है और अपच भी नहीं होता है -

3- जिन लोगो को पेट कब्ज की शिकायत रहती है उनके लिए ये प्रयोग उनके जीवन में लाभदायक है धीरे-धीरे कुछ दिन बाद आप अनुभव करेगे कि आप कब्ज की बिमारी से मुक्त हो चुके है पेट का स्वस्थ रहना आपको अनेक रोगों से मुक्ति दिलाता है -

4- पेट की मालिश करने से उस जगह का ब्‍लड सर्कुलेशन बढ़ जाता हैऔर इससे पेट की मासपेशियों को गर्माहट मिलती है जिससे आपको आराम मिलेगा तथा गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की सेहत में सुधार होगा  नियमित रूप से पेट की मालिश करने पर आपको कभी भी पेट का कोई रोग नहीं होगा पेट फूलना, पेट में दर्द, गैस आदि सब ठीक हो जाएगी और पेट की मासपेशियां पूरी तरह से शक्ति शाली  हो जाएंगी साथ ही अपच की समस्‍या भी दूर होगी-

5- पेट पर मसाज करने से वहां की मासपेशियां टोन्‍ड हो जाती हैं तथा आपकी लटकती हुई कमर कुछ ही दिनों में शेप में आ जाती है इसके साथ टम्‍मी टाइट बन जाती है-

6- ब्रोंकाइटिस में छाती और पीठ की, कब्ज में पेट की, सिरदर्द में सिर की और साइटिका में टांग की मालिश करने से रोगी को विशेष लाभ होता है-

7- यदि आप मालिश करते वक्‍त लौंग लेवेंडर या दालचीनी का तेल प्रयोग करती है तो आपको पेडु के दर्द में अवस्य अदभुत लाभ मिलेगा और आपका पीरियड भी नियमित रहेगा -

नोट-अगर आप प्रेगनेंट हैं या किडनी स्‍टोन है या गॉलस्‍टोन या पेट में अल्‍सर तथा  प्रजनन अंगों में सूजन या फिर आंतरिक रक्तस्राव हो रहा हो तो ध्यान रक्खे इस में मालिश न करें-
उपचार और प्रयोग-

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

लेबल