This website about Treatment and use for General Problems and Beauty Tips ,Sexual Related Problems and his solution for Male and Females. Home treatment,Ayurveda treatment ,Homeopathic Remedies. Ayurveda treatment tips in Hindi and also you can read about health Related problems and treatment for male and female

16 जनवरी 2017

तुलसी एक साधारण पौधा नहीं है

By
आप सभी जानते हैं कि तुलसी(Tulsi)का पौधा अपने दिव्य गुणों के लिए प्रतिष्ठित है लेकिन क्या आप जानते हैं तुलसी(Tulsi)से कई गंभीर समस्याओं को ठीक किया जा सकता है तो आइये आप जाने इसके आध्यत्मिक और आयुर्वेदिक प्रयोग क्या-क्या है-

तुलसी एक साधारण पौधा नहीं है

तुलसी(Tulsi)के आध्यत्मिक प्रयोग-


1- तुलसी(Tulsi)के निकट जिस मन्त्र-स्तोत्र आदि का जप-पाठ किया जाता है वो सब अनंत गुना फल देने वाला होता है प्रेत, पिशाच, ब्रह्मराक्षस, भूत, दैत्य आदि सब तुलसी(Tulsi)के पौधे से दूर भागते है -

2- ब्रह्महत्या आदि पाप तथा पाप और खोटे विचार से उत्पन्न होनेवाले रोग तुलसी(Tulsi)के सामीप्य एवं सेवन से नष्ट हो जाते है तुलसी का पूजन, रोपण व धारण पाप को जलाता है और स्वर्ग एवं मोक्ष प्रदायक है-

3- श्राद्ध और यज्ञ आदि कार्यों में तुलसी का एक पत्ता भी महान पुण्य देनेवाला है जो चोटी में तुलसी स्थापित करके प्राणों का परित्याग करता है वह पापराशि से मुक्त हो जाता है -

4- तुलसी(Tulsi)के नाम-उच्चारण से मनुष्य के पाप नष्ट हो जाते हैं तथा अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है तुलसी ग्रहण करके मनुष्य पातकों से मुक्त हो जाता है -

5- तुलसी पत्ते से टपकता हुआ जल जो अपने सिर पर धारण करता है उसे गंगास्नान और 10 गोदान का फल प्राप्त होता है -

तुलसी(Tulsi)के आयुर्वेदिक प्रयोग-


1- शिवलिंगी के बीजों को तुलसी(Tulsi))और गुड़ के साथ पीसकर नि:संतान महिला को खिलाया जाता है तो महिला को जल्द ही संतान सुख की प्राप्ति होती है-

2- किडनी की पथरी में तुलसी(Tulsi))की पत्तियों को उबालकर बनाया गया काढ़ा शहद के साथ नियमित 6 माह सेवन करने से पथरी मूत्र मार्ग से बाहर निकल आती है-किडनी स्टोन को खत्म करने के साथ-साथ तुलसी त्वचा को साफ करने में भी मददगार है-

3- औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी दिल संबंधी समस्याओं को भी दूर करता है इससे ना सिर्फ कॉलेस्ट्रॉल को नियंत्रि‍त किया जा सकता है बल्कि ब्लड प्रेशर को भी ये कंट्रोल करने की क्षमता रखता है रोजाना खाली पेट तुलसी(Tulsi))की कुछ पत्तियां चबाने से दिल की बीमारियों से बचा जा सकता है-

4- तुलसी और हल्दी के पानी का सेवन करने से शरीर में कोलेस्ट्राल की मात्रा नियंत्रित रहती है और इसे कोई भी स्वस्थ व्यक्ति सेवन में ला सकता है-

5- तुलसी से स्ट्रेस हार्मोंन को नॉर्मल किया जा सकता है रक्त के प्रवाह को सामान्‍य करने में भी तुलसी बहुत मददगार है जो लोग बहुत ज्यादा तनाव में रहते हैं उन्‍हें दिन में 2 बार तुलसी की 12 पत्तियां चबानी चाहिए-

6- इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होने के कारण ब्रेस्ट कैंसर और ओरल कैंसर से बचने के लिए तुलसी खाना फायदेमंद है-

7- तुलसी(Tulsi))में पाए जाने वाले तत्वों से त्वचा को खूबसूरत बनाया जा सकता है एक्‍ने से बचने और त्वचा को फ्रेश रखने में भी तुलसी फायदेमंद है बालों से खुजली को मिटाना हो या झड़ते बालों को रोकना हो तुलसी दोनों में फायदेमंद है नारियल के तेल में तुलसी मिलाकर लगाने से बालों की खुजली मिटती हैं और बाल भी नहीं झड़ते-

8- एलर्जी, साइनस, जुकाम और सिरदर्द जैसी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए तुलसी का सेवन करना चाहिए तुलसी की पत्तियों को पीसकर पानी में मिलाकर गर्म करें और सामान्‍य तापमान पर आने पर तौलियों पर ये पानी रखकर सिर में लगाएं  चुटकियों में सिरदर्द भाग जाएगा-

9- औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी के रस में थाइमोल तत्व पाया जाता है जिससे त्वचा के रोगों में लाभ होता है हर्बल जानकारों के अनुसार तुलसी के पत्तों को त्वचा पर रगड़ दिया जाए तो त्वचा पर किसी भी तरह के संक्रमण में आराम मिलता है-

10- इसकी पत्तियों का रस निकाल कर बराबर मात्रा में नींबू का रस मिलायें और रात को चेहरे पर लगाये तो झाईयां नहीं रहती, फुंसियां ठीक होती है और चेहरे की रंगत में निखार आता है-

11- तुलसी से माइग्रेन के निवारण में मदद मिलती है प्रतिदिन दिन में 4-5 बार तुलसी से 6-8 पत्तियों को चबाने से कुछ ही दिनों में माईग्रेन की समस्या में आराम मिलने लगता है-

12- फ्लू रोग में तुलसी(Tulsi))के पत्तों का काढ़ा, सेंधा नमक मिलाकर पीने से ठीक होता है फ्लु के दौरान बुखार से ग्रस्त रोगी को तुलसी और सेंधा नमक का सेवन लाभदायक है-


Upcharऔर प्रयोग-

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें