Tulsi-तुलसी एक साधारण पौधा नहीं है

8:16 am Leave a Comment
Tulsi-तुलसी का पौधा अपने दिव्य गुणों के लिए प्रतिष्ठित है लेकिन क्या आप जानते हैं तुलसी(Tulsi)से कई गंभीर समस्याओं को ठीक किया जा सकता है आइये आप जाने इसके आध्यत्मिक और आयुर्वेदिक प्रयोग-

Tulsi-तुलसी एक साधारण पौधा नहीं है


आध्यत्मिक(Spiritual)प्रयोग-

तुलसी(Tulsi)के निकट जिस मन्त्र-स्तोत्र आदि का जप-पाठ किया जाता है वो सब अनंत गुना फल देने वाला होता है प्रेत, पिशाच, ब्रह्मराक्षस, भूत, दैत्य आदि सब तुलसी(Tulsi)के पौधे से दूर भागते है -

ब्रह्महत्या आदि पाप तथा पाप और खोटे विचार से उत्पन्न होनेवाले रोग तुलसी(Tulsi)के सामीप्य एवं सेवन से नष्ट हो जाते है तुलसी का पूजन, रोपण व धारण पाप को जलाता है और स्वर्ग एवं मोक्ष प्रदायक है-

श्राद्ध और यज्ञ आदि कार्यों में तुलसी-Tulsi का एक पत्ता भी महान पुण्य देनेवाला है जो चोटी में Tulsi-तुलसी स्थापित करके प्राणों का परित्याग करता है वह पापराशि से मुक्त हो जाता है -

तुलसी(Tulsi) के नाम-उच्चारण से मनुष्य के पाप नष्ट हो जाते हैं तथा अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है तुलसी ग्रहण करके मनुष्य पातकों से मुक्त हो जाता है -

तुलसी पत्ते से टपकता हुआ जल जो अपने सिर पर धारण करता है उसे गंगास्नान और 10 गोदान का फल प्राप्त होता है -

आयुर्वेदिक(Ayurvedic)प्रयोग-

शिवलिंगी के बीजों को तुलसी(Tulsi))और गुड़ के साथ पीसकर नि:संतान महिला को खिलाया जाता है तो महिला को जल्द ही संतान सुख की प्राप्ति होती है-

किडनी की पथरी में तुलसी(Tulsi))की पत्तियों को उबालकर बनाया गया काढ़ा शहद के साथ नियमित 6 माह सेवन करने से पथरी मूत्र मार्ग से बाहर निकल आती है-

किडनी स्टोन को खत्म करने के साथ-साथ तुलसी त्वचा को साफ करने में भी मददगार है-

औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी दिल संबंधी समस्याओं को भी दूर करता है इससे ना सिर्फ कॉलेस्ट्रॉल को नियंत्रि‍त किया जा सकता है बल्कि ब्लड प्रेशर को भी ये कंट्रोल करने की क्षमता रखता है रोजाना खाली पेट तुलसी(Tulsi))की कुछ पत्तियां चबाने से दिल की बीमारियों से बचा जा सकता है-

तुलसी और हल्दी के पानी का सेवन करने से शरीर में कोलेस्ट्राल की मात्रा नियंत्रित रहती है और इसे कोई भी स्वस्थ व्यक्ति सेवन में ला सकता है-

तुलसी से स्ट्रेस हार्मोंन को नॉर्मल किया जा सकता है रक्त के प्रवाह को सामान्‍य करने में भी तुलसी बहुत मददगार है जो लोग बहुत ज्यादा तनाव में रहते हैं उन्‍हें दिन में 2 बार तुलसी की 12 पत्तियां चबानी चाहिए-

इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होने के कारण ब्रेस्ट कैंसर और ओरल कैंसर से बचने के लिए तुलसी खाना फायदेमंद है-

तुलसी(Tulsi))में पाए जाने वाले तत्वों से त्वचा को खूबसूरत बनाया जा सकता है एक्‍ने से बचने और त्वचा को फ्रेश रखने में भी तुलसी फायदेमंद है बालों से खुजली को मिटाना हो या झड़ते बालों को रोकना हो तुलसी दोनों में फायदेमंद है नारियल के तेल में तुलसी मिलाकर लगाने से बालों की खुजली मिटती हैं और बाल भी नहीं झड़ते-

एलर्जी, साइनस, जुकाम और सिरदर्द जैसी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए तुलसी का सेवन करना चाहिए तुलसी की पत्तियों को पीसकर पानी में मिलाकर गर्म करें और सामान्‍य तापमान पर आने पर तौलियों पर ये पानी रखकर सिर में लगाएं  चुटकियों में सिरदर्द भाग जाएगा-

औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी के रस में थाइमोल तत्व पाया जाता है जिससे त्वचा के रोगों में लाभ होता है हर्बल जानकारों के अनुसार तुलसी के पत्तों को त्वचा पर रगड़ दिया जाए तो त्वचा पर किसी भी तरह के संक्रमण में आराम मिलता है-

इसकी पत्तियों का रस निकाल कर बराबर मात्रा में नींबू का रस मिलायें और रात को चेहरे पर लगाये तो झाईयां नहीं रहती, फुंसियां ठीक होती है और चेहरे की रंगत में निखार आता है-

तुलसी से माइग्रेन के निवारण में मदद मिलती है प्रतिदिन दिन में 4-5 बार तुलसी से 6-8 पत्तियों को चबाने से कुछ ही दिनों में माईग्रेन की समस्या में आराम मिलने लगता है-

फ्लू रोग तुलसी(Tulsi))के पत्तों का काढ़ा, सेंधा नमक मिलाकर पीने से ठीक होता है फ्लु के दौरान बुखार से ग्रस्त रोगी को तुलसी और सेंधा नमक का सेवन लाभदायक है-

Upcharऔर प्रयोग-

0 comments :

एक टिप्पणी भेजें

TAGS

आस्था-ध्यान-ज्योतिष-धर्म (38) हर्बल-फल-सब्जियां (24) अदभुत-प्रयोग (22) जानकारी (22) स्वास्थ्य-सौन्दर्य-टिप्स (21) स्त्री-पुरुष रोग (19) पूजा-ध्यान(Worship-meditation) (17) मेरी बात (17) होम्योपैथी-उपचार (15) घरेलू-प्रयोग-टिप्स (14) चर्मरोग-एलर्जी (12) मुंह-दांतों की देखभाल (12) चाइल्ड-केयर (11) दर्द-सायटिका-जोड़ों का दर्द (11) बालों की समस्या (11) टाइफाइड-बुखार-खांसी (9) पुरुष-रोग (8) ब्लडप्रेशर (8) मोटापा-कोलेस्ट्रोल (8) मधुमेह (7) थायराइड (6) गांठ-फोड़ा (5) जडी बूटी सम्बन्धी (5) पेशाब में जलन(Dysuria) (5) हीमोग्लोबिन-प्लेटलेट (5) अलौकिक सत्य (4) पेट दर्द-डायरिया-हैजा-विशुचिका (4) यूरिक एसिड-गठिया (4) सूर्यकिरण जल चिकित्सा (4) स्त्री-रोग (4) आँख के रोग-अनिंद्रा (3) पीलिया-लीवर-पथरी-रोग (3) फिस्टुला-भगंदर-बवासीर (3) अनिंद्रा-तनाव (2) गर्भावस्था-आहार (2) कान-नाक-गले का रोग (1) टान्सिल (1) ल्यूकोडर्मा-श्वेत कुष्ठ-सफ़ेद दाग (1) हाइड्रोसिल (1)
-->