27 फ़रवरी 2016

मेरी ख़ुशी आपके साथ-

कहा जाता है गम है तो बाँट लो हल्का हो जाता है और ख़ुशी हो तो भी बाँट दो मजा दूना हो जाता है आपके साथ हम भी एक ख़ुशी बाँट रहे है हमारे घर में कल हमारे बड़े बेटे को पुत्र-रत्न (चित्रांस) की प्राप्ति हुई है आप सभी से आशा ही नहीं अपितु पूर्ण विश्वास है कि हमारे प्रपौत्र को अपने आशीर्वाद से अनुग्रहीत करेगे -



सत्यन श्रीवास्तव-
loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Tags Post

Information on Mail

Loading...