ऊंची एडी आपके लिए नुकसान दायक - Harmful to you High heel

7:05 am Leave a Comment
फैशनेबल दिखने के लिए महिलाए कुछ येसे भी काम करती है जो स्वास्थ के लिए घातक है इसी के अंतर्गत हाई हील फुटवियर्स भी आता है आप को पता है इस फैशन से आपको कितना नुकसान पहुँचता है आइये जाने -




जब आप हाई हील शूज या सैंडिल या चप्पल पहनकर चलते है तो आपका सारा वजन एडी पे पड़ता और फिर आपका पंजा तेजी से दबता है ये बार-बार का क्रत्रिम दबाव आपकी आपकी एडी को कमजोर करता है -

हाई हील पेट को आगे खीचते है और पुट्ठो को पीछे खीचते है शुरू में दिखता अच्छा है लेकिन ये आपकी रीढ़ की हड्डी पे भार को असंतुलित करता है और लोवर है -

पैरो की पोजीशन चेंज होने से जंघापेशी छोटी होती जाती है आप इस का अनुभव तत्काल फ्लेट्स शूज पहन कर अनुभव कर सकती है -

टखनो के आसपास की मसल्स पर भी तनाव पड़ता है सेंटर आफ ग्रेविटी फारवर्ड शिफ्ट होने बैक पेन होता है ये तो अब शोधो से भी ज्ञात हो चुका है असंतुलित पैर कई बीमारियाँ आपको दे सकती है -

जादा देर तक हाई हील पहनने से पैरो की अंगुलियों में भी अकडन हो सकती है तथा पैरो की नसों में क्षति की आशंका बढती है -




ऊँची हील भले ही महिलाओं को भीड़ से अलग दिखाने में मदद करती है लेकिन इसकी कीमत उन्हें अपने स्वास्थ्य से चुकानी पड़ती है एक नए अध्ययन से सामने आया है कि ऊँची हील से होने वाले नुकसानों के कारण हर साल 20,000 महिलाओं को अस्पताल में भर्ती होना पड़ता है-

कई इंच ऊँची हील से सिर्फ महिलाओं की एड़ियाँ ही चोटिल नहीं होतीं है बल्कि उन्हें कई बार इस वजह से दुर्घटनाओं का भी शिकार होना पड़ता है इन्हें पहनने के कारण ऊँची हील पहनने वाली एक तिहाई महिलाएँ दुर्घटनाओं का शिकार होती हैं इन सभी लड़कियों की उम्र 18 वर्ष से कम होती है इस आयु वर्ग की लड़कियाँ औसत 50 बार इस हील के कारण गिर जाती हैं जिस वजह से उनके कूल्हे की हड्डी पर चोट लगती है पीठ के दर्द की समस्या से भी इन लड़कियों को दो-चार होना पड़ता है-

ये दुर्घटनाएँ दिखने में तो छोटी लगती हैं लेकिन इसके कारण कई लड़कियों को अपने कूल्हे की हड्डी तक बदलवानी पड़ती है-

आपको हाई हील पसंद है तो पहने अवस्य मगर कुछ ही समय के लिए इसे आदत में न लाये आप अपनी चाल को प्राकृतिक ही रहने दे जो आपको लम्बे समय तक लाभ-दायक होगी -

इसे भी देखे- पैर के तलवे पे जलन होने का उपचार - Burning sensation on sole -foot treatment

उपचार और प्रयोग-

0 comments :

एक टिप्पणी भेजें

-->