Age-उम्र के Difference का संबंधों पर Effect

क्या आप शादी शुदा है या आपकी शादी होने वाली है यदि आप शादी शुदा है तो आप अपनी वाइफ से Age-उम्र में कितने बड़े है या फिर आप कितने छोटे है ये सवाल इसलिए है कि आपको बता सके कि Age का Difference आपके पूरे जीवन में कैसे और किस तरह Relationship(संबंधो)पर प्रभाव(Effect)पड़ता है-

Age-उम्र के Difference का संबंधों पर Effect


क्या आप जानते है कि वैवाहिक जीवन में पति-पत्नी का उम्र(Age)में बड़ा या छोटा होना मायने रखता है हमारे भारतीय संस्कृति में पति हमेशा ही पत्नी से अधिक Age का होता है लेकिन आज का परिवेश बदल गया है पहले ऐसा क्यों होता था इसके पीछे भी एक कारण हुआ करता था दरअसल भारतीय संस्कारों में पति को हमेशा इज्जत देना सिखाया जाता है इसीलिए पति की उम्र(Age)बड़ी होनी चाहिए-

सर्वेक्षण से पता चलता है लड़के और लड़की की परिपक्वता में एक Age का Difference(उम्र-अंतर) होता है और वो अंतर है मैच्योरिटी का-लड़कियां अपेक्षा-कृत लड़कों से जल्दी ही मैच्योर हो जाती है जबकि लड़कों को भावनात्मक रूप से मैच्योर होने में अधिक समय लगता है लगभग आप इसे तीन से चार साल का भी मान सकते है -

बड़ी उम्र की महिला और छोटी उम्र के पुरूष या फिर बड़ी उम्र का पुरूष और छोटी उम्र की महिला फिर चाहे उम्र कोई भी हो लेकिन दोनों का मैच्योरिटी लेवल मिलना चाहिए जिससे दोनों आपस में सामंजस्य स्थापित कर पाएं-

आप चाहे तो इसका एक पहलू ये भी मान सकते है कि पति उम्र में इसलिए भी बड़ा होना जरुरी है ताकि शादी के बाद अपनी पत्नी और परिवार का ख्याल रखने के लिए आपेक्षित इनकम कर सके हम इसे एक अच्छी सोच मानते है लेकिन आज सब कुछ बदल गया है आज जीवन की जरूरतों को सुचारू-रूप से वहन करने के लिए पत्नी और पति दोनों को आमदनी का स्रोत होना आवश्यक सा प्रतीत होता है -

ऐसी भी सफल शादियां देखी गई हैं जहां लड़की और लड़के से उम्र में काफी बड़ी होती है लगभग दस साल से भी उपर  भी इसका उनके Age gap marriage(उम्र अंतराल वैवाहिक)जीवन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है-लेकिन इसके दुस्प्रभाव भी देखने को मिलते है -

पुरुष अपनी उम्र से दो वर्ष कम समझदार होते हैं जबकि महिलायें अपनी उम्र से दो वर्ष अधिक समझदार होती हैं इसलिए Age gap relationship(उम्र में अंतर) रखने की सलाह दी जाती है संबंधों में संतुलन बनाये रखने के लिए उम्र में अंतर होना आवश्यक होता है तथा age difference relationship(उम्र में उचित अंतर) होने से शादीशुदा जीवन स्थिर होता है तथा छोटी छोटी बातों के लिए झगड़े नहीं होते है -

यह सर्वमान्य है कि प्यार की कोई सीमा नहीं होती है और न ही कोई बंधन-अगर दो लोग आपस में समझदारी से एक-दूसरे के साथ जीवन-निर्वाह करने को तैयार है तो किसी को कोई समस्या नहीं होनी चाहिए लेकिन दोनों लोगों का खुश होना भी जरूरी है-

दरअसल,पति-पत्नी की Age-उम्र के अंतर का संबंधो पर प्रभाव पड़ना लाजमी है यदि बड़ी उम्र की महिला है तो निश्चित रूप से वह छोटी उम्र के पुरूष से अधिक अनुभवी होगी जिससे अधिक उम्र की महिला में सेक्‍स समस्‍याएं हो सकती हैं या फिर अधिक उम्र की महिलाओं की चाहत- सोच-विचार और इच्छाएं आपस में मिलने में मुश्किल हो सकते हैं-

लड़कियां सामान्यतः लड़कों से जल्दी् परिपक्व(Mature) हो जाती हैं और ऐसे में कोई भी निर्णय लेने में महिलाएं पुरूषों से अधिक सशक्त होती हैं-इतना ही नहीं महिलाओं में सेक्‍स समस्‍याएं(Sex Problems) भी पुरूषों के मुकाबले जल्‍दी उम्र में पनपनी लगती है ऐसे में उम्र का रिश्‍तों पर प्रभाव पड़ना लाजमी है-

दरअसल रिश्तों में बेस्ट हाफ, उम्र इत्यादि महत्वपूर्ण नहीं है- न ही महिलाओं और पुरूषों में सेक्‍स समस्‍याओं का ज्यादा महत्व है- महत्‍व तो इस बात का है कि वे एक दूसरे को कितनी अच्छी तरह से समझते हैं फिर चाहें उम्र कुछ भी हो-

रिश्तों से संबंधित मुद्दे बड़ा साथी छोटे साथी को बच्चा समझता है यह एक सीमा तक ठीक है परन्तु किसी भी चीज़ की अति ख़राब होती है समान उम्र के लोगों में यह चीज़ बिलकुल नहीं मिलती जबकि उम्र में अधिक अंतर होने पर अधिक देखभाल से संबंधों में समस्या आ सकती है-बिस्तर पर संबंध स्वस्थ सेक्स जीवन(Healthy Sex Life) के लिए तथा भविष्य में आगे परिवार की योजना बनाने के लिए उनमे एक उचित अंतर होना आवश्यक होता है विभिन्न आयु समूह के लोगों की सेक्स में रूचि(Interest in sex) भिन्न होती है-

आमतौर पर पत्नी या पति में कोई भी बड़ी उम्र का हो लेकिन दोनों की शारीरिक जरूरतें(Physical Requirements)उम्र के हिसाब से अलग-अलग होती हैं- इसीलिए दोनों की उम्र के बीच बहुत ज्यादा अंतराल होना सही नहीं है-


Upcharऔर प्रयोग-
loading...
Share This Information With Your Friends
    Blogger Comment
    Facebook Comment

5 comments:

  1. आप की ये बात सरासर गलत है रिश्ते में विश्वास होना चाहिए फिर उम्र चाहे जो भी हो कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता
    न उमर की सीमा हो, न जनम का हो बंधन
    जब प्यार करे कोई, तो देखे केवल मन
    नई रीत चलाकर तुम, ये रीत अमर कर दो

    उत्तर देंहटाएं
  2. DARR जी बात गलत लगेगी जो सिर्फ प्यार में आज की सोचते है जब उम्र का अंतर जादा होता है तब कुछ ऐसी समस्याए भी आती है जहाँ सभी को मानना होता है कि ये गलत है -मान लो एक पचास साल का व्यक्ति बीस साल की लड़की से विवाह करे और सिर्फ दस साल जीवित रहे तो इसके उपरान्त लड़की की उम्र होगी 30 साल -अब बताये भरी उम्र में वो कहाँ जाए -क्या उसके साथ सही हुआ-

    उत्तर देंहटाएं
  3. आप ने सिर्फ उम्र का अंतर बताया है, जिसमे हद से हद चार छः साल का अंतर आप ने बोला है, वैसे भी किसी की मौत को पहले से बता पाना मुश्किल है, ५० की उम्र में अपनी बेटी की उम्र की लड़की से शादी करना गलत हो सकता है, लेकिन २-४ साल के अंतर से किसी योग्य लड़की का किसी उम्र में छोटे लड़के से शादी न हो पाना सही नहीं है , खास तौर पे लड़के के घर वालों की ये सोंच की लड़की तो बड़ी है और एक योग्य लड़की की जगह उम्र में कम अयोग्य लड़की से शादी कर देना ये गलत है या नहीं। ये बताइए डॉक्टर साहब।

    उत्तर देंहटाएं
  4. i want to know that if difference will be 3- 4 years between wife and husband and wife is 5 years elder but both of mature and understandable with each other so is there might be any problem with both of them?

    उत्तर देंहटाएं
  5. लास्ट की लाइन आपने नहीं पढ़ी पोस्ट में दुबारा पढ़ लेते तो अतिरिक्त कमेन्ट की शायद मित्र आवश्यकता नहीं होती अंतिम लाइन ये थी "इसीलिए दोनों की उम्र के बीच बहुत ज्यादा अंतराल होना सही नहीं है-"

    उत्तर देंहटाएं