Oil-तेल जो आपके लिए लाभकारी है

4:16 pm 1 comment
आपकी उम्र जैसे-जैसे बढती जाती है उसी तरह आपके शरीर की Glow(चमक)भी ढलने लगती है पहले जैसी कोमल(Soft)और चमकदार नहीं रहती है महिलायें यदि शादी-शुदा है और साथ ही प्रेगनेंसी के दौर से गुजर चुकी हैं तो आपके शरीर और त्‍वचा पर काफी बुरा असर पड़ता है आपकी त्‍वचा तथा आपके ब्रेस्‍ट(Brest)दिन पर दिन ढीले पड़ने शुरु हो जाते हैं और हो सकता है कि आप ऐसा महसूस कर के खुद को तनाव ग्रस्‍त कर लेती हों परेशान न हों अगर आपकी बॉडी ने चमक खो दी है या फिर त्‍वचा(Skin)ढीली पड़ चुकी है तो परेशान होने के बजाए कुछ घरेलू तेल(Oil)का प्रयोग करें-

oil


घरेलू उपचार में आपको किस तरह के तेल ट्राई करने होगें-

बॉडी ऑइल(Body Oil) सदियों से शरीर पर मालिश करने के काम आ रहे हैं यह तेल काफी फायदेमंद होते हैं और  जिनका रिजल्‍ट तुरंत ही देखने को मिल जाता हैं तो आइये जाने कि ऐसे कौन-कौन से तेल हैं जो बॉडी की चमक और ढीली पड़ चुकी त्‍वचा को टाइट बना सकते हैं-

ऑलिव ऑइल(Olive oil) का प्रयोग-

अगर आपको लगे कि आपकी बॉडी में कोमलता या चमक खतम होती जा रही है तो ऑलिव ऑइल लगाएं क्या आपको पता है कि ऑलिव ऑइल में ओमेगा 3 फैटी एसिड और एंटीऑक्सीडेंट होता है जिससे बॉडी कोमल बनती है ऑलिव ऑइल को बिना गरम किये हुए शरीर पर कुछ दिनों तक लगाएं और जल्‍द ही असर देखें-

सरसों का तेल(Mustard oil) का प्रयोग-

यह तेल ढीले पड़ चुके ब्रेस्‍ट या लूज पेट को टाइट करने के बहुत काम आता है आप 2 चम्‍मच तेल ले कर मध्‍यम आंच पर हल्‍का गरम करें तथा फिर इसे हाथों में ले कर अपने ब्रेस्‍ट की मसाज हल्‍के हाथों से करें लेकिन मसाज करते वक्‍त अपने ब्रेस्‍ट को ऊपर की ओर उठाएं-अगर आप स्‍तनपान(feeding breast) करवाती हैं तो ऐसी मसाज आप रोज करें-

एवाकाडो ऑइल(Awakado Oil) का प्रयोग-

जब शरीर में कोलाजिन का प्रोडक्‍शन(Produce collagen) धीमा पड़ने लगता है तब हमारे शरीर में रूखापन आने लगता है  एवाकाडो ऑइल में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है जो कोलाजिन का प्रोडक्‍शन बढा देता है और यह तेल शरीर में बहुत ही आसानी से समा जाता है और इसका लाभ भी तुरंत ही देखने को मिलता है-

जोजोबा ऑइल(Jojoba Oil) का प्रयोग-

यह तेल शरीर को हर तरह से फायदा पहुंचाता है इसे लगाने से बॉडी की स्‍किन टाइट तो होती ही है और साथ में एक्‍ने और पिंपल(Acne and Pimpalgaon) से भी निजात मिलती है तथा यह चेहरे से सारे दाग-धब्‍बे मिटा देता है-

ग्रेप सीड ऑइल(Grape Seed Oil) का प्रयोग-

इस तेल में बहुत सारा VitaminEहोता है यह आपकी स्‍किन को स्‍वस्‍थ्‍य रखता है यह बॉडी पर पड़े स्‍ट्रेच मार्क(Stretch Marks) और आंखों के नीचे काले घेरों को भी ठीक करता है तथा ये तेल आपके चेहरे से झुर्रियों को भी हटाने में बहुत ही मददगार है -

आपके बच्‍चों की मालिश(Baby massage) के लिये लाभकारी तेल-

बच्‍चों के शरीर में तेल की मालिश से ताकत आती है इसलिए छोटे बच्‍चों की हर दिन मालिश की जाती है ताकि उनका शरीर स्‍वस्‍थ बना रहें वैसे तो बच्‍चों की मालिश के लिए कई प्रकार के तेल आते हैं और लोगों का हर तेल के बारे में अलग मत होता है-

स्‍टेप बाई स्‍टेप ऐसे करें अपने बच्चे की मालिश- 

सच्‍चाई तो यह है कि तेल की हर बूंद बच्‍चे के शरीर में ताकत लाता है उसके शरीर को पोषण प्रदान करता है तथा इससे बच्‍चे की त्‍वचा मुलायम रहती है और उसकी त्‍वचा को अतिरिक्‍त मॉइश्‍चर भी मिलता है-

नारियल का तेल(Coconut oil) का प्रयोग-

इस तेल को कई जगह गरी का तेल भी कहा जाता है यह तेल, नाजुक त्‍वचा के काफी लाभकारी होता है इसे लगाने से बच्‍चे के शरीर के इंफेक्‍शन आदि भी सही हो जाते हैं-

तिल के तेल(Sesame oil) का प्रयोग-

अगर आपके बच्‍चे की त्‍वचा खींच जाती है तो तिल का तेल लगाएं और उसी से मालिश करें- यह तेल मालिश करने के लिए काफी अच्‍छा माना जाता है लेकिन यह नकली न हों- वरना इससे नुकसान भी हो सकता है- इस तेल को लगाने से शरीर में गर्माहट आती है इसलिए इस तेल को सर्दियों के दिनों में इस्‍तेमाल करें-

बादाम के तेल(Almond oil) का प्रयोग-

बादाम का तेल बच्‍चे ही नहीं हर उम्र के लोगों के लिए लाभप्रद होता है क्युकि इसमें विटामिन ई की भरपूर मात्रा होती है जिससे शरीर को ताकत मिलती है-

सूरजमूखी के तेल(Sunflower oil) का प्रयोग-

सूरजमूखी का तेल सामान्‍य तौर पर खाने के लिए इस्‍तेमाल किया जाता है और यह त्‍वचा के लिए पूरी तरह से सुरक्षित होता है- इसमें विटामिन ई और फैटी एसिड होता है जो शरीर को मजबूती प्रदान करता है- इससे बच्‍चे की त्‍वचा पोषित करने से उसके शरीर को काफी लाभ होगा-

कैलेंडुला तेल(Calendula Oil) का प्रयोग-

आपने कैलेंडुला के फूल के बारे में सुना है लेकिन इसके ऑयल के बारे में भी जानिए- इसके तेल में कई गुण छुपे होते है जो नाजुक त्‍वचा की नमी को बनाएं रखते हैं और उसके मजबूती भी देते हैं-

केमोमाइल तेल(Camomile oil) का प्रयोग-

यह एक बढि़या तेल होता है जिसमें नवजात शिशु की त्‍वचा के लिए सभी आवश्‍यक तत्‍व होते हैं- इसे लगाने से बच्‍चे की त्‍वचा में रैशेज नहीं पड़ते हैं और उसे किसी प्रकार का संक्रमण भी नहीं होता है-

अरंडी के तेल(Castor oil) का प्रयोग-

अरंडी के तेल के बारे में आप सभी ने सुना होगा- यह तेल बच्‍चे की त्‍वचा को पोषण प्रदान करता है और त्‍वचा, बालों और नाखूनों को मजबूत बनाता है- इन्‍हे ड्राई होने से बचाता है आप इससे बच्चे के शरीर की मालिस कर सकती हैं बस इसे बच्‍चे की अांखों और ओठों पर न लगने दें-

जैतून के तेल(Olive oil) का प्रयोग-

जैतून के तेल से शरीर में ताकत आती है अगर बच्‍चा बहुत ज्‍यादा कमजोर है तो जैतून के तेल से ही मालिश करें- इससे त्‍वचा को पूरा पोषण मिलेगा और किसी भी प्रकार की पपड़ी आदि नहीं जमेगी-जिससे बच्‍चे की त्‍वचा पर दाने हो जाएं-

टी-ट्री तेल(Tea-tree oil) का प्रयोग-

डॉक्‍टर्स का मानना है कि चाय की पत्‍ती से निकला हुआ तेल बहुत फायदेमंद होता है- यह प्राकृतिक होता है और इसमें एंटी-बॉयोटिक गुण होते है जो बच्‍चे के लिए लाभकारी होते है-

देखे-  Mosquito Repellents-मच्छर भगाने का देशी प्रयोग 

Upcharऔर प्रयोग-

1 टिप्पणी :

  1. इनमें कुछ तेल ऐसे हैं जिनका नाम पहली बार चुना है जैसे ग्रेप सीड आयल,जोजोबा,अवाकाडो ये मिलेंगे कहाँ pl.बताएं

    उत्तर देंहटाएं

-->