Testicles-अण्डकोष में पानी भरना

Hydrocele-हाइड्रोसील रोग किसी भी व्यक्ति के यौन अंगो में विजातीय द्रव्यों के इकट्ठा होने के कारण होता है या फिर अधिक भारी वजन,अधिक पैदल चलने,या अत्यधिक संभोगक्रिया के कारण भी अंडकोष(Testicles) में पानी भर जाने से होता है-गलत तरीके से खान-पान की आदतें तथा समय पर खाना न खाने के कारण यह रोग व्यक्ति को हो जाता है-

Testicles


रोग जो दवा से दबाए गए हो या फिर संभोग उत्तेजना(Sexual stimulation) को एक दम से रोक देने के कारण भी यह रोग हो जाता है-मल-मूत्र के वेग को रोकने के कारण भी यह रोग हो सकता है-इस रोग में रोगी के अण्डकोषों में पानी भर जाता है जिसके कारण उसके अण्डकोष में सूजन(swelling) आ जाती हैं जब यह रोग किसी व्यक्ति को होता है तो उसके केवल एक ही तरफ के अण्डकोष में पानी भरता है इस रोग का इलाज प्राकृतिक चिकित्सा से किया जा सकता है-

लक्षण(Symptoms)-

प्राकृतिक चिकित्सा के अनुसार इस रोग के कारण रोगी व्यक्ति के अण्डकोषों में दर्द होने लगता है रोगी के अण्डकोष(Testicles) का एक भाग सूज जाता है और कभी-कभी तो ये इतने बढ़ जाते है कि व्यक्ति को चलने फिरने में दिक्कत होने लगती है यदि रोगी व्यक्ति के अंडकोष में सूजन के साथ तेज दर्द होने लगता है तो समझना चाहिए कि रोगी व्यक्ति को हाइड्रोसील(Hydrocele) अण्डकोषों में पानी भर जाने का रोग हो गया है- जब यह रोग धीरे-धीरे बढ़ता है तो इसके कारण जननेन्द्रिय की सारी नसें कमजोर और ढीली पड़ जाती हैं जिसके कारण रोगी व्यक्ति को उल्टी तथा मितली भी होने लगती है और कब्ज भी रहने लगती है-

प्राकृतिक चिकित्सा उपचार(Naturopathy treatment)-


  1. इस रोग को ठीक करने के लिए पीले रंग की बोतल का सूर्यतप्त जल(Surytpt water) 25 मिलीलीटर की मात्रा में प्रतिदिन 4 बार सेवन करना चाहिए तथा इस जल का सेवन करने से पहले रोगी व्यक्ति को एक घण्टे तक लाल प्रकाश और उसके बाद कम से कम 2 घण्टे तक नीला प्रकाश अण्डकोष पर डालना चाहिए- जिसके फलस्वरूप यह रोग कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है-
  2. इस रोग का प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार करने के लिए रोगी व्यक्ति को कम से कम 2 सप्ताह तक प्रतिदिन संतरे का रस या अनार का रस पीना चाहिए- रोगी को कच्चे सलाद में नींबू डालकर सेवन करना चाहिए और उपवास रखना चाहिए-
  3. रोगी व्यक्ति को कटिस्नान, मेहनस्नान, सूखा घर्षण, गर्म एवं नमक स्नान (नमक मिले पानी से स्नान) करना चाहिए- इससे यह रोग जल्दी ही ठीक हो जाता है-
  4. इस रोग से पीड़ित रोगी को खुली हवा में व्यायाम करना चाहिए तथा इसके साथ सूर्य स्नान(Sun Shower) भी करना चाहिए-इस प्रकार से रोगी का इलाज प्राकृतिक चिकित्सा से करने से रोग बहुत जल्दी ही ठीक हो जाता है-


घरेलू उपाय(Home Remedies)-


पांच ग्राम काली मिर्च(Black pepper) और दस ग्राम जीरे का चूर्ण(cumin powder) आपस में मिलाके एक पेस्ट बनाए और इस पेस्ट को गर्म करे फिर इस पेस्ट में आप इतना गर्म पानी मिलाये कि एक पतला घोल बन जाए अब इस घोल को बढे हुए अंडकोषों(Testicles) पर लेप करके सो जाए इस प्रकार तीन-चार दिनों तक करने से फायदा दिखेगा जब तक पूर्ण आराम न हो करे-

और भी देखे-

Upcharऔर प्रयोग-
loading...

2 comments

Sir mughe 1saal pahle haidrosheel hua tha wo apne aap thik ho giya ab mujhe fir dusri tarf 3mhine pahle haidrosheel ho giya lakin mare ab dard nahi hota iska ilaj bateye


EmoticonEmoticon