Tea allergy-चाय पीने से एलर्जी

10:03 pm Leave a Comment
नगर की एक बडी फेक्ट्री के मेनेजर अपने बेटे के हाथ में हुए फ्रेक्चर की चिकित्सा के लिये मेरे निवास पर आये-सौजन्यवश मैंने उनसे चाय के लिये पूँछा- उन्होंने कहा चाय तो मैं पी ही नहीं सकता हूँ मुझे चाय से ऐलर्जी है और उन्होंने मुझे यह बताया कि मैं फेक्ट्री के काम से देहली मुम्बई आदि बडे नगरों में जाता रहता हूँ तथा ऑल इण्डिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडीकल सांइन्स देहली तथा अपोलो हॉस्पिटल मुम्बई में जाँच करवाने के वाद भी किस चीज की ऐलर्जी है कुछ पता नहीं लग सका-मैंने उनसे पूँछा कि क्या वे कॉफी पी सकते हैं? उन्होंने कहा कि हाँ-मुझे कॉफी से कोई कष्ट नहीं होता है-

Tea allergy


मैंने उनसे पूँछा कि क्या वे ऐनासिन की गोली खा सकते हैं उन्होंने कहा कि खा सकते हैं. मैंने अपने मन में विचार किया कि इन्हैं कैफीन,फिनासिटीन आदि से तो ऐलर्जी है नहीं तो चाय में कुछ अन्य तत्व होना चाहिये-

होम्योपैथी में चाय से जो दवा बनती है उसे थिया(Thea) कहते हैं फिर मेरे थिया का अध्यन करने पर ज्ञात हुआ कि इसमें अन्य तत्वों के अतिरिक्त टेनिन नाम का तत्व भी होता है चाय पीने से उन्हैं पेट में दर्द के अतिरिक्त बहुत अधिक पतलेदस्त होने लगते थे जो कि टेनिन में भी पाये जाते हैं-

टेनिन से ऐलर्जी सुनिश्चित करने के लिये मैं बाजार से टेनिन की पाँच मिलीग्राम की गोली लाया और उनसे कहा कि किसी छुट्टी के दिन जब उन्हैं कहीं बाहर न जाना हो तब वह इस गोली को खायें- गोली ने उनको वही प्रभाव दिखाया जो चाय से होता था- 

जब मैंने उन्हैं बताया कि उन्हैं टेनिन से ऐलर्जी है तो उन्हैं बडा आश्चर्य हुआ कि बिना किसी प्रयोगशाला में जाँच किये बिना मैंने कैसे उनकी ऐलर्जी की सही सही जाँच करली है-

मैं यहाँ आपको टेनिन केवारे में कुछ बताना चाहूँगा- टेनिन वही रसायन है जिससे कच्चे चमडे को पकाया जाता है-पेट में पित्त के हायड्रोक्लोरिक ऐसिड से मिलने पर यह टेनिक ऐसिड में बदल जाता है-इसका दुष्परिणाम यह होता है कि आमाशय की दीवारें पक सी जातीं हैं और पेट चमडे का ऐक थैला बन कर रह जाता है-यही कारण है कि अधिक चाय पीनेबालों की पाचनशक्ति क्षीण हो जाती है और भूख लगना बन्द होजाती है-

चाय यों तो आज राष्ट्रीय पेय का स्थान रखता है परन्तु उसके द्वारा हानि को देखते हुए इसे कम ही पियें और खाली पेट तो कभी भी नहीं पियें- बेड टी लेने वालों को मेरी सलाह है कि कम से कम सुबह खाली पेट चाय लेना बंद कर दे आपको खुद-ब-खुद ही एहसास होगा कि आपकी भूंख भी खुल रही है और एसिडिटी की भी शिकायत नहीं है - 

होम्योपैथी में इसकी प्रतिरोधक दवा है चायना(China)-अर्थात् या तो चाय ना पियें या फिर चायना खायें-

और भी देखे-

संपर्क पता-

KAAYAKALP

Homoeopathic Clinic & Research Centre

23,Mayur Market, Thatipur, Gwalior(M.P.)-474011

Director & Chief Physician:

Dr.Satish Saxena D.H.B.

Regd.N.o.7407 (M.P.)

Mob :  09977423220(फोन करने का समय - दिन में 12 P.M से शाम 6 P.M)(WHATSUP भी  यही नम्बर है)

Dr. Manish Saxena

Mob : -09826392827(फोन करने का समय-सुबह 10A.M से शाम4 P.M.)(WHATSUP भी  यही नम्बर है )

Clinic-Phone - 0751-2344259 (C)

प्रस्तुति- Upcharऔर प्रयोग-

0 comments :

एक टिप्पणी भेजें

TAGS

आस्था-ध्यान-ज्योतिष-धर्म (38) हर्बल-फल-सब्जियां (24) अदभुत-प्रयोग (22) जानकारी (22) स्वास्थ्य-सौन्दर्य-टिप्स (21) स्त्री-पुरुष रोग (19) पूजा-ध्यान(Worship-meditation) (17) मेरी बात (17) होम्योपैथी-उपचार (15) घरेलू-प्रयोग-टिप्स (14) चर्मरोग-एलर्जी (12) मुंह-दांतों की देखभाल (12) चाइल्ड-केयर (11) दर्द-सायटिका-जोड़ों का दर्द (11) बालों की समस्या (11) टाइफाइड-बुखार-खांसी (9) पुरुष-रोग (8) ब्लडप्रेशर (8) मोटापा-कोलेस्ट्रोल (8) मधुमेह (7) थायराइड (6) गांठ-फोड़ा (5) जडी बूटी सम्बन्धी (5) पेशाब में जलन(Dysuria) (5) हीमोग्लोबिन-प्लेटलेट (5) अलौकिक सत्य (4) पेट दर्द-डायरिया-हैजा-विशुचिका (4) यूरिक एसिड-गठिया (4) सूर्यकिरण जल चिकित्सा (4) स्त्री-रोग (4) आँख के रोग-अनिंद्रा (3) पीलिया-लीवर-पथरी-रोग (3) फिस्टुला-भगंदर-बवासीर (3) अनिंद्रा-तनाव (2) गर्भावस्था-आहार (2) कान-नाक-गले का रोग (1) टान्सिल (1) ल्यूकोडर्मा-श्वेत कुष्ठ-सफ़ेद दाग (1) हाइड्रोसिल (1)
-->