Blood donation-रक्तदान क्यों करे

हमारे देश आज भी काफी लोग ऐसे है जिन्होंने सिर्फ इस गलत फहमी के कारण कभी रक्त दान नहीं किया होगा कि खून देने से कमजोरी आती है लेकिन हमारे देश में बहुत से लोग ऐसे भी है जो वर्ष में एक नहीं दो बार से जादा भी अपना रक्तदान(Blood donation)करते है जरा सोचे ईश्वर ने आपको एक ऐसी नियामित दी है जिससे आप लोगों का जीवन बचा कर उन्हें नई जिन्दगी दे सकते है और इसमें आपका कोई नुकसान भी नहीं होगा बल्कि ये सोचकर शुकून ही मिलेगा कि आपके दान से किसी की जिन्दगी बच सकती है-

Blood donation


जब किसी का एक्सीडेंट या कोई ऐसी बिमारी जिसमे जान बचाना मुसकिल होता है आपके रक्त दान से जीवन प्राप्त हो ऐसा दान सभी दान से उत्तम महादान कहलाता है -

हमारे देश में जितने रक्त की वार्षिक आवश्यकता है उसकी तुलना में हमारे देश रक्तदाताओं की संख्या काफी कम है-वैसे देखा गया है कोई बात समझाने से लोग ये समझ लेते है कि ये बात उन पे थोपी जा रही है इसलिए हमारे देश में ये नियम बना दिया गया है कि अगर किसी को रक्त चढाने की आवश्यकता है तो उसके निकट या सम्बन्धी को पहले रक्तदान करना होगा फिर आपको बैंक से रक्त मिलेगा-

क्युकि अगर हम सभी जागरूक होते और समझते कि इसका महत्व क्या है तो हमारे देश में ब्लड आपको बैंक से आसानी से मिल जाता है लेकिन इस जागरूकता के लिए कोई कानून नहीं सिर्फ आपको अपनी अंतरात्मा की आवाज ही प्रेरित कर सकती है -

यदि हर व्यक्ति वर्ष में सिर्फ एक बार अपनी स्वेक्षा से रक्त दान कर दे तो न जाने कितनी जिंदगियां बचाई जा सकती है भगवान् आपको नहीं कहने आयेगे ये तो आपके आत्मा की आवाज है जो -जब जागरूक होगी तो कोई न कोई जिन्दगी हंस रही होगी- 

रक्त दान से आपको स्वयं के लिए भी कई लाभ है जिनसे आप अभी तक अनजान है आपको दूसरी पोस्ट में बताने का प्रयास करेगे-

और भी देखे-

Upcharऔर प्रयोग-
loading...
Share This Information With Your Friends
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें