Tratak Meditation-त्राटक ध्यान क्या है

Tratak Meditation-त्राटक ध्यान क्या है 


Trāṭaka त्राटक शब्द 'त्रि' के साथ 'टकी बंधने' की संधि से बना है अर्थात् जब साधक किसी वस्तु पर अपनी दृष्टि और मन को बांधता है, तो वह क्रिया त्र्याटक कहलाती है। त्र्याटक शब्द ही आगे चलकर त्राटक हो गया। इसका शुद्ध शब्द त्र्याटक है जिसकी व्युत्पत्ति है-

Tratak Meditation


'त्रिवारं आसमन्तात् टंकयति इति त्राटकम्'। 

क्या है Trāṭaka त्राटक-


किसी वस्तु को जब हम एक बार देखते हैं तो यह देखने की क्रिया एकटक कहलाती है और उसी वस्तु को जब हम कुछ देर तक देखते हैं तो द्वाटक कहलाती है। Reed More-
loading...
Share This Information With Your Friends
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें