This website about Treatment and use for General Problems and Beauty Tips ,Sexual Related Problems and his solution for Male and Females. Home treatment,Ayurveda treatment ,Homeopathic Remedies. Ayurveda treatment tips in Hindi and also you can read about health Related problems and treatment for male and female

19 सितंबर 2016

ग्रीन टी क्या है इसे आप कैसे बनायें

By
Green Tea-ग्रीन टी के लाभकारी गुणों के बारे में तो ज्यादातर हम सभी अक्सर सुनते ही रहते है ग्रीन टी में अधिक मात्रा में पौषक तत्व पाये जाते है जो हमारे इम्युनिटी सिस्टम स्ट्रांग बनाते है जिससे हमारा शरीर विभिन्न तरह के रोगों से लड़ने लिये मजबूत हो जाता है ग्रीन टी(Green Tea) को मॉर्निंग ड्रिंक की तरह यूज़ करने के अलावा इसे हम अलग-अलग के तरह घरेलू नुस्खों और सौंदर्य संबंधी नुस्खों में भी इस्तेमाल करते है-
Green Tea


आज के समय में चाय सभी की ज़रूरत है आप किसी के यहां जाएं तो स्वागत चाय से ही होता है अब तो ग्रामीण इलाकों में भी चाय का प्रचलन बहुत बढ़ गया है किसी से कोई चर्चा करनी हो तो चाय के साथ ही होती है- दरअसल-चाय पीते ही आलस खत्म हो जाता है और लगता है कि तन-मन में एक नई स्फूर्ति आ गई है- 

लोग घरों में तो चाय पीते ही हैं पर देखने में आता है कि ऑफिस में चाय की ज़्यादा जरूरत महसूस होती है- अगर हम Green tea(ग्रीन टी) पिएं-तो यह हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होने के साथ सुंदरता के लिए भी रामबाण है-

चलिए आज हम भी आपसे घर पर ग्रीन टी बनाने की विधि शेयर करेंगें जिससे आप भी इसे आसानी से बनाकर तैयार कर सकें तो आईये आज हम स्वादिष्ट और पौष्टिक ग्रीन टी (Green Tea) बनायेंगें-

सामग्री-

ग्रीन टी पत्ती (Green tea leef)- 1 चम्मच
पानी (Water)- डेढ़ कप
इलाइची पाउडर (Cardamom Powder)-1-2 पिंच
चीनी (Sugar) या शहद (Honey)- 1 चम्मच या फिर स्वादानुसार

विधि-

Green Tea-ग्रीन टी बनाने के लिये सबसे पहले एक पैन में पानी डालकर गरम करने के लिये गैस पर रखें जब पानी में उबाल आ जाए तब उबलते हुये पानी में ग्रीन टी(Green Tea) पाउडर डालकर गैस बंद दें और पैन को एक प्लेट से ढक दें जिससे ग्रीन टी पाउडर फ्लेवर पानी में अच्छी तरह से आ जाये अब करीब 2 मिनट के बाद ग्रीन टी को एक छन्नी की सहायता से एक कप में छानकर निकाल लें और अब इस छनी हुई चाय में अपने स्वाद के अनुसार चीनी या फिर शहद और इलाइची पाउडर को डालकर चम्मच से अच्छी तरह मिक्स कर लें-स्वादिष्ट और पौष्टिक ग्रीन टी (Green Tea) बनकर तैयार गयी है-

आप ग्रीन टी को हल्का गुनगुना या फिर ठंडा करके सर्विंग कप में निकालकर सर्व करें-ग्रीन टी एंटी ऑक्सीडेंट की तरह काम करती है-

क्या फायदे है-


  1. एक्सरसाइज़ और वर्कआउट से भी आपको लग रहा है कि आपका वज़न कम नहीं हो रहा है तो आप दिन में ग्रीन टी(Green Tea) पीना शुरू करें-
  2. ग्रीन टी में एंटी-ऑक्सीडेंट्स होने की वजह से यह बॉडी के फैट को खत्म करती है-
  3. Green Tea-ग्रीन टी बॉडी के वज़न को स्थिर रखती है-ग्रीन टी से फैट ही नहीं बल्कि मेटाबॉल्ज़िम भी स्ट्रान्ग रहता है और डाइजेस्टिव सिस्टम की परेशानियां भी खत्म होती हैं-
  4. यह मोटापा कम करने के लिये काफी सहायक सिद्ध होती है इसलिये ग्रीन टी(Green Tea) को रोजाना कम से कम एक बार अपनी दिनचर्या में जरूर शामिल करें-
  5. फ्रेश तैयार हरी चाय शरीर के लिए अच्छी और स्‍वस्‍थ्‍य वर्धक होती है आप इसे या तो गर्म या ठंडा कर के पी सकते हैं लेकिन इस बात का यकीन हो कि चाय एक घंटे से अधिक समय की पुरानी ना हो- 
  6. ज्‍यादा खौलती गर्म चाय गले के कैंसर को न्‍यौता दे सकती है-तो बेहद गर्म चाय भी ना पिएं- यदि आप चाय को लंबे समय के लिए स्‍टोर कर के रखेंगे तो, यह अपने विटामिन और एंटी-ऑक्‍सीडेंट खो देगी-इसके अलावा, इसमें मौजूद जीवाणुरोधी गुण भी समय के साथ कम हो जाते हैं-वास्तव में, अगर चाय ज्‍यादा देर के लिये रखी रही तो यह बैक्टीरिया को शरण देना शुरू कर देगी-इसलिये हमेशा ताजी Green Tea ही पिएं-
  7. ग्रीन टी को भोजन से एक घंटा पहले पीने से वजन कम होता है-इसे पीने से भूख देर से लगती है क्‍योंकि यह हमारी भूख को कंट्रोल करती है ग्रीन टी को सुबह-सुबह खाली पेट बिल्‍कुल भी नहीं पीनी चाहिये-
  8. दवाई और ग्रीन टी का साइड इफेक्‍ट हटाने के लिये इन दोंनो चीजों को कभी भी एक साथ ना लें-दवाई को हमेशा पानी के साथ ही लेना चाहिये-
  9. ज्‍यादा स्‍ट्रॉग ग्रीन टी(Green Tea) में कैफीन और पोलीफिनॉल की मात्रा बहुत ज्‍यादा होती है-ग्रीन टी में इन सब सामग्री से शरीर पर खराब प्रभाव पड़ता है तेज और कड़वी ग्रीन टी पीने से पेट की खराबी, अनिद्रा और चक्‍कर आने जैसी समस्‍या पैदा हो सकती है-
  10. अत्‍यधिक चाय नुक्‍सानदायक हो सकती है-इसी तरह से अगर आप रोजाना 2-3 कप से ज्‍यादा ग्रीन टी पिएंगे तो यह नुकसान ही करेगी-क्‍योंकि इसमें कैफीन होती है इसलिये तीन कप से ज्‍यादा चाय ना पिएं-
  11. और भी देखे-

Upcharऔर  प्रयोग-

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें