Herpes-हार्पिस यौन(एच आई वी) रोग से सावधानी रक्खें

आज दुनियाभर में 50 वर्ष की उम्र के आयु वर्ग के लोगों में लगभग दो तिहाई प्रतिशत भाग वाले लोग Herpes-हर्पीस से पीड़ित हैं मगर संक्रमण का कोई लक्षण नहीं दिखाई देता है वैसे तो इस बीमारी का कोई इलाज भी नहीं है हर्पीस शाब्दिक अर्थ है "धीरे-धीरे बढ़ता हुआहांलाकि अगर आपको Herpes जानकारी हो तो आप इससे बच सकते हैं और इसका जल्दी इलाज शुरु कर सकते हैं हर्पीस(Herpes)एक यौन रोग(sexual dysfunction) है जो यौन संबंध(Sex)दृारा फैलता है-

Herpes-हार्पिस यौन(एच आई वी) रोग से सावधानी रक्खें


हार्पिस(Herpes)एक विषाणुजनित रोग है जो सरल परिसर्प विषाणु 1 (एचएसवी-1) (HSV-1)और सरल परिसर्प विषाणु 2 (एचएसवी-2) (HSV-2) दोनों के कारण होता है-ये रोगग्रस्त व्यक्ति में छाले के रूप में प्रकट होते हैं जिसमें संक्रामक विषाणु के अंश होते हैं जो 2 से 21 दिनों तक प्रभावी रहते हैं और उसके बाद जब रोगी की हालत में सुधार होने लगता है तो ये घाव गायब हो जाते हैं-

हर्पीस(Herpes)दो प्रकार का होता है-

पहला ओरल और दूसरा जेनाइटल

इसे HSV 1 और HSV 2 Virus भी कहते हैं- दुर्भाग्‍यवश इसके इलाज के लिये कोई दवा नहीं बनी है पर रिसर्च चल रही है-इस बीमारी में निकलने वाले छाले महिलाओं की बच्चेदानी एवं पुरूषों के मू्त्र-मार्ग(Urinary-tract)को भी अपनी चपेट में ले सकते हैं-

एच आई वी(Human Imyundifishianshi virus)एक विषाणु है जो बॉडी के इम्‍यून सिस्टम पर नकारात्मक प्रभाव ड़ालता है और व्यक्ति के शरीर में उसकी प्रतिरोधक(Resistant) क्षमता को दिनोंदिन कमजोर कर देता है एच आई वी के शुरूआती स्टेज में इसका पता नहीं चल पाता है और व्यक्ति को इलाज करवाने में देर हो जाती है-

आइये जानते है इसके लक्षण-

पिछले कुछ दिनों से पहले से ज्‍यादा थकान होना या हर समय थकावट महसूस करना एच आई वी का शुरूआती लक्षण होता है-

हर दो तीन दिन में बुखार महसूस होना और कई बार तेजी से बुखार आना "एच आई वी" का सबसे पहला लक्षण होता है-

आपने किसी प्रकार का भी भारी काम नहीं किया या फिर आप शारीरिक मेहनत का कोई काम नहीं करते है फिर भी मांशपेशियों में हमेशा तनाव और अकड़न रहती है यह भी "एच आई वी" का लक्षण होता है-

ढ़लती उम्र से पहले ही अगर आपके जोड़ों में दर्द और सूजन हो जाती है तो आपको एच आई वी टेस्ट करवा लेना आवश्यक है-

अक्सर कम पानी पीने की वजह से गला पकने की शिकायत होती है लेकिन अगर आप पानी पर्याप्त मात्रा में पीते हैं और फिर भी आपके गले में भयंकर खराश और पकना महसूस हो तो यह लक्षण भी हो सकता है-

सिर में हर समय हल्का-हल्का दर्द रहना और सुबह के समय दर्द में आराम और दिन के बढ़ने के साथ दर्द में भी बढ़ोतरी होना भी एच आई वी का सबसे बड़ा लक्षण है-

एच आई वी में मरीज का वजन एकदम से नहीं घटता है हर दिन धीरे-धीरे बॉडी के सिस्टम पर प्रभाव पड़ता है और वजन में कमी होती है अगर पिछले दो महीनों में बिना प्रयास के आपके वजन में गिरावट आई है तो चेक करवा लें-

शरीर में हल्‍के लाल रंग के चकत्ते पड़ना या रेशैज होना भी एच आई वी का लक्षण है-

बिना प्रॉब्‍लम के भी यदि आपको तनाव हो जाता है बात-बात पर रोना आ जाता है तो नि:संदेह आपको एच आई वी की जांच करवाना जरूरी है-

बिना वजह ही मतली आना या फिर खाना खाने के तुरंत बाद उल्टी होना भी शरीर में "एच आई वी" के वायरस का होना इंडीकेट करते हैं-

यदि मौसम आपके बेहद अनुकूल है लेकिन उस हालत में भी नाक बहती रहती है या हर समय छींक आती है और रूमाल का साथ हमेशा चाहिए होता है तब भी आपको "एच आई वी" टेस्ट करा लेना चाहिए-

आपको भयंकर खांसी नहीं हुई थी लेकिन हमेशा Sputum आता रहता है कफ में कोई Blood नहीं आता और मुंह का जायका खराब रहता है अगर आपको इनमें से अधिकाशत: लक्षण अपने शरीर में लगते हैं तो आप "एच आई वी" टेस्ट जरूर करवाएं-

कैसे हो सकता है-

ओरल हर्पीस(Oral herpes) में मुंह या होंठो पर Infection हो जाता है जिसकी वजह से उस जगह पर लाल रंग के दर्द भरे छाले निकल आते हैं यह दानें दाद(Ringworm) की तरह दिखाई देते हैं कई बार लोग इसे Cold sore समझ लेते हैं और यूं ही छोड़ देते हैं-

यह वायरस संक्रमित व्यक्ति से Oral Sex या फिर मुंह के संपर्क से फैलता है यहां तक कि अगर आप रोगी का लिप बाम(Lip Balm)भी शेयर कर रहे हों तो भी आपको यह हो जाएगा पर यह छाले जादा दिनों तक नहीं रहते है-

यौन-अंगों(Sexual organs) के ऊपर अथवा आसपास या गुदा मार्ग(Anus) में छाले दिखाई देते हैं इनमें जलन और खुजलाहट(Irritation and itching) होती है एक बार ठीक होने के बाद कुछ हफ्तों अथवा महीनों के बाद ये छाले फिर से हो सकते हैं पर समय के साथ साथ कम हो जाते हैं-

यह Sex द्वारा फैलता है अगर आप एक से जादा लोगों से यौन संबंध(Sexual relations) रखते हैं तो भी यह वायरस(Virus) आसानी से आप तक पहुंच सकता है इसके लक्षण Sex के दो हफ्तों बाद साफ दिखाई देने लगता है-

जब आपको इसके होने का कोई भी लक्षण ना दिखे तो इसे पहचान पाना थोड़ा मुश्किल होता है अगर पार्टनर पर कुछ लक्षण दिखाई दे रहे हैं तो CDC Test करवाना चाहिए-

वैसे तो Blood Test द्वारा इसका पता लगाया जा सकता है इसमें देखा जाता है कि बीमारी से लड़ने के लिये आपका Immune किस तरह से Response कर रहा है उसके बाद यौन संबंध(Sexual intercourse) बनाने के 10-12 हफ्ते तक का इंतजार करें और अगर आपको लगे कि आपमें वायरस (Virus) के लक्षण आ गए हैं तो STD Test के लिये जाएं और डॉक्टर से Herpes परीक्षण को कहे-यह एक किस्म का Test है जो कि स्पष्ट विधि से सब कुछ बताएगा अपने Doctor से इस Test के बारे में बात करें और बीमारी का पता लगाएं-

इस बीमारी से बचने का सबसे अच्छा तरीका है संभोग के दौरान कंडोम(Condoms) का प्रयोग किया जाए तथा जिस व्यक्ति में यह Virus है उससे उस समय तक दूरी बना कर रखी जाए तब तक कि उसके Herpes के लक्षण खतम ना हो जाएं-

आपको जैसे ही ये लक्षण दिखें वैसे ही अपने Doctor से Checkup करवाएं- हो सकता है कि आपका Doctor आपको Anti-viral दवाएं दे- अगर आप खुद का Treatment जल्दी करवाएंगे तो आप जल्द ही ठीक हो सकेंगे-

और भी देखे-

Upcharऔर प्रयोग-
loading...


EmoticonEmoticon