This website about Treatment and use for General Problems and Beauty Tips ,Sexual Related Problems and his solution for Male and Females. Home treatment,Ayurveda treatment ,Homeopathic Remedies. Ayurveda treatment tips in Hindi and also you can read about health Related problems and treatment for male and female

loading...

24 सितंबर 2016

Teflon coating-टेफलोन कोटिंग बर्तनों का उपयोग एक जहर है

By
Teflon-टेफलोन शीट तो याद होगी सबको कैसे याद नहीं होगी आजकल दिन की शुरुवात ही उससे होती है चाय बनानी है तो नॉन स्टिक तपेली-पतीली-तवा-फ्राई पेन और ना जाने कितने ही बर्तन हमारे घर में है जो टेफलोन कोटिंग(Teflon coating)वाले हैं-टू इजी टू कुक इजी टू क्लीन वाली छवि वाले ये Teflon coating बर्तन हमारी जिंदगी का हिस्सा बन गए है दादी नानी वाला ज़माना याद आ जाता है जब चमकते हुए बर्तन स्टेंडर्ड की निशानी माने जाते थे आजकल उनकी जगह काले बर्तनों ने ले ली-

screen-shot


हम सब Teflon coating बर्तनों को अपने घर में उपयोग में लेते आए है और शायद कोई बहुत बेहतर विकल्प ना मिल जाने तक आगे भी उपयोग करते रहेंगे पर इनका उपयोग करते समय हम ये बात भूल जाते है की ये हमारे शरीर को नुक्सान पहुंचा सकते है या हम में से कई लोग ये बात जानते भी नहीं की सच में ऐसा कुछ हो सकता है कि ये बर्तन हमारी बीमारियाँ बढ़ा सकते है या हमारे अपनों को तकलीफ दे सकते है और हमारे पक्षियों की जान भी ले सकते है-

अरे-जी हाँ चौंकिए मत ये सच है हालाँकि Teflon-टेफलोन को 20 वी शताब्दी की सबसे बेहतरीन केमिकल खोज में से एक माना गया है स्पेस सुइट और पाइप में इसका प्रयोग उर्जा रोधी के रूप में किया जाने लगा है पर ये भी एक बड़ा सच है की ये स्वास्थ के लिए हानिकारक है इसके हानिकारक प्रभाव जन्मजात बीमारियों,सांस की बीमारी जैसी कई बीमारियों के रूप में देखे जा सकते हैं ये भी सच है की जब टेफलोन कोटेड(Teflon coating)बर्तन को अधिक गर्म किया जाता है तो पक्षियों की जान जाने का खतरा काफी बढ़ जाता है कुछ ही समय पहले 14 पक्षी तब मारे गए जब टेफलोन के बर्तन(Teflon coating)को पहले से गरम किया गया और तेज आंच पर खाना बनाया गया है ये पूरी घटना होने में सिर्फ 15 मिनिट लगे.टेफलोन कोटेड बर्तनों में सिर्फ 5 मिनिट में 721 डिग्री टेम्प्रेचर तक गर्म हो जाने की प्रवृति देखी गई है और इसी दोरान 6 तरह की गैस वातावरण में फैलती है इनमे से 2 एसी गैस होती है जो केंसर को जन्म दे सकती है-

अध्ययन बताते हैं कि टेफलोन(Teflon)को अधिक गर्म करने से टेफलोन टोक्सिकोसिस(पक्षियों के मामले में)और पोलिमर फ्यूम फीवर( इंसानों के मामले में)बनने की सम्भावना बहुत बढ़ जाती है -

अब जाने टेफलोन केमिकल के शरीर में जाने से होने वाली बीमारियाँ-

पुरुष इनफर्टिलिटी-

हाल ही में किए गए एक डच अध्यन में ये बात सामने आई है लम्बे समय तक टेफलोन केमिकल के शरीर में जाने से पुरुष इनफर्टिलिटी का खतरा बढ़ जाता है और इससे सम्बंधित कई बीमारियाँ पुरुषों में देखी जा सकती है जैसे-

थायराइड-

हाल ही में एक अमेरिकन एजेंसी द्वारा किया गए अध्यन में ये बात सामने आई कि  टेफलोन की मात्रा लगातार शरीर में जाने से थायराइड ग्रंथि सम्बन्धी समस्याएं हो सकती है-

बच्चे को जन्म देने में समस्या-

केलिफोर्निया में हुई एक स्टडी में ये पाया गया की जिन महिलाओं के शरीर में जल-वायु या भोजन किसी भी माध्यम से पी ऍफ़ ओ(Teflon)की मात्रा सामान्य से अधिक पाई गई उन्हें बच्चो को जन्म देते समय अधिक समस्याओं का सामना करना पड़ा इसी के साथ उनमे बच्चो को जन्म देने की छमता  भी अपेक्षाकृत कम पाई गई-

केंसर या ब्रेन ट्यूमर का खतरा-

एक प्रयोग के दौरान जब चूहों को पी ऍफ़ ओ(Teflon)के इंजेक्शन लगाए गए तो उनमे ब्रेन ट्यूमर विकसित हो गया साथ ही केंसर के लक्षण भी दिखाई देने लगे. पी ऍफ़ ओ जब एक बार शरीर के अन्दर चला जाता है तो लगभग 4 साल तक शरीर में बना रहता है जो एक बड़ा खतरा हो सकता है .

शारीरिक समस्याएं व अन्य बीमारियाँ -

पी ऍफ़ ओ(Teflon)की अधिक मात्रा शरीर में पाई जाने वाली महिलाओं के बच्चो पर भी इसका असर जन्मजात शारीरिक समस्याओं के रूप में देखा गया है इसीस के साथ अद्द्याँ में ये सामने आया है की पी ऍफ़ ओ की अधिक मात्रा लीवर केंसर का खतरा बढ़ा देती है -

टेफलोन(Teflon)के दुष्प्रभाव से बचने के उपाय-

टेफलोन कोटिंग(Teflon coating)वाले बर्तनों को कभी भी गैस पर बिना कोई सामान डाले अकेले गर्म होने के लिए ना छोड़े.इन बर्तनों को कभी भी 450 डिग्री से अधिक टेम्प्रेचर पर गर्म ने करे सामान्यतया इन्हें 350 से 450 डिग्री तक गर्म करना बेहतर होता है टेफलोन कोटिंग वाले बर्तनों में पक रहा खाना बनाने के लिए कभी भी मेटल की चम्मचो का इस्तेमाल ना करे इनसे कोटिंग हटने का खतरा बढ़ जाता है -

टेफलोन कोटिंग(Teflon coating)वाले बर्तनों को कभी भी लोहे के औजार या कूंचे ब्रुश से साफ़ ना करे-हाथ या स्पंज से ही इन्हें साफ़ करे -  

इन बर्तनों को कभी भी एक दुसरे के ऊपर जमाकर ना रखे  घर में अगर पालतू पक्षी है तो इन्हें अपने किचन से दूर रखें अगर गलती से घर में एसा कोई बर्तन ज्यादा टेम्प्रेचर पर गर्म हो गया है तो कुछ देर के लिए घर से बाहर चले जाए और सारे खिड़की दरवाजे खोल दे पर ये गलती बार बार ना दोहराएं क्यूंकि बाहर के वातावरण के लिए भी ये गैस हानिकारक है टूटे या जगह-जगह से घिसे हुए टेफलोन कोटिंग(Teflon coating)वाले बर्तनों का उपयोग बंद कर दे क्यूंकि ये धीरे धीरे आपके भोजन में ज़हर घोल सकते है अगर आपके बर्तन नहीं भी घिसे है तो भी इन्हें 2 साल में बदल लेने की सलाह दी जाती है-

जहाँ तक हो सके इन बर्तनों कम ही प्रयोग करिए इन छोटी छोटी बातों का ध्यान रखकर आप अपने और अपने परिवार के स्वास्थ को बेहतर बना सकते हैं-


Upcharऔर प्रयोग-

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें