Evil eye-नजर लगी है तो उतारने के उपाय

10:04 pm 1 comment
बुरी Evil eye-नजर लग जाए तो हरा-भरा पेड़ भी सूख जाता है तो फिर इंसान की क्या मजाल है पिछली पोस्ट में हमने बताया था की कि नजर(Evil eye)लगने का क्या होता है और उसका क्या वैज्ञानिक आधार है इस पोस्ट में हम आपको Evil eye(नजर) उतारने के कुछ प्रयोगों का वर्णन करेगें-

Evil eye


हम लाये है आपके लिए ऐसे ही कुछ उपाय जिनको करके आप अपने को खुद भी सुरक्षित रख सकते है और दूसरों का भी भला कर सकते है बड़े ही आसान प्रयोग है आप बस चाहे तो साधारण से प्रयोग को सूर्य ग्रहण,दिवाली,होली आदि पड़ने वाले समय पर इसे दिए गए सुझाव से सिद्ध कर सकते है एक बार सिद्ध होते ही ये साल भर पूरी तरह कार्य करता है अगले साल आप इसे दुबारा जाग्रत कर ले और इसका प्रयोग करे ताकि फिर आपको किसी तांत्रिक-मान्त्रिक के पास जाने की आवश्यकता भी नहीं रह जायेगी-ये एक बार अवश्य करके देखे और अपने परिवार के हित में और दूसरों के हित के लिए नजर(Evil eye)उतारने में प्रयोग करें-

नजर(Evil eye)उतारने के लिए करे ये उपाय-
  1. यदि बच्चे ने दूध पीना या खाना छोड़ दिया हो तो आप रोटी या दूध को बच्चे पर से ‘आठ’ बार उतार के कुत्ते या गाय को खिला दें-
  2. किसी भी व्यक्ति जिसको नजर(Evil eye)लगी है आप नमक,कुछ राई के दाने,पीली सरसों,लाल मिर्च,पुरानी झाडू का एक टुकड़ा लेकर नजर लगे व्यक्ति पर से ‘आठ’ बार उतार कर अग्नि में जला दें-यदि ‘नजर’ लगी होगी तो मिर्चों के जलने धांस नहीँ आयेगी-वर्ना आप भी जानते है कि खांसते -खांसते बुरा हाल हो  जाता है-
  3. अगर आपको ये शंका हो कि इस व्यक्ति ने ही नजर(Evil eye)लगाई है तो उस व्यक्ति को आप बुलाकर ‘नजर’ लगे व्यक्ति पर उससे हाथ फिरवाने से लाभ होता है-
  4. पश्चिमी देशों में नजर(Evil eye)लगने की आशंका के चलते ‘टच वुड’ कहकर लकड़ी के फर्नीचर को छू लेता है और ऐसी मान्यता है कि उसे नजर नहीं लगेगी-
  5. ईसाई धर्म में गिरजाघर से पवित्र-जल लाकर नजर(Evil eye) लगे व्यक्ति को पिलाने का भी चलन है-
  6. इस्लाम धर्म के अनुसार ‘नजर’ वाले पर से ‘अण्डा’ या ‘जानवर की कलेजी’ उतार के ‘बीच चौराहे’ पर रख दें-दरगाह या कब्र से फूल और अगर-बत्ती की राख लाकर ‘नजर’ वाले के सिरहाने रख दें या खिला दें-
  7. एक लोटे में पानी लेकर उसमें नमक,खड़ी लाल मिर्च डालकर आठ बार उतारे-फिर थाली में दो आकृतियाँ- एक काजल से, दूसरी कुमकुम से बनाए और लोटे का पानी थाली में डाल दें फिर एक लम्बी काली या लाल रङ्ग की बिन्दी(रुई की मोटीबाती)लेकर उसे तेल में भिगोकर ‘नजर’ वाले पर उतार कर उसका एक कोना चिमटे या सँडसी से पकड़ कर नीचे से जला दें और उसे थाली के बीचो-बीच ऊपर रखें तब गरम-गरम काला तेल पानी वाली थाली में गिरेगा और यदि नजर लगी होगी तो फिर छन-छन आवाज आएगी-अन्यथा नहीं-
  8. एक नींबू लेकर आठ बार उतार कर काट कर फेंक दें-
  9. चाकू से जमीन पे एक आकृति बनाए और फिर चाकू से ‘नजर’ वाले व्यक्ति पर से एक-एक कर आठ बार उतारता जाए और आठों बार जमीन पर बनी आकृति को काटता जाए इससे भी लगी नजर(Evil eye)उतर जाती है-
  10. गो-मूत्र पानी में मिलाकर थोड़ा-थोड़ा पिलाए और उसके आस-पास पानी में मिलाकर छिड़क दें यदि स्नान करना हो तो थोड़ा स्नान के पानी में भी डाल दें-
  11. थोड़ी सी राई,नमक,आटा या चोकर और 3, 5 या 7 लाल सूखी मिर्च लेकर-जिसे ‘नजर’ लगी हो-उसके सिर पर सात बार घुमाकर आग में डाल दें- ‘नजर-दोष' होने पर मिर्च जलने की गन्ध नहीं आती है ये उत्तम उपाय है-
  12. पुराने कपड़े की सात चिन्दियाँ लेकर,सिर पर सात बार घुमाकर आग में जलाने से ‘नजर’ उतर जाती है-
  13. झाडू को चूल्हे या गैस की आग में जला कर फिर चूल्हे या  गैस की तरफ पीठ कर के,बच्चे की माता इस जलती झाडू को 7 बार इस तरह स्पर्श कराए कि आग की तपन बच्चे को न लगे और तत्पश्चात् झाडू को अपनी टागों के बीच से निकाल कर बगैर देखे ही,चूल्हे की तरफ फेंक दें-कुछ समय तक झाडू को वहीं पड़ी रहने दें-बच्चे को लगी नजर दूर हो जायेगी-
  14. नमक की डली,काला कोयला,डंडी वाली 7 लाल मिर्च,राई के दाने तथा फिटकरी की डली को बच्चे या बड़े पर से 7 बार उबार कर फिर आग में डालने से सबकी नजर दूर हो जाती है-
  15. फिटकरी की डली को, 7 बार बच्चे या बड़े या पशु पर से 7 बार उबार कर आग में डालने से नजर तो दूर होती ही है तथा नजर लगाने वाले की धुंधली-सी शक्ल भी फिटकरी की डली पर आ जाती है और फिटकरी के फूलने पे उसकी आकृति दिखती है-
  16. तेल की बत्ती जला कर,बच्चे या बड़े या पशु पर से 7 बार उबार कर दोहाई बोलते हुए दीवार पर चिपका दें और यदि नजर लगी होगी तो तेल की बत्ती भभक-भभक कर जलेगी और नजर न लगी होने पर शांत हो कर जलेगी-
Upcharऔर प्रयोग-

1 टिप्पणी :

TAGS

आस्था-ध्यान-ज्योतिष-धर्म (55) हर्बल-फल-सब्जियां (24) अदभुत-प्रयोग (22) जानकारी (21) स्वास्थ्य-सौन्दर्य-टिप्स (21) स्त्री-पुरुष रोग (19) एलर्जी-गाँठ-फोड़ा-चर्मरोग (17) मेरी बात (17) होम्योपैथी-उपचार (15) घरेलू-प्रयोग-टिप्स (14) मुंह-दांतों की देखभाल (12) चाइल्ड-केयर (11) दर्द-सायटिका-जोड़ों का दर्द (11) बालों की समस्या (11) टाइफाइड-बुखार-खांसी (9) पुरुष-रोग (8) ब्लडप्रेशर (8) मोटापा-कोलेस्ट्रोल (8) मधुमेह (7) थायराइड (6) पेशाब रोग-हाइड्रोसिल (6) जडी बूटी सम्बन्धी (5) हीमोग्लोबिन-प्लेटलेट (5) अलौकिक सत्य (4) पेट दर्द-डायरिया-हैजा-विशुचिका (4) यूरिक एसिड-गठिया (4) सूर्यकिरण जल चिकित्सा (4) स्त्री-रोग (4) आँख के रोग-अनिंद्रा (3) पीलिया-लीवर-पथरी-रोग (3) फिस्टुला-भगंदर-बवासीर (3) अनिंद्रा-तनाव (2) गर्भावस्था-आहार (2) कान-नाक-गले का रोग (1) टान्सिल (1) ल्यूकोडर्मा-श्वेत कुष्ठ-सफ़ेद दाग (1)
-->