loading...

11 मई 2017

क्या आप बच्चों के पेट के कीड़ों से परेशान है

आमाशय और अंतड़ियों में बहुत से विकार पाए जाते हैं उनमें से पेट का कृमि(Stomach Worms)रोग भी आपके बच्चे को परेशान करता है ये कृमि लगभग 20 प्रकार के होते हैं जो अंतड़ियों में घाव पैदा कर देते हैं अत: आपका रोगी बच्चा बेचैन हो जाता है तथा ये पेट में वायु को बढ़ा देते हैं जिसके कारण हृदय की धड़कन भी बढ़ जाती है-

 
क्या आप बच्चों के पेट के कीड़ों से परेशान है

बच्चों में पेट के कीड़ें(Stomach Worms)गंदगी के कारण होता है मक्खियों द्वारा गंदा भोजन,जल, दूध आदि के सेवन से इसका प्रसार तेजी से होता है तथा रोगी की आंतों से कृमि के अण्डे मल के साथ निकलकर बाहर आ जाते हैं और धरती पर फैल जाते हैं फिर ये लार्वा रेंगते-रेंगते बड़े हो जाते हैं जब व्यक्ति सड़क,घास आदि पर चलता है तो ये उसके पैरों में चिपट जाते हैं तथा त्वचा भेदकर शरीर के भीतर पहुंच जाते हैं तथा कृमि रोग में रोगी को उबकाई आती रहती है और कई बार भोजन के प्रति अरुचि भी उत्पन्न हो जाती है तथा चक्कर आने लगते हैं और प्यास भी अधिक लगती है-

पेट में कीड़ें(Stomach Worms)होने का कारण-


बच्चों द्वारा मिट्टी खाने,दूषित भोजन ग्रहण करने, गंदे कपड़े पहनने, शरीर की उचित सफाई न करने, मांस, मछली, गुड़, दही, सिरका आदि अधिक मात्रा में सेवन करने से पेट में कीड़े(Stomach Worms)हो जाते हैं-

कैसे करे इसकी पहचान-


बच्चों को बदहजमी,पेट में दर्द, बुखार आदि की शिकायत हो जाती हैं तथा बच्चे के चेहरे का रंग उड़ जाता है और दस्त लग जाते हैं तथा बच्चे को भोजन में अरुचि उत्पन्न होने लगती है-

पेट में कीड़ें(Stomach Worms)होने पर आप क्या करें-


1- एक चम्मच करेले का रस,एक चम्मच नीम की पत्तियों का रस,एक चम्मच पालक का रस और जरा-सा सेंधा नमक-सबको मिलाकर दो खुराक बनाएं तथा सुबह-शाम भोजन के बाद इसका सेवन करायें इन रसों में कीड़े मर कर मल के साथ बाहर निकल जाएंगे-

2- शहद में आधा चम्मच पारिजात के पत्तों का रस मिलाकर पिलाएं पारिजात को हरसिंगार भी कहते है इसके सेवन से भी पेट के कृमि(Stomach Worms)मर जाते हैं-

3- बायबिरंग, नारंगी का सूखा छिलका, चीनी(शक्कर)को समभाग(बराबर)पीसकर रख लें अब 6 ग्राम चूर्ण को सुबह खाली पेट सादे पानी के साथ 10 दिन तक प्रतिदिन लें-दस दिन बाद कैस्टर आयल(अरंडी का तेल) 25ग्राम की मात्रा में शाम को रोगी बच्चे को पिला दें-सुबह मरे हुए कीड़े निकल जायेंगे-

4- पिसी हुई अजवायन 5 ग्राम को चीनी के साथ लगातार 10 दिन तक सादे पानी से खिलाते रहने से भी कीड़े पखाने के साथ मरकर निकल जाते है-

5- पका हुआ टमाटर दो नग, कालानमक डालकर सुबह-सुबह 15 दिन लगातार खाने से बालकों के चुननू आदि कीड़े मरकर पखाने के साथ निकल जाते है-सुबह खाली पेट ही टमाटर खिलायें, खाने के एक घंटे बाद ही कुछ खाने को दें-

6- बायबिरंग का पिसा हुआ चूर्ण तथा त्रिफला चूर्ण समभाग को 5 ग्राम की मात्रा में चीनी या गुड़ के साथ सुबह खाली पेट एवं रात्रि में खाने के आधा घंटे बाद सादे पानी से लगातार 10 दिन दें-सभी तरह के पेट के कृमियों के लिए लाभदायक है-

7- छाछ में काला नमक और कालीमिर्च का चूर्ण मिलाकर पीने से भी पेट के कीड़े(Stomach Worms)नष्ट हो जाते हैं-

8- लहसुन की चटनी बनाकर सुबह निहार मुंह खाकर ऊपर से पानी पीने से भी पेट के कीड़े मर जाएंगे-

9- गरम पानी में आधा चम्मच हल्दी डालकर एक सप्ताह तक रोज इसका सेवन करें या फिर एक चम्मच नीम की पत्तियों के रस में दो चम्मच शहद मिलाकर नित्य सुबह-शाम सेवन करें-

10- अनार के पेड़ की छाल का काढ़ा बनाकर सेवन करें-

11- 2 ग्राम बायबिड़ंग का चूर्ण और 8-10 पत्ते तुलसी-दोनों(बीज)की चटनी बनाकर सुबह-शाम खाएं-

12- नारंगी के छिलके 10 ग्राम और बायबिड़ंग 10 ग्राम इन दोनों को पीसकर चूर्ण बना लें तथा 3-3 ग्राम चूर्ण सुबह-शाम खाकर ऊपर से गरम पानी पिला दें-

13- थोड़े से अनार के छिलके सुखा-पीसकर चूर्ण बना लें और इसमें से 3 ग्राम चूर्ण छाछ के साथ सेवन करें-

14- 3 ग्राम अजवायन,3 ग्राम बायबिड़ंग तथा 1 ग्राम कपूर-इन सबको पीसकर उसमें जरा-सा गुड़ मिलाएं और 3 ग्राम दवा दिन के भोजन के बाद दें-

15- करेले के रस में एक चुटकी हींग डालकर पीने से पेट के कृमि(Stomach Worms)मल के साथ निकल जाते हैं-

16- आम की गुठली की पुतली या गिरी निकालकर चूर्ण बना लें फिर 5 ग्राम चूर्ण में जरा-सा नमक डालकर सेवन करें ये भी लाभदायक है-

17- केले की सब्जी लगातार चार दिनों तक खाने से पेट के कृमि(Stomach Worms)मर जाते हैं या फिर गाजर का रस रोज एक कम की मात्रा में एक सप्ताह तक नित्य पीने से कृमि रोग नष्ट हो जाता है-

18- प्याज के रस में जरा-सा नमक मिलाकर पिलाने से बच्चों के पेट में कीड़े मल द्वारा बाहर निकल जाते हैं-

19- शहतूत का शरबत पेट के कीड़े मारने के लिए बहुत उपयोगी है ध्यान रहे ये ताजा ही बनाएं-

20- 5 ग्राम बथुए के बीज पीसकर शहद मिलाकर सेवन करें इससे भी पेट के कृमि(Stomach Worms)मर जाते हैं-

21- पपीते के बीजों को सुखाकर उनका चूर्ण बना लेंऔर एक चुटकी चूर्ण दिन में तीन बार शहद के साथ दें-

22- अजवायन का चूर्ण एक चुटकी की मात्रा में दिन में दो बार गुड़ के साथ देना चाहिए-

23- केसर तथा कपूर-दोनों एक-एक रत्ती की मात्रा में पीसकर दूध के साथ चार-पांच दिन तक दें-कीड़े मल के साथ निकल जाएंगे-

24- एक चम्मच तुलसी का रस गरम करके बच्चे को पिलाएं इससे भी पेट के कृमि(Stomach Worms)मर जाते हैं-

Read Next Post-


Upcharऔर प्रयोग-

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Loading...