This website about Treatment and use for General Problems and Beauty Tips ,Sexual Related Problems and his solution for Male and Females. Home treatment,Ayurveda treatment ,Homeopathic Remedies. Ayurveda treatment tips in Hindi and also you can read about health Related problems and treatment for male and female

12 अप्रैल 2017

दांतों के मवाद का घरेलू उपचार क्या है

By
दांतों में पस(Teeth Pus)पड़ने का मुख्य कारण मसूड़ों में लन और टूटे हुए दांत के कारण होता है दांतों में पस(Teeth Pus)मुख्य रूप से एक प्रकार का संक्रमण होता है जो मसूड़ों और दांतों की जड़ों के बीच होता है इसके कारण दांत के अंदर पस बन जाता है जिसके कारण दांत में दर्द होता है- 

दांतों के मवाद का घरेलू उपचार क्या है

जिस दांत में पस(Teeth Pus)हो जाता है उसमें बैक्टीरिया प्रवेश कर जाता है और वही बढ़ता रहता है जिससे उन हड्डियों में संक्रमण हो जाता है जो दांतों को सहारा देती हैं यदि समय पर इसका उपचार नहीं किया गया तो इसके कारण जीवन को खतरा हो सकता है

दांतों में पस(Teeth Pus)होने के कारण जो दर्द होता है वह असहनीय होता है तथा इस दर्द को रोकने के लिए लोग कई तरह के उपचार करते हैं परंतु अंत में दर्द बढ़ जाता है और यदि आप भी मसूड़ों की इस बीमारी से ग्रसित हैं तो आपको क्या करना चाहिए तथा क्या नहीं इस पर थोडा प्रकाश डालने से पहले आपको इस बीमारी के लक्षण तथा कारण पहचानने होंगे-

दांतों में पस के कारण-


दांतों में पस होने का मुख्य कारण है मसूड़ों की बीमारी तथा मुंह की सफाई ठीक से न करना- आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमज़ोर होना भी दांतों में पस होने का एक कारण है तथा टूटा हुआ दांत मसूड़ों में सूजन और जलन दांतों में संक्रमण बैक्टीरिया कार्बोहाइड्रेट युक्त तथा चिपचिपे पदार्थ अधिक मात्रा में खाने से भी होता है-

आप जब भी कुछ खाएं तो संक्रमित जगह पर दर्द होना तथा सुजन होकर मवाद पड़ जाना भी इसका कारण है संवेदनशील दांत मुंह में गंदे स्वाद वाले तरल पदार्थ का स्त्राव साँसों में बदबू मसूड़ों में लालिमा और दर्द होना तथा अस्वस्थ महसूस करना मुंह खोलने में तकलीफ होना प्रभावित क्षेत्र में सूजन का होना-

दांतों में पस(Teeth Pus)होने पर उपचार-


1- लहसुन बैक्टीरिया को मारने के लिए एक प्राकृतिक हथियार है कच्चे लहसुन का रस संक्रमण को मारने में मदद करता है यदि वास्तव में यदि आपके दांत में बहुत अधिक दर्द हो रहा हो तो फिर आप ऐसा कर सकते हैं कि कच्चे लहसुन की एक कली लें और इसे पीसें और निचोड़कर इसका रस निकालें तथा इस रस को मसूड़े के उस प्रभावित क्षेत्र पर लगायें-यह घरेलू उपचार दांत के दर्द में जादू की तरह काम करता है-

2- लौंग का तेल भी संक्रमण रोकने में सहायक होता है तथा दांतों के दर्द में तथा मसूड़ों की बीमारी में अच्छा उपचार है आप थोड़ा सा लौंग का तेल लें तथा तथा इस तेल से धीरे-धीरे ब्रश करें-जब आप प्रभावित क्षेत्र में इसे लगायें तो अतिरिक्त सावधानी रखें इस पर बहुत अधिक दबाव न डालें तथा अपने मसूड़ों पर धीरे धीरे मालिश करें अन्यथा अधिक दर्द होगा या फिर आप अपनी ऊँगली से मसूड़ों पर लौंग के तेल की कुछ मात्रा लगायें तथा धीरे धीरे मालिश करें-

3- आईल पुलिंग यह एक घरेलू उपचार बहुत ही सहायक है इसमें आपको सिर्फ नारियल के तेल की आवश्यकता होती है आप एक टेबलस्पून(चम्मच)नारियल का तेल लें और इसे अपने मुंह में चलायें बस इसे निगले नहीं तथा इसे लगभग 30 मिनिट तक अपने मुंह में रखें रहें फिर आप इसे थूक दें और मुंह धो लें-आपको निश्चित रूप से आराम मिलेगा-

4- दांत के दर्द में पेपरमिंट आईल जादू की तरह काम करता है आप अपनी उँगलियों के पोरों पर कुछ तेल लें तथा इसे धीरे धीरे प्रभावित क्षेत्र पर मलें इससे आपको दांत के दर्द से तुरंत आराम मिलेगा-

5- दांतों में पस होने पर ऐप्पल सीडर विनेगर(सेब का सिरका)एक अन्य प्रभावशाली उपचार है चाहे वह प्राकृतिक हो या ऑर्गेनिक, यह बहुत अधिक प्रभावशाली है-एक टेबलस्पून ऐप्पल सीडर विनेगर लें-इसे कुछ समय के लिए अपने मुंह में रखें और फिर इसे थूक दें-इसे निगलें नहीं- इससे प्रभावित क्षेत्र रोगाणुओं से मुक्त हो जाएगा-इससे सूजन भी कम होती है-

चमकते सफेद दांतों के लिए क्‍या करें और क्‍या न करें-


आप जितना मुश्किल समझते है उससे कहीं ज्‍यादा आसान होता है दांतों की सफेदी और चमक को बरकरार रखना जानिए कैसे-दांतों की सही तरीके से देखभाल करने से न सिर्फ दांत का स्‍वस्‍थ रहना आवश्यक है बल्कि उनकी चमक को भी बरकरार रखना जरुरी है आइये इस बारे में आपको कुछ टिप्‍स बताते है-

आप क्‍या न करें-


1- बेकिंग सोडा के ज्‍यादा सेवन या इस्‍तेमाल से बचाव करें-पहले तो आपको इसके इस्‍तेमाल से दांत सफेद और चमकदार लग सकते है लेकिन बाद में दांतों में पीलापन आ जाता है-

2- आप ज्‍यादा गाढ़े रंग वाले फलों या खाद्य सामग्रियों के सेवन से बचें जैसे-सोया सॉस, मरिनारा सॉस आदि दांतों पर दाग छोड़ देते है-नूडल आदि खाने से परहेज करें-

3- आप बहुत ज्‍यादा मात्रा में एनर्जी ड्रिंक न पिएं-इसमें मिला हुआ एसिड दांतों को नुकसान पहुंचाता है और दातों की सफेदी चली जाती है-

आप क्‍या करें-


1- आप समय-समय पर अपने ब्रश को बदलते रहें-हर तीन महीने में ब्रश को बदलना सही रहता है-ब्रश अच्‍छी क्‍वालिटी का होना चाहिये ताकि दातों और मसूडों को नुकसान न पहुंचे-

2- आप अपनी जीभ को भी साफ रखें तथा जब भी ब्रश करें आप अपनी जीभ को साफ करना कतई न भूलें-इससे सांसों में बदबू नहीं आएगी और आपका मुंह फ्रेश रहेगा-

3- फल को काटकर खाने से बेहतर है कि आप उसे यूं ही खाएं-इससे दांतों में मजबूती आएगी और आपके दांत भी साफ रहेगें तथा स्‍ट्रांग बनेगें-

आप सभी और पोस्ट के लिए इस लिंक पर क्लिक करे-


READ MORE- पायरिया से परेशान है तो करे ये उपाय

Upcharऔर प्रयोग-

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें