This website about Treatment and use for General Problems and Beauty Tips ,Sexual Related Problems and his solution for Male and Females. Home treatment,Ayurveda treatment ,Homeopathic Remedies. Ayurveda treatment tips in Hindi and also you can read about health Related problems and treatment for male and female

12 अप्रैल 2017

पायरिया से परेशान है तो करे ये उपाय

By
पायरिया(Pyorrhea)दाँतों की एक गंभीर बीमारी होती है जो दाँतों के आसपास की मांसपेशियों को संक्रमित करके उन्हें हानि पहुँचाती है दांतों की साफ सफाई में कमी होने से जो बीमारी सबसे जल्दी होती है वो है पायरिया-सांसों की बदबू, मसूड़ों में खून और दूसरी तरह की कई परेशानियां भी होती है जाड़े के मौसम में पायरिया(Pyorrhea)की वजह से ठंडा पानी पीना भी बहुत मुश्किल हो जाता है और पानी ही क्यों कभी-कभी तो हवा भी आपके दांतों को सिहरा देता है-

पायरिया से परेशान है तो करे ये उपाय

जो लोग खाना खाने के बाद दांतों की सफाई ठीक ढंग से नहीं करते हैं उनको पायरिया जैसी घातक बीमारी होने की संभावना हो सकती है मुंह से गंदी बदबू आना, दांतों में दर्द और मसूड़ों में सूजन और खून आना पायरिया(Pyorrhea)के लक्षण भी हो सकते हैं अगर पायरिया को रोका ना गया तो इस बीमारी की वजह से आपके पूरे दांत गिर सकते हैं-

कई लोग ब्रश तो अच्‍छी तरह से कर लेते हैं मगर जब बात जीभ को साफ करने की आती है तो वह उसे ऐसे ही छोड़ देते हैं जिससे मुंह में बैक्‍टीरिया पनपने लगते हैं यह भी पायरिया(Pyorrhea) होने का एक बड़ा कारण है-

पायरिया(Pyorrhea)का आयुर्वेदिक उपचार-




1- नीम की पत्‍तियों को धो कर छाया में सुखा लें और फिर उसे एक बर्तन में रख कर जला लें और जब पत्‍तियां जल जाएं तब बर्तन को ढंक दें और फिर कुछ देर के बाद राख में आप सेंधा नमक मिला लें अब इस मिश्रण को शीशी में भर कर लख लें और चूर्ण बना कर दिन तीन चार बार मंजन करें-


2- 200 मिलीलीटर अरंडी का तेल,5 ग्राम कपूर और 100 मिलीलीटर शहद को अच्छी तरह मिला दें और इस मिश्रण को एक कटोरी में रखकर उसमे नीम के दातुन को डुबोकर दाँतों पर मलें और ऐसा कई दिनों तक करें-आपके लिए यह पायरिया को दूर करने के लिए एक उत्तम उपचार है-

3- प्याज के टुकड़ों को तवे पर गर्म कीजिए और दांतों के नीचे दबाकर मुंह बंद कर लीजिए इस प्रकार 10-12 मिनट में लार मुंह में इकट्ठी हो जाएगी फिर आप उसे मुंह में चारों ओर घुमाइए तथा फिर निकाल फेंकिए इस प्रकार आप दिन में चार-पांच बार आठ-दस दिन करें आपका पायरिया जड़ से खत्म हो जाएगा तथा दांत के कीड़े भी मर जाएंगे और मसूड़ों को भी मजबूती प्राप्त होगी-

4- सूखे मसाले जीरा,सेंधा नमक, हरड़, दालचीनी, दक्षिणी सुपारी को समान मात्रा में लें अब इसे बंद बर्तन में जलाकर पीस लें तथा इस मंजन का नियमित प्रयोग करें-

5- चुटकी भर सादा नमक चुटकी भर हल्दी में चार पांच बुंद सरसों का तेल मिला कर उंगली से दांतों पर लगाकर 20 मिनट तक रखें और लार आने पर थूकते रहें-

6- काली मिर्च काली मिर्च के चूरे में थोडा सा नमक मिला कर दाँतों पर मलने से भी पायरिया के रोग से छुटकारा पाने के लिए काफी मदद मिलती है-

7- कच्‍चा अमरूद कच्चे अमरुद पर थोडा सा नमक लगाकर खाने से भी पायरिया के उपचार में सहायता मिलती है क्योंकि यह विटामिन सी का उम्दा स्रोत होता है जो दाँतों के लिए लाभकारी सिद्ध होता है-

8- आंवला जलाकर सरसों के तेल में मिलाएं अब आप इसे मसूड़ों पर धीरे-धीरे मलें तथा खस, इलायची और लौंग का तेल मिलाकर मसूड़ों में लगाएं-

    पायरिया(Pyorrhea)में तम्बाखू का मंजन का प्रयोग-


    सामग्री-

    सादी तम्बाकू- 50 ग्राम
    सेंधा नमक - 25 ग्राम
    फिटकरी - 25 ग्राम

    सबसे पहले आप तम्बाखू को लेकर तवे पर काला होने तक भूनें और फिर पीसकर कपडे से छान कर महीन चूर्ण कर लें तथा सेंधा नमक और फिटकरी बराबर मात्रा में लेकर पीस लें और तीनों को मिलाकर तीन बार छान लें ताकि ये सभी पावडर एक साथ मिल जाएँ अब इस मिश्रण को थोड़ी मात्रा में हथेली पर रखकर इस पर नीबू के रस की पांच से छ: बूँदें टपका दें और अब इससे दाँतों व मसूढ़ों पर लगाकर हल्के-हल्के अँगुली से मालिश करें आप यह प्रयोग सुबह और रात को सोने से पहले 10 मिनट तक करके पानी से कुल्ला करके मुँह साफ कर लें-जो लोग तम्बाकू का प्रयोग नहीं करते उन्हें इसके प्रयोग में तकलीफ होगी तथा उन्हें चक्कर आ सकते हैं अत: आप सावधानी के साथ कम मात्रा में मंजन लेकर प्रयोग करें-

    पायरिया(Pyorrhea)के लिए एक अन्य प्रयोग-


    सामग्री-

    गंधक रसायन- 5 ग्राम
    आरोग्यवर्धिनी बटी - 5 ग्राम
    कसीस भस्म - 5  ग्राम
    शुभ्रा(फिटकरी) भस्म- 5 ग्राम
    सोना गेरू- 10  ग्राम
    त्रिफला चूर्ण-  20 ग्राम (उपरोक्त ये सभी दवाए आप आयुर्वेदिक दवा खाने से ले)

    उपरोक्त सभी सामग्री को आप घोंट करके मिला लीजिये तथा इस पूरी दवा की बराबर वजन की कुल आप इक्कीस पुड़िया बना लीजिये फिर सुबह-दोपहर-शाम को एक-एक पुड़िया एक कप पानी में घोल कर मुंह में भर कर जितनी देर रख सकें रखिये फिर उसे निगल लीजिये-

    अन्य प्रयोग-


    1- अनार के छिलके पानी मे डाल कर खूब खौला कर ठंडा कर लें -इस पानी से दिन मे तीन चार बार कुल्ले करें-इससे मुंह की बदबू से बहुत जल्द छुटकारा मिल जाएगा -

    2- बादाम के छिलके तथा फिटकरी को भूनकर फिर इनको पीसकर एक साथ मिलाकर एक शीशी में भर दीजिए-इस मंजन को दांतों पर रोजाना मलने से पायरिया रोग जल्दी ही ठीक हो जाता है-

    3- पायरिया होने पर कपूर का टुकड़ा पान में रखकर खूब चबाने और लार एवं रस को बाहर निकालने से पायरिया रोग खत्म होता है-

    4- एक गिलास गर्म पानी में 5 से 6 बूंद गर्म पानी में लौंग का तेल मिलाकर प्रतिदिन गरारे व कुल्ला करने से पायरिया रोग नष्ट होता है-

      पायरिया से बचाव और सावधानियाँ-


      1- दिन में दो बार दाँतों को सही और नियमित रूप से ब्रश करना बहुत ज़रूरी होता है तथा शरीर में मौजूद विषैले तत्वों के निकालने के लिए पानी का सेवन भरपूर मात्रा में करें और आप विटामिन सी युक्त फल, जैसे कि आंवला, अमरुद, अनार, और संतरे का भी सेवन भरपूर मात्रा में करें-

      2- पायरिया के इलाज के दौरान रोगी को मसाले रहित उबली सब्ज़ियों का ही सेवन करें-

      3- मसालेदार खान पान,जंक फ़ूड और डिब्बाबंद आहार का सेवन बिल्कुल भी न करें-

      4- चीज़ और दूध के अन्य उत्पादनों का सेवन बिल्कुल भी न करें क्योंकि इनका दाँतों से चिपकने का खतरा होता है और जीवाणुओं के बढ़ने में सहायता करते हैं-

      5- धूम्रपान और तम्बाकू के सेवन से भी बचें क्योंकि यह पायरिया की बीमारी को बढाते हैं-

      6- पायरिया रोग से पीड़ित रोगी को कभी-भी चीनी,मिठाई या डिब्बा बंद खाद्य पदार्थों का उपयोग नहीं करना चाहिए-
      Upcharऔर प्रयोग-

      0 comments:

      एक टिप्पणी भेजें