This website about Treatment and use for General Problems and Beauty Tips ,Sexual Related Problems and his solution for Male and Females. Home treatment,Ayurveda treatment ,Homeopathic Remedies. Ayurveda treatment tips in Hindi and also you can read about health Related problems and treatment for male and female

loading...

3 जनवरी 2017

चाय बनाने का सही तरीका क्या है

By
आमतौर पर सभी लोग चाय, दूध, शक्कर आवश्यक मात्रा में लेकर उसे खूब उबालते हैं और फिर उसे छानकर पीते हैं लेकिन क्या आपको पता है कि इस प्रकार बनाई गई चाय(Tea)काफी नुकसान करती है तो चलियें आज आपको हम साधारण सी दिखने वाली चाय(Tea)को कैसे सही तरीके से बनाए इस पर प्रकाश डालते है-

चाय बनाने का सही तरीका क्या है

चाय(Tea)को सही प्रकार से कैसे बनाते है-

सबसे पहले आप पानी, दूध, शक्कर आवश्यक मात्रा में लेकर उबालें और जब ये उबलने लगे तब नीचे उतार लें और उसमें आवश्यक मात्रा में चाय डालकर आठ मिनट तक नीचे ही ढककर रखें इसके बाद इसे छानकर कुछ साथ में नाश्ता करके पियें इस प्रकार बनाई गई चाय शरीर के लिए आरोग्यप्रद हैं आप अपनी चाय को अधिक स्वादिष्ट बनाने के लिए पुदीना, सोंठ, कालीमिर्च, लौंग, इलायची आदि भी इसमें डाल सकते है इस प्रकार से बनाई गई चाय अधिक स्वादिष्ट और स्वास्थ्यप्रद होती है-

आप एक या दो बार से अधिक मत पीजिये और यदि आप चाय पीना ही चाहते हैं तो बस इसे कभी भी खाली पेट नहीं पियें यदि आप चाय का दुष्प्रभाव दूर करना चाहते है तो फिर एक कप चाय पीने के थोड़ी देर बाद पाँच कप शुद्ध पानी पियें-

अनिद्रा के रोगी तथा नशीली दवा खाने वालों के लिए चाय हानिकारक है ऐसे रोगी यदि चाय पियें तो रोग अति गंभीर बन जायेगा क्युकि चाय पीने से नींद कम आती है और चाय अम्लपित्त और परिणाम शूल वालों के लिए हानिकारक है-

यदि आप कोई आयरन युक्त औषधि का सेवन कर रहें है तो औषधि लेने के दो घंटे बाद ही चाय का सेवन करें क्युकि चाय में टैनिन(Tannin)होता है जो शरीर में लौह तत्व(Iron)को पचाने में बाधा पहुँचाता है-

चाय बनाने का सही तरीका क्या है


चाय का स्वाद इसमें उपस्थित टैनिन की मात्रा पर निर्भर होता है  तथा चाय की अम्लता इसमें उपस्थित टैनिक अम्ल के कारण होती है अलग-अलग प्रकार के चाय का स्वाद इसमें उपस्थित टैनिक अम्ल(Tannic acid)की अलग-अलग मात्रा के कारण ही होती है-चाय की रोज पीने की आदत आपकी पाचनशक्ति कम करती है तथा रक्त जलाकर शरीर को सुखाती है-

क्या आप जानते है कि टैनिक अम्ल(Tannic acid) का प्रयोग चमड़ा फैक्ट्री में चमड़े को पकाने के काम में भी आता है क्या आप जानते है कि आजकल लोग होटल में बनाई जाने वाली चाय की वेस्ट चाय पत्ती को लेकर दुबारा इसे टैनिक अम्ल(Tannic acid) का रंग देकर वापस इसे सस्ती चाय के रूप में बाजार में बेच देते है-





Upcharऔर प्रयोग-

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें