Breaking News

चार आदतों को अपनी जिन्दगी से दूर करें

हम मनुष्य में कुछ सामान आदत(Habit)होती है जो हम लोग अपनी प्रतिदिन दिनचर्या में करते है और हमें पता भी नहीं चलता कि इन आदतों से हमारे जीवन में अचानक कई बदलाव आ जाते है यह आदत धीरे-धीरे हमारी लत बन जाती है लेकिन मनुष्य को सामान्य लगने वाली कुछ आदतें भी आपके परिवार का नाश कर सकती हैं जी हाँ कुछ ऐसी आदते होती है जिनसे दूर रहना चहिये यह आदते आपके परिवार का नाश कर सकती है-
चार आदतों को अपनी जिन्दगी से दूर करें

मुख्यत: इन आदतों(Habit)से दूर रहें-


झूठ बोलना- 

कई लोगों को झूठ बोलने की आदत होती है और वे अपनी इस आदत को बड़ी ही सामान्य बात समझते हैं लेकिन यही आदत उनकी बर्बादी का कारण भी बन सकती है झूठ बोलने से न की सिर्फ आपको बल्कि आपके परिवार को भी दुःखों और परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है इस आदत से जितना दूर रहें आपके लिए भविष्य में उतना अच्छा है कभी-कभी आपने देखा होगा कि एक झूठ के पकडे जाने के डर से आपको और कई झूठ बोलने पड़ते है और आज जो झूठ आपने बोला है कालान्तर में बोला गया झूठ आपको खुद ही याद नहीं रहता है जबकि सच आपको हमेशा याद रहता है-

पराई स्त्री से संबंध बनाना- 

कई लोगो कि यह बुरी आदत होती है जो स्त्री का अपमान करते है ऐसे लोगो को स्वर्ग क्या नरक में भी स्थान नहीं मिलता क्युकि ऐसे लोग राक्षस प्रवृत्ति के होते है पराई स्त्री पर बुरी नजर डालना या उससे संबंध बनाना महापाप माना जाता है जो भी मनुष्य किसी अन्य स्त्री के साथ संबंध बनाता है या इसके बारे में सोचता है ऐसे मनुष्य को नरक में कई तरह की यातनाएं झेलनी पड़ती हैं यह पाप कर्म किसी भी परिवार का नाश कर सकता है इसलिए इससे बचना चाहिए आपको अपने पारिवारिक कलह से बचने के लिए इस बुरी आदत से दूर ही रहना चाहिये-

मांसाहारी होना-

आजकल के मनुष्य मांसहार(NONVEGE) को बहुत पसंद करते है जो कि हानिकारक है जीवों की हत्या करना या उनका सेवन करना शास्त्र सम्मत नहीं है ऐसा करने वाले मनुष्य पर भगवान अप्रसन्न रहते हैं  उसकी पूजा-अर्चना का भी कोई फल नहीं मिलता है ऐसे लोगों को हर समय किसी न किसी तरह की परेशानी का सामना करना पड़ता है ये आदत किसी भी परिवार का नाश कर सकती है जिस प्रकार शाकाहारी जानवर अपनी प्रवृति नहीं बदलता है तो मनुष्य के लिए शाकाहारी प्रवृति ग्रहण करना अनेक रोगों को आमंत्रण देता है इसलिए इससे दूर ही रहना चाहिए-

परिवार की परंपराओं के विरुद्ध काम करना-

कई लोग घर के बड़ों का मान-सम्मान नहीं करते है साथ ही उनकी बताई गई घर की परंपराओं आदि का भी पालन नहीं करते है ऐसे लोग अपने कुल के विनाश का कारण बनते है जो मनुष्य घर के नियम और परंपराओं का सम्मान नहीं करते है उन्हें कई तरह के दुःखों और परेशानियों का सामना करना पड़ता हैं मनुष्य को अपने से बड़ो का माता-पिता का सम्मान करना चाहिए नहीं तो आने वाले वक्त में वे खुद ही परिवार का विनाश कर देते है इसलिए हर किसी को अपने परिवार की परंपराओं को पूरा सम्मान देकर उनका कठोरता से पालन करना चाहिए-इसीलिए शास्त्र में कहा गया  यह श्लोक -

 अनृतात् पारदार्याच्च तथाभक्ष्यस्य भक्षणात्।
 अगोत्रधर्माचरणात् क्षिप्रं नश्यति वै कुलम्।।

Read Next Post- 

संभोग और रिश्तो की अंतरंगता को समझे 

Upcharऔर प्रयोग-

कोई टिप्पणी नहीं

//]]>