15 फ़रवरी 2017

समस्या जीवन में हर व्यक्ति को है अनुभवी बनें

आज वर्तमान में समय बदल गया है हर व्यक्ति की आवश्यकता जीवन में इतनी बढ़ गई है कि सिर्फ पति के काम करने से गृहस्थी का चलना नामुमकिन सा होता जा रहा है इसी आवश्यकता पूर्ति के लिए पति-पत्नी दोनों का काम करना आवश्यक सा होता जा रहा है और ख़ास कर बड़े-बड़े शहरों में ये समस्या(Problem)जीवन में हर व्यक्ति को है तो आप थोडा अनुभवी बनें- 

समस्या जीवन में हर व्यक्ति को है अनुभवी बनें

वैसे आज भी कई जगह महिलाओं के काम करने को हेय द्रष्टि से देखा जाता है हमेशा परिवार के सदस्यों को यही सोच लगी रहती है कि बाहर जा कर काम करने वाली महिला चरित्र हीन हो सकती है दूसरे पुरुष से सम्बन्ध बन सकते है लेकिन जहाँ तक मेरा विचार है कि ये गलत है-बहुत सी महिलाए बाहर काम पे जाती है और उनका चरित्र हमेशा उज्जवल ही रहता है हाँ अपवाद रूप में सौ प्रतिशत गारंटी नहीं ली जा सकती है कि हर महिला सही है लेकिन कुछ प्रतिशत को तो देखते हुए सभी को इन नजरों से देखना तो बिलकुल भी उचित नहीं होगा -

यदि महिला का अपना चरित्र अच्छा है तो भले हजारों के बीच काम करे लेकिन उसके चरित्र पे कतई भी आंच नहीं आ सकती है लेकिन चरित्रहीन महिला तो घर में भी रह कर भी आपकी नाक कटवाने में कोई कसर नहीं रक्खेगी ये चरित्र संस्कार से बनता है-

समस्या कहाँ होती है-


1- समस्या(Problem)यहाँ ये है कि जब आवस्यकता की पूर्ति के लिए स्त्री-पुरुष दोनों काम करते है तो पति को भी अपनी पत्नी से सामंजस्य स्थापित करना आवश्यक है-आखिर काम तो आपकी पत्नी भी करती है तो उसे भी थकावट आना भी लाजिमी है-हाँ अगर पति चाहता है कि पत्नी काम न करे और आपका ईगो हर्ट होता है तो फिर आप मर्द बने और सभी आवश्यकताओं की पूर्ति करे-किसी भी स्त्री को बेमतलब में बाहर काम करना अच्छा नहीं लगता है यदि सभी आवश्यकतायें उसका पति पूरा कर रहा है-

2- कामकाजी पत्नियाँ इस बात से त्रस्त है कि काम से लौटने के बाद उनका पति अपने आफिस के बॉस का गुस्सा उन पर उतारते है घर की समस्या है या आफिस की-बस प्यार एक ऐसी चीज है सामंजस्य एक अदभुत प्रयोग है इस्तेमाल की जाए तो सभी समस्या का समाधान मिल ही जाता है यदि पति पत्नी को काम पर जाने की इजाजत देता है तो फिर शंका को दिमाक से निकालना भी आवश्यक है वर्ना आपके अच्छे -खासे घर में तांडव होते देर नहीं लगेगी-

3- जब कोई व्यक्ति अपना काम करता है तो बिजनेस में फायदा या नुकसान उसके मन में आक्रोश भर देता है यही गुस्सा जब तक बाहर नहीं निकल जाता तब तक अंदर ही अंदर सुलगता रहता है इसको पति और पत्नी के बीच होने वाले झगड़ों की बहुत बड़ी वजह माना जाता है पति को जब अपना गुस्सा निकालने का दूसरा कोई रास्ता दिखाई नहीं देता है तो वह इसे अपनी पत्नी पर निकाल देता है वह पत्नी की छोटी-छोटी बातों में गलतियां निकालने लगता है और कुछ मामलों में तो बात मारपीट पर भी आ जाती है-

4- उन सभी पतियों को गुस्सा निकालने का कोई दूसरा रास्ता निकालना चाहिए क्युकि पत्नी को बार-बार प्रताड़ित करके आप सिर्फ अपना ही घर बर्बाद करते है-आपकी बाहर की समस्या का कोई भी प्रभाव आपके परिवार पे नहीं पड़ना चाहिए-समस्या(Problem)जीवन में हर व्यक्ति को है किसी की बड़ी तो किसी की छोटी हो सकती है जरुरत है आपके धैर्य और साहस की-आपके जीवन में अगर समस्या नहीं होगी और उससे आप निकलने का रास्ता नहीं तलासेगें तो जीवन में आप हमेशा अनुभवहीन ही रहेगे-


Upcharऔर प्रयोग-

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Loading...