This website about Treatment and use for General Problems and Beauty Tips ,Sexual Related Problems and his solution for Male and Females. Home treatment,Ayurveda treatment ,Homeopathic Remedies. Ayurveda treatment tips in Hindi and also you can read about health Related problems and treatment for male and female

loading...

16 फ़रवरी 2017

क्या आप पसीना आने से परेशान है

By
बहुत से लोगों की परेशानी है कि उनको पसीना(Sweat)बहुत आता है कुछ लोग जरा सा काम करते ही पसीने से तर-बतर हो जाते है और सबसे बड़ी परेशानी तो ये है कि कई विध्यार्थी तो लिखते समय उनके हाथों से इतना पसीना आता है कि वो अपने इस पसीने से इतना परेशान हो जाते है कि सही रूप से परीक्षा भी नहीं दे पाते है-

क्या आप पसीना आने से परेशान है

पसीना(Sweat)आने पर करें उपचार-


जादा पसीना(Sweat) आना मुख्यतः लो-ब्लड प्रेशर,हापर-हाइड्रोसिस और तनाव ही है वैसे सच कहा जाए तो इसका कोई परमानेंट इलाज तो नहीं है परन्तु कुछ उपाय आपको इससे राहत अवश्य ही दिला सकता है हम आपको इस समस्या से काफी हद तक निजात दिलाने का उपाय बताते है-

1- सबसे पहले थोडा गुनगुने पानी में आप खाने वाला सोडा(Baking Soda) डाले और अपने पसीने-दार हाथो को कुछ मिनटों के लिए उसमे डुबाये आप देखेगे कि हाथों को घोल से निकालने के बाद कई घंटों तक आपके हाथों को पसीना नहीं आएगा-विध्यार्थी परीक्षा में जाने से पहले इस प्रयोग को अपना कर जा सकते है -

2- शराब(Alcohol)जी हाँ पीने के लिए नहीं प्रयोग करे बस उपचार के लिए आप इस शराब में रुई को डुबो कर अपनी हथेलियों पर कुछ देर रगड़ें आपका सारा पसीना सूख जाएगा और कुछ समय के लिए आपको पसीना(Sweat)नहीं आएगा जादा कस के नहीं रगड़ना है वर्ना आपकी त्वचा रुखी भी हो सकती है -

3- प्रत्येक घर में आलू(Potato)का प्रयोग किया जाता है यदि आपको पसीने की शिकायत है तो आप कच्चे आलू को काट कर जहाँ भी जादा पसीना आता है रगड़े इस प्रयोग से पसीना आना कम हो जाता है -

4- जिन लोगों के चेहरे पर पसीना(Sweat) जादा आता है उनको अपने चेहरे पर खीरा(Cucumber) काट कर उसके स्लाइस को हल्के हाथों से रगड़ना चाहिए या फिर आप खीरे का रस भी अपने चेहरे पर लगा सकते है ऐसा करते रहने से कुछ समय बाद पसीना आना कम हो जाता है-

5- जिन लोगों के पैर के तलवों में अत्यधिक मात्रा में पसीना आता है उनको कुछ देर पानी में थोड़ी सी फिटकरी(Alum) डाल कर अपने पैरों को डुबा कर रखना चाहिए इससे आपके कुछ दिन प्रयोग से पैरों का पसीना आना कम होने के साथ-साथ पैरों की दुर्गन्ध में भी लाभ होता है -

6- थोड़े से पानी में दो-तीन टी-बैग डाले और उसमे अपनी हथेलियों को कुछ समय के लिए डुबा कर रक्खे ये प्रयोग आपके हाथों का पसीना आने के लिए प्राकृतिक रूप से लाभदायक है-

7- बाजार में बिकने वाला कच्चा बैंगन(Brinjal)भी आप के पसीने को रोकने का कारगर उपाय है आप इसका रस निकाल कर हथेली और पैरों के तलवे पर लगाए आपका पसीना निकलना बंद हो जाएगा-

8- किचन में प्रयोग होने वाली अरहर यानी तुअर दाल(Toor dal) 20 ग्राम +एक चम्मच नमक+आधा चम्मच सोंठ को आपस में मिला कर शुद्ध सरसों के तेल में छौंक लगाए और फिर इसे पीस ले ताकि एक पावडर बन जाए अब आप इस पावडर से जहाँ से पसीना आता है वहां इससे मालिस करे इस प्रयोग से कुछ दिन करते रहने से पसीने का आना लगभग बंद हो जाता है-

9- आप यदि टमाटर का रस पीते है तो काफी हद तक आप पसीने को काबू कर सकते है ये ठंडा होता है और आपके शरीर को भी ठंडा रखने में सहायक है-

10- साबुत मूंग को हल्का भूनकर उसमें एक चम्मच बिना उबला दूध मिलाकर पेस्ट बनाकर फेस पर लगाने से पसीना नहीं आता है  मूंग आपके फेस की नमी को सोखती है जिससे पसीना निकलना बंद हो जाता है-

विशेष-

क्या आप जानते है कि मेडिटेशन(ध्यान)करने से आपके कई सारे रोग दूर हो सकते हैं अत्‍यधिक पसीना तभी निकलता है जब आप स्‍ट्रेस में हों या आपको किसी बात की बेचैनी हो रही हो-लेकिन योग और ध्‍यान से आप अपने स्‍ट्रेस के लेवल को कम कर के पसीने को रोक सकते हैं-

अंडर-आर्म के लिए-


बहुत से लोगों के अंडर-आर्म की तीव्र गंध होती है आप इसे कम करने के लिए निम्न प्रयोग आजमाए-

सामग्री-

जौ का आटा- एक चम्मच 
चन्दन पाउडर- आधा चम्मच 
कैलामाईन पावडर- आधा चम्मच
मिल्क- आधा चम्मच 
शहद- आधा चम्मच 

उपरोक्त सभी चीजो को मिला कर दही या फिर गुलाब जल में मिला कर हफ्ते में दो बार लगाए ये आपके अंडर-आर्म की गंध के साथ-साथ स्किन के कालापन को भी दूर करता है-

चहरे के लिए-


सामग्री-

मुल्तानी मिटटी- एक चम्मच 
पिसा चन्दन -एक चम्मच 
ग्लिसरीन- चार-पांच बूंद 

इसमें से चुटकी भर सामग्री को लेकर गुलाब जल में घोल ले और नहाने से पहले अपने फेस पर इस पैक को लगाने से स्किन साफ़ चमक दार और कोमल रहती है तथा चेहरे का पसीना भी नहीं आता है-





Upcharऔर प्रयोग-

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें