31 जुलाई 2017

झूठ-सच का अंतर आप कैसे पहचाने

loading...

How do you Recognize the Difference of Lies-Truth


आफिस हो या घर हो आये दिन झूठ (Lies) बोलने वाले कई लोगों से आपका सामना होता ही होगा लेकिन आप कैसे जानेगें कि सामने वाला व्यक्ति आपसे सच या झूठ क्या बोल रहा है आप कुछ संकेत व लक्षणों को समझ कर ये जान सकते है किसके मन में क्या चल रहा है इसके लिए आपको सामने वाले की कुछ बातो पे गौर करना होगा तो आपको सच और झूठ पता करने में जादा आसानी हो जायेगी-

झूठ-सच का अंतर आप कैसे पहचाने

आपको इन बातो को समझने के लिए मनुष्य के शरीर से जुडी हुई कुछ ख़ास बातो पे गौर करना होगा कुछ संकेतो पे नजर रखनी पड़ेगी और आप तभी समझ पायेगे कि सामने वाला व्यक्ति सच बोल रहा है या झूठ -

झूठ-सच का अंतर आप कैसे पहचाने

जी हाँ ये सच है कि मनुष्य की भावभंगिमाओं से किसी भी व्यक्ति के मन की बातें समझी जा सकती हैं-तथा उसकी चेष्टा-वाणी-नेत्र-चेहरे की भावभंगिमा-शरीर का आकार-गति -संकेत आदि इन सभी चीजो को समझे तो आपको अवश्य ज्ञान हो जाएगा कि सामने वाला व्यक्ति आपसे सच बोल रहा है या झूठ-

जाने झूठ बोलने वाले लोगों के लक्षण-


1- सामने वाला कोई व्यक्ति चर्चा करते समय यदि आपसे कोई बात छिपाता है या झूठ बोलता है तो उसके बोलने में थोड़ी हड़बड़ाहट भी हो सकती है और उसकी आवाज में भी असामान्य उतार-चढ़ाव आ सकते हैं गौर से ध्यान दें कि वह व्यक्ति कभी वह कोई बात धीरे बोलेगा तो कभी जोर से-और बोलते समय वह बीच-बीच में अटक भी सकता है क्युकि झूठ बोलने वाले व्यक्ति को झूठ बोलते वक्त बातों को बनाना पड़ता है उस व्यक्ति के बोलने के तरीके से आप जान सकते हैं कि वह सच बोल रहा है या झूठ या फिर उसके मन में क्या है-

झूठ-सच का अंतर आप कैसे पहचाने

2- कोई बात छिपाते समय या झूठ बोलते समय आंखों की गति में परिवर्तन आना एक आम बात है कोई व्यक्ति जब झूठ बोलता है तो गौर करें आप उसकी आंखें झुकी रहती हैं या फिर इधर-उधर देखने लगता है कभी वह ऊपर देखता है तो कभी दाएं-बाएं तथा बात करते समय वह किसी से नजरें नहीं मिलाता या नजरें चुराने की कोशिश करता है लेकिन यदि कोई व्यक्ति सच बोलता है तो वह नजर आपसे मिलाकर बात करता है-

3- किसी से झूठ बोलते समय या कोई बात छिपाते समय आपका शरीर अचानक ही कुछ ऐसी हरकतें भी कर सकता है जो आमतौर पर आप नहीं करते तो इन बातों पर गौर कर कोई भी व्यक्ति ये समझ सकता है कि आप उससे झूठ बोल रहे है या फिर उससे कोई बात छिपा रहे हैं हालांकि इन बातों का समझना बहुत ही मुश्किल होता है इसके लिए किसी व्यक्ति के व्यवहार के बारे में आपको पूरी जानकारी होना बहुत जरूरी है-

4- प्रत्येक व्यक्ति के चेहरे की भावभंगिमा (एक्सप्रेशन) बात करते समय बदलती रहती है और जब कोई व्यक्ति आपसे झूठ बोलता है या कोई बात गुप्त रखता है तो उसके चेहरे के भावों को देखकर इसका अंदाजा लगाया जा सकता है जो व्यक्ति झूठ बोलता है उसके चेहरे पर घबराहट या डर जैसे भाव अपने आप ही आ जाते हैं तथा चेहरे की बदलती भावभंगिमा को समझकर आप जान सकते हैं कि वह व्यक्ति आपसे सच बोल रहा है या झूठ या फिर वह आपको लेकर कितना गंभीर है-

5- जब आप किसी स्त्री या पुरुष से किसी खास विषय पर बात करते हैं कद-काठी के आधार पर वह क्या सोच रहा है इसका पता लगाया जा सकता है सामने वाला व्यक्ति अगर वह आपकी बातों को लेकर गंभीर नहीं है या झूठ बोल रहा है तो उसके कंधे झुके हो सकते हैं और अगर वह कुर्सी पर बैठा है तो वह बिल्कुल आराम की अवस्था में हो सकता है इस कारण उसकी कद-काठी में थोड़ा अंतर आपको दिखाई देगा-इस अंतर को समझ कर आप अंदाजा लगा सकते हैं कि वह व्यक्ति आपके बारे में या आप जिस विषय पर बात कर रहे हैं क्या सोच रहा है-

6- किसी-किसी की आदत होती है कि जब वह किसी से बात करता है तो अपने दोनों या एक हाथ हिलाता है या फिर पैरों पर पैर रखता है ऐसा होना सामान्य बात है लेकिन जब वही व्यक्ति किसी से झूठ बोलता है या कोई बात छिपाता है शरीर के इन संकेतों में कुछ बदलाव देखा जा सकता है इन बदलावों पर गौर करने से जाना जा सकता है कि वह व्यक्ति सच बोल रहा है या झूठ-

7- किसी से झूठ बोलते समय या कोई बात छिपाते समय शरीर की गति में परिवर्तन संभव है-शरीर की हड़बड़ाहट, जल्दबाजी या सुस्ती से यह जाना जा सकता है कि जिस व्यक्ति से आप बात कर रहे हैं वह आपकी बातों को लेकर कितना गंभीर है वह आपकी बातों पर विचार कर रहा है या सिर्फ एक कान से सुनकर दूसरे कान से निकाल रहा है अगर बात करते समय कोई व्यक्ति एक दम सुस्त दिखाई दे रहा है तो समझना चाहिए कि वह आपको टालना चाहता है और फिर वह आपसे झूठ बोल रहा है-

8- सामने वाला व्यक्ति जब कोई बात छिपाने की कोशिश करता हैं या फिर झूठ बोलता हैं तो बिना मतलब मुस्कुराते हैं वे अपनी मुस्कान में अपने झूठ को दबाने की कोशिश करते हैं यदि आप इस झूठी मुस्कान को समझ जाएंगे तो उनका झूठ आसानी से पकड़ सकते हैं-

9- आप जब इन चीजो पे गौर करने पे धीरे-धीरे अभ्यस्त हो जाते  है तो आप सामने वाले को समझने में और वह सच बोल रहा या झूठ जानने की कला में निपुण हो सकते है-

विशेष सूचना-

सभी मेम्बर ध्यान दें कि हम अपनी नई प्रकाशित पोस्ट अपनी साइट के "उपचार और प्रयोग का संकलन" में जोड़ देते है कृपया सबसे नीचे दिए "सभी प्रकाशित पोस्ट" के पोस्टर या लिंक पर क्लिक करके नई जोड़ी गई जानकारी को सूची के सबसे ऊपर टॉप पर दिए टायटल पर क्लिक करके ब्राउज़र में खोल कर पढ़ सकते है... धन्यवाद। 

Upchar Aur Prayog

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Loading...

कुल पेज दृश्य

Upchar और प्रयोग

प्रस्तुत वेबसाईट में दी गई जानकारी आपके मार्गदर्शन के लिए है किसी भी नुस्खे को प्रयोग करने से पहले आप को अपने निकटतम डॉक्टर या वैध्य से अवश्य परामर्श लेना चाहिए ...

लोकप्रिय पोस्ट

लेबल