Breaking News

स्त्री रोगों में अमृत समान टॉनिक शतावरी कल्प

आयुर्वेद के अनुसार शतावरी(Asparagus)महिलाओं के लिए टॉनिक जैसा काम करती है क्योंकि ये महिला प्रजनन तंत्र पर प्रभावकारी रूप से काम करती है यहां तक कि प्रीमैच्युर सिन्ड्रोम और मेनोपोज़ के लक्षणों से भी राहत दिलाने में भी ये महिलाओं में बहुत मदद करती है-

स्त्री रोगों में अमृत समान टॉनिक शतावरी कल्प

आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि दूध पिलाने वाली माँ के स्तनों में दूध की मात्रा को बढ़ाने में ये अहम् भूमिका अदा करती है तथा इसके अलावा भी शतावरी(Asparagus)के अनेक और भी गुण और फायदे हैं जैसे- हजम शक्ति को बढ़ाने, एन्टी-अल्सर एजेन्ट, एन्टीऑक्सिडेंट और एन्टीकैंसर के रूप में भी काम करती है अब तो कई अध्ययनों से ये भी साबित हुआ है कि ये हर्ब लीवर को हेल्दी और सुरक्षित रखने में अहम् भूमिका अदा करती है-

शतावरी(Asparagus)कल्प बनाने की विधि-


सामग्री-

शतावरी जड़- 500 ग्राम
शक्कर- 1 किलो
इलायची पावडर- 10 ग्राम

शतावरी(Asparagus)कल्प बनाने की विधि-


सबसे पहले आप शतावरी जड़ को दरदरा कूट कर 5 लीटर पानी में रात को भिगो दे तथा आप सुबह इसे गैस पर रखकर उबाले जब ये पानी पकते-पकते एक लीटर से कम बचे तब आप इसे उतार ले और कपड़ छन करके दूसरे बर्तन में निकाल ले-

अब एक किलो शक्कर को कड़ाही में डाले और उसमें एक-एक चम्मच शतावरी का काढ़ा डालकर हिलाते रहे जिससे शक्कर में काढ़ा घुल जाएगा पर शक्कर ठोस ही बनी रहेगी क्योकि काढ़े का पानी उड़ जाएगा बस इसी विधि से थोड़ा थोड़ा करके पूरा काढ़ा शक्कर में घुला दे बस ध्यान रहे कि शक्कर ठोस ही रहनी चाहिए अब शक्कर का रंग ब्राउन हो जाएगा तब गैस बंद कर के इसे ठंडा करें और ठंडे होने पर शक्कर के गठ्ठे को पीस ले और इसमें आप इलायची मिला ले आपका सर्वोत्तम स्त्री अमृत टॉनिक तैयार हो गया है-

शतावरी कल्प(Shatavari Kalp)सेवन विधि-


सुबह शाम एक-एक चम्मच एक कप दूध के साथ लेने से महिलाओं में चमत्कारिक लाभ होते है-

शतावरी(Asparagus)साइड-इफेक्ट-


वैसे शतावरी का साइड इफेक्ट नहीं है लेकिन इस बात का ध्यान रखें व्यक्ति को हार्ट और किडनी की कोई समस्या न हो ये भी देखा गया है कि कुछ लोगों को इस शतावरी कल्प का सेवन करने पर वज़न बढ़ने की शिकायत हो सकती है तथा जिन लोगों को अक्सर एलर्जी की शिकायत रहती है उनको शतावरी के सेवन से एलर्जी होने की संभावना हो सकती है-

प्रस्तुति-


चेतना कंचन भगत 


Read Next Post- 

सफ़ेद पानी(श्वेत प्रदर)आने की शिकायत तो नहीं

Upcharऔर प्रयोग-

कोई टिप्पणी नहीं

//]]>