loading...

22 अगस्त 2017

स्वप्न दोष होने के मुख्य क्या कारण हैं

किशोरावस्था में विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण, कामुकता, अश्लील साहित्य व अश्लील चलचित्रों का अवलोकन, खाने में तली-भुनी चीजों का ज्यादा इस्तेमाल, तेल-मसालेदार वस्तुओं का अत्यधिक सेवन, अधिक गर्म वस्तुएं चाय, कॉफ़ी आदि का अधिक प्रयोग, व्यायाम का अभाव व मानसिक तनाव ही स्वप्न दोष(Nocchural Emission)रोग के मुख्य कारण हैं-
स्वप्नदोष होने के मुख्य क्या कारण हैं

आजकल युवा वर्ग रात-दिन कामुक विचारों में रत रहने के कारण स्वप्न में भी युवा यही सब देखता है जिसके परिणामस्वरूप उसके प्राइवेट पार्ट से वीर्यपात होता रहता है वैसे तो स्वप्नदोष(Nocchural Emission)एक प्राकृतिक प्रक्रिया है पर जब इसके बाद सिरदर्द, चक्कर आना, कमजोरी, शिथिलता आदि दिखाई दे तो आपको इसके इलाज की ओर अवश्य ही ध्यान देना आवश्यक  हो जाता है-

वैसे तो स्वप्नदोष(Nocchural Emission)होना कोई समस्या नहीं है किशोरावस्था के दौरान लड़कों में स्वतः ही वीर्य स्खलन हो जाता है और यह एक सामान्य प्रक्रिया है जो एक किशोर लड़के के  जननांगों की परिपक्वता को दर्शाती है अध्कितर लड़कों में प्रातःकाल के समय  स्वतः वीर्य स्खलन होता है तथा कुछ में यह प्रक्रिया रात के समय भी होती है जब अनैच्छिक रूप से वीर्य स्खलन हो जाता है तो यह प्रक्रिया सामान्य है तथा ये उनकी सैक्स के रूप में कमजोरी को बिलकुल भी प्रदर्शित नहीं करती है और ना ही इससे शरीर को  कोई हानि होती है तथा न ही इसके इलाज की कोई आवश्यकता है-

मेरा फर्ज बनता है कि हम युवा वर्ग को यह आश्वासन दिलाएं ताकि यह उनकी चिन्ता का कारण ना बन  सके क्योंकि लड़कों के शरीर में शुक्राणु तथा वीर्य लगातार बनते रहते हैं  इसलिए नाईट फाॅल से हुए नुकसान की पूर्ति होती रहती है अपने आप वीर्य के नुकसान से कभी कमजोरी नहीं होती है आप किसी के बहकावे में कतई न आयें इस स्थिति में आपको किसी भी इलाज की आवश्यकता नहीं है तथा उम्र की परिपक्वता के साथ-साथ यह धीरे-धीरे कम होती जाती है-


सभी पोस्ट एक साथ पढने के लिए नीचे दी गई फोटो पर क्लिक करें-



सभी पोस्ट एक साथ पढने के लिए नीचे दी गई फोटो पर क्लिक करें-

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Loading...