loading...

22 अगस्त 2017

स्वप्न दोष होने के क्या-क्या लक्षण होते हैं

बाल्यावस्था से किशोरावस्था में प्रवेश के दौरान तेजी से वीर्य बनना और निकलना आरंभ हो सकता है और स्वप्न दोष(Nocchural Emission)के रूप में बाहर निकल सकता है इस बात से ज्ञात होता है कि किशोर प्रजनन के लिए परिपक्व हो गया है और इसके लिए किसी  उपचार की आवश्यकता नहीं होती है-

स्वप्नदोष होने के क्या-क्या लक्षण होते हैं

स्वप्नदोष(Nocchural Emission)के ख़ास लक्षण-


कुछ युवा इस बात को लेकर तनाव में  होते हैं तथा उपचार के लिए चले जाते हैं जो उनके स्वास्थ्य के लिए अत्यधिक  हानिकारक हो सकता है कुछ युवा कालेज में या बुरी संगत और दोस्तों के गलत चक्कर में पड़ कर हस्तमैथुन करने लगते हैं और परिणाम स्वरूप हस्तमैथुन के बाद होने वाले स्वप्नदोष(Nocchural Emission)में रोगी बेहद कमजोरी महसूस करने लगता है-

मन में घबराहट, एकाग्रता की कमी, किसी भी कार्य में उत्साह न रहना, शिथिलता, स्नायु दुर्बलता, धातुक्षीणता, राह चलते-चलते अचानक आंखों के आगे अंधेरा छा जाना(कमजोरी)आदि के लक्षण स्वप्नदोष(Nocchural Emission)के रोगी में पाये जा सकते हैं-

इसके अलावा भी स्वप्नदोष के अनेक कारण हो सकते हैं जैसे नींद में उत्तेजित होने से संबंधित हो सकता है या संबंधित नहीं भी हो सकता है क्यूंकि स्वप्नदोष मूत्राशय या  पुरुष का प्रजनन अंग पर दबाव के कारण अथवा बिना इच्छा के स्खलन के जरिए भी हो सकता है-

ध्यान रहे कि इससे  पुरुषत्व की कोई हानि नहीं होती है या फिर किसी प्रकार की यौन दुर्बलता नहीं आती है यह निश्चित रूप से  हानि रहित है और इसके लिए किसी उपचार की आवश्यकता भी नहीं होती है आपका शरीर निरंतर वीर्य और शुक्राणु बनाता रहता  है इसलिए स्वप्न दोष से हुई हानि की पूर्ति अपने आप हो जाती है-


सभी पोस्ट एक साथ पढने के लिए नीचे दी गई फोटो पर क्लिक करें-



सभी पोस्ट एक साथ पढने के लिए नीचे दी गई फोटो पर क्लिक करें-

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Loading...