This website about Treatment and use for General Problems and Beauty Tips ,Sexual Related Problems and his solution for Male and Females. Home treatment,Ayurveda treatment ,Homeopathic Remedies. Ayurveda treatment tips in Hindi and also you can read about health Related problems and treatment for male and female

17 मई 2017

मधुमेह यानि डायबिटीज एक खतरनाक रोग है

By
मधुमेह(Diabetes)एक खतरनाक रोग है जिसे अगर सही वक़्त पर रोका ना जाये तो इसका परिणाम जानलेवा भी हो सकता है आज तो भारत में करोडो व्यक्ति डायबिटीज(Diabetes)के शिकार हैं और इसका मुख्य कारण है असंयमित खानपान,मानसिक तनाव,मोटापा और व्यायाम की कमी और इसी कारण यह रोग हमारे देश में बड़ी तेजी से बढ़ रहा है-

मधुमेह यानि डायबिटीज एक खतरनाक रोग है

मधुमेह(Diabetes)बीमारी का प्रमुख लक्षण ब्लड ग्लूकोस लेवल बढ़ना यानि ब्लड कोलेस्ट्रॉल और वसा के अवयव असमान्य होना हैं डायबिटीज के मरीजों में आंखों, गुर्दो, स्नायु, मस्तिष्क, दिल के क्षतिग्रस्त होने से इनके गंभीर, जटिल, घातक रोग का खतरा बढ़ जाता है-

डायबिटीज(Diabetes)के प्रमुख कारण-


व्यायाम का अभाव
मानसिक तनाव होना
अत्यधिक नींद आना
अधिक मोटापा होना
चीनी और रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट के अत्यधिक सेवन करना
वंशानुगत कारण

मधुमेह(Diabetes)होने के लक्षण(Symptoms)-


बार-बार रात के समय पेशाब आते रहना
आंखों से धुंधला दिखना
थकान और कमजोरी महसूस करना
पैरों का सुन्न होना
प्यास अधिक लगना
घाव भरने में समय लगना
हमेशा भूख महसूस करना
वजन कम होना
त्वचा में संक्रमण होना
मूत्र बार-बार एवं अधिक मात्रा में होना तथा मूत्र त्यागने के स्थान पर मूत्र की मिठास के कारण चीटियां लगना
शरीर में फोड़े-फुंसी होने पर उसका घाव जल्दी न भरना
शरीर पर फोड़े-फुंसियां बार-बार निकलना
शरीर में निरन्तर खुजली रहना एवं दूरस्थ अंगो का सुन्न पड़ना

मधुमेह(Diabetes)होने पर क्या करे-


मधुमेह(Diabetes)होने के कारण पैदा होने वाली जटिलताओं की रोकथाम के लिए नियमित आहार, व्यायाम, व्यक्तिगत स्वास्थ्य, सफाई और संभावित इनसुलिन इंजेक्शन अथवा खाने वाली दवाइयों(डॉक्टर के सुझाव के अनुसार)का सेवन आदि कुछ तरीके हैं लेकिन कुछ उचित तरीको को अगर आप अपनाये तो मधुमेह को नियंत्रण कर सकते है-

1- सबसे पहले तो आप अपने खाने में शुगर यानी चीनी का कम से कम इस्तमाल करे इससे शरीर में इन्सुलिन को संतुलित करना आसान होता है-

2- यदि आप अपने ब्लड शुगर को नियंत्रित करना चाहते हैं तो आप सफेद चावल, पास्ता, पॉपकॉर्न,राइस पफ और वाइट फ्लौर से बचें क्यूंकि मधुमेह(Diabetes)के दौरान शरीर कार्बोहाइड्रेट्स को पचा नहीं पाता है जिसकी वजह से शुगर आपके शरीर में तेज़ी से जमा होने लगती है-

3- आपको वेट मनेजमेंट यानी अपने शरीर को संतुलित रखना जरुरी है क्योंकी डायबिटीज ज्यादातर मोटापे की वजह से ही होती है उचित व्यायाम आपके अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है आपके रोज़ एक्सरसाइज करने से आपका मटैबलिज़म भी अच्छा रहता है जो की डायबिटीज(Diabetes)के रिस्क को भी कम करता है-

4- फाइबर से युक्त आहार आपके ब्लड शुगर को कंट्रोल करता है अवशोषित फाइबर ब्लड में शुगर की अधिक मात्रा को अब्ज़ोर्ब कर लेता है और इन्सुलिन को नार्मल करके मधुमेह को नियंत्रित करता है-

5- ताज़ा सब्जियों में आयरन, जिंक, पोटेशियम, कैल्शियम और अन्य आवश्यक पोषक तत्व पाए जाते है जो आपके शरीर को पोषक तत्व प्रदान करते है जिसे आपका हृदय और नर्वस सिस्टम भी स्वस्थ रहता है इससे आपका शरीर आवश्यक इंसुलिन बनाता है-

6- फलो में प्राकृतिक चीनी बहुत अच्छी मात्रा में पाई जाती है जो की आपकी मिनरल्स और विटामिन्स की कमी को भी पूरा करेंगे तथा साथ ही आपकी शुगर को भी कंट्रोल करता है केला इसके लिए सबसे अच्छा फल है-

7- आप अपने भोजन करने का तरीका बदलें आपको थोड़े-थोड़े अन्तराल में भोजन करने से पोषक तत्व ज्यादा अब्ज़ोर्ब होते है और फैट शरीर में कम जमा होता है जिससे आपकी इन्सुलिन नार्मल हो जाती है-

8- रोजाना एक कप बिना शक्कर की हरी चाय पीने से आपके शरीर की गंदगी साफ होती है और इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट आपके ब्लड शुगर(Blood sugar)को भी नार्मल रखता है-

9- आपके लम्बे समय तक धूम्रपान करने से हृदय रोग और हार्मोन प्रभावित होने शुरू हो जाते है धूम्रपान की आदत छोड़ देने से आपका स्वास्थ्य तो अच्छा रहेगा ही साथ ही आपकी डायबिटीज(Diabetes)भी कंट्रोल रहेगी-

10- मधुमेह(Diabetes)की शुरुवात के साथ सबसे पहले हृदय पर बुरा प्रभाव पढ़ता है इसलिए डायबिटीज को चेक करने साथ साथ आपको अपने कोलेस्ट्रॉल के स्तर पर नजर रखने की जरूरत है-

11- कैफीन हृदय रोगों की संभावना को बढ़ाने के लिए जानी जाती है लेकिन अगर इसका कम प्रयोग करे तो इससे हमारा ब्लड शुगर भी कंट्रोल होगा क्योंकी कैफीन भूख को कम करने में भी मदद करती है जिसकी वजह से अनचाहा फैट शरीर में जमा नहीं हो पाता है-

12- ट्रांस फैट शरीर में प्रोटीन को ग्रहण करने की छमता को कम करता है जिसकी वजह से शरीर में इन्सुलिन की कमी हो जाती है और हमारे शरीर में ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है-

13- लाल मांस में फोलिफेनोल्स पाया जाता है जो की ब्लड में कोलेस्ट्रॉल(Cholesterol)के स्तर को बढ़ा देता है लाल मांस में जटिल प्रोटीन पाया जाता है जो बहुत धीरे से पचता है इसलिए लाल मांस मेटाबोलिसिम को धीमा करता है जिसकी वजह से इंसुलिन(Insulin)के बहाव पर असर पढ़ता है-

14- आप अपने भोजन में दालचीनी पावडर की मात्रा निश्चित करें दालचीनी आपके खाने को स्वादिष्ट बनाने के अलावा दालचीनी पाउडर आपका ब्लड शुगर भी कंट्रोल करता है-

15- अच्छे नेर्वेस के काम करने के लिए ऑक्सीटोसिन और सेरोटोनिन जिम्मेदार होते है अड्रेनलन के शरीर में रेलिज़ होने बहुत अधिक तनाव में भी इंसुलिन के बहाव में फर्क नहीं पड़ता है हाई ब्लड शुगर(High blood sugar)को नियंत्रित करने का सबसे शक्तिशाली तरीका है कि आप तनाव(स्ट्रेस)से दूर रहे-

16- मधुमेह के मरीजों को न केवल नमक, चीनी और कार्बोहाइड्रेट से भी दूर रहना चाहिए बल्कि उनको ट्रांस फैट से बनी चीज़े भी नहीं खानी चाहिए और ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए उन्हें फ़ास्ट फ़ूड से बिलकुल ही दूर रहना चाहिए-

17- आप एक ब्लड ग्लूकोस मोनिटर खरीद ले जिससे आप अपने घर पर ही अपने शुगर लेवल को जान सकते है इसमें आपके रक्त की कुछ बूंदे चाहिए होती है जिससे आप ये जान सकते है की आपका ब्लड शुगर नार्मल है या नहीं-चूँकि मधुमेह(Diabetes)के रोगियों को रोजाना चेकअप की जरुरत होती है रोज़ चेक अप होने से ब्लड शुगर लेवल का आपको पता चलता रहता है और आप अपने आहार और सावधानी पर पूरा-पूरा ध्यान दे सकते है-

18- एक वयस्क इन्सान को हर रात 7-8 घंटे की नींद लेनी चाहिए इससे आपको डायबिटीज होना का खतरा कम रहता है उन लोगों से जो कम सोते है इसके पीछे का विज्ञान यह है कि नींद मस्तिष्क को शांत और हर्मोनोस को बैलेंस रखता है उसी जगह कम नींद से हार्मोनल बैलेंस बिगड़ जाता है-

19- यदि आप रोज़ अपने भोजन में कैल्शियम के सप्लीमेंट ले तो हम काफी हद तक मधुमेह होने की संभावना कम कर सकते है तथा पानी शरीर में हाई शुगर कंटेंट को रोकता है इसलिए आप रोज़ 2.5 लीटर पानी अवश्य पिये क्यूंकि पानी पीने से ना केवल शरीर अच्छे से काम करता है बल्कि हृदय और मधुमेह रोगों की संभावना को भी कम करता है-

20- मधुमेह में प्रतिरक्षा प्रणाली यानी इम्यून सिस्टम कमज़ोर हो जाता है जिसकी वजह से चोट भी जल्दी ठीक नहीं होती है इस लिए चोट या घाव हो जाये तो उसका तुरंत इलाज करे-

21- जिन लोगों को मधुमेह है उन्हें हाई प्रोटीन डाइट खानी चाहिए क्योंकी ये शरीर के एनर्जी लेवल को कंट्रोल करता है लीन मीट उनके लिए बहुत अच्छा है जो नॉन वेजिटेरियन है क्योंकी इनमें हाई प्रोटीन होता है जो शरीर के लिए अच्छा होता है-

Read Next Post-

मधुमेह के रोगियों के लिए चने का सत्तू रामबाण है

Upcharऔर प्रयोग-

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें