This website about Treatment and use for General Problems and Beauty Tips ,Sexual Related Problems and his solution for Male and Females. Home treatment,Ayurveda treatment ,Homeopathic Remedies. Ayurveda treatment tips in Hindi and also you can read about health Related problems and treatment for male and female

28 मई 2017

मुंह और गले में कड़वा स्वाद क्या करें

By
कभी कभी कई कारणों से व्यक्ति के मुंह का स्वाद(Mouth taste)खराब हो जाता है वैसे बुखार के कारण भी मुंह का स्वाद खराब हो जाता है और भी अनेक कारणों से आपको भोजन के स्वाद के प्रति असंवेदनशील(Insensitive)बना देता है इसलिए सबसे पहले आपको मुँह में कड़वे स्वाद(Bitter taste)के कारणों का पता लगाने की जरूरत है-

मुंह और गले में कड़वा स्वाद क्या करें

मुँह में कड़वे स्वाद के सामान्य कारणों में दवायें, मसूड़े की सूजन या किसी अन्य गॅस्ट्रो-एसॉफेगियाल रिफ्लक्स डिसीज़ है जिसके कारण गला और मुंह खट्टे और कड़वे हो जाते हैं ये कभी कभी यह खाना खाने की इच्छा को भी ख़त्म कर देती है आइये पहले समझते है क्यों होता है आपके मुंह के स्वाद बिगड़ने का कारण-

मुंह के कड़वे स्वाद(Bitter Taste)का कारण-


1- आपको  बुखार की दवाएं या प्रसव पूर्व विटामिन, एंटीबायोटिक, अवसाद विरोधी, फोलिक एसिड और कुछ अन्य गर्भावस्था संबंधित दवाइयां आपके मुंह का कड़वा स्वाद करती है-

2- यदि हमेशा ही आपके मुंह में कड़वे स्वाद(Bitter Taste)का एक आम कारण है तो आप हर बार भोजन के बाद अपनी जीभ को साफ करें या माउथवाश का उपयोग करें-

3- एसिड रिफ्लक्स या गॅस्ट्रो-एसॉफेगियाल रिफ्लक्स डिसीज़ की वजह से अनुचित समय पर मसालेदार भोजन, ज्यादा खाना, उच्च वसा वाले खाद्य पदार्थ खाना कड़वे स्वाद(Bitter Taste)का कारण बनती है इस वजह पेट के रस का वापस गले में रिसाव होना है-

4- गॅस्ट्रो-एसॉफेगियाल रिफ्लक्स डिसीज़ के लक्षण से सीने में जलन, सिर दर्द, गैस, गले में खराश, मुंह की दुर्गन्ध, सूजन, और जी मिचलाना हैं-

5- दंत समस्याये जैसे पायरिया,  दंत फोड़े,  मसूड़ों में संक्रमण, अल्सर, और दंत फिलिंग से भी मुँह में कड़वा स्वाद हो सकता है-

6- गर्भावस्था के बाद हार्मोनल असंतुलन के कारण महिलाओं में एस्ट्रोजेन के स्तर में परिवर्तन कड़वा स्वाद(Bitter Taste) पैदा होती हैं-


मुँह में कड़वे स्वाद(Bitter Taste)के लिए-


1- यदि आपके दांत में किसी प्रकार का संक्रमण है तो आप आधा चम्मच नमक और चौथाई चम्मच सोडा को आपस में मिला ले फिर थोडा सा पानी डालकर एक पेस्ट सा बना लें और फिर अपने दांतों को इस पेस्ट से ब्रश करें इन दोनों का संयोजन किसी भी दंत संक्रमण को खत्म करने में मदद करता है इसे दिन में दो बार  दोहराएँ सुबह में और रात को सोते समय-

2- आप दिन में ढेर सारा पानी पिएं जो मुंह के कड़वे स्वाद को दूर करने में आपकी मदद करते है आपको कम से कम छ-सात गिलास पानी प्रतिदिन पीना चाहिए जिससे आपके पेट में विषाक्त अम्ल न बने चूँकि जल आपकी जीभ से बुरे स्वाद को खत्म करने के साथ मुंह के कडवेपन को भी खत्म करता है-

3- यदि आपके मुंह का स्वाद कडवा रहता है तो आप लौंग और दालचीनी को मिलाकर एक महीन में पाउडर पीस लें और इस पाउडर का एक चम्मच ले और अपने मुँह में रखें मुंह के कड़वे स्वाद को हटाने के लिए इस सरल घरेलु उपाय को एक दिन में कई बार दोहराएँ यह एक त्वरित, आसान और स्वाभाविक रूप से घर पर उपलब्ध उपाय है-

4- घर से निकलते समय आप अपने मुंह में एक लौंग डाल लीजिए और यह आपके मुंह को पूरे दिन के लिए ताजा रखने में मदद करता है अगर हो सके तो आप लौंग और दालचीनी का मिश्रण बना कर भी अपने पास रख सकते है जिसे आप थोड़ी थोड़ी सेर से सेवन कर सकते है-

5- हर्बल माउथ वॉश भी आपके  दांतों के बीच वाले हिस्से को साफ़ करने में मदद करता है इससे जीवाणु और रोगाणु जो कि आपके दांतों के बीच संचित हो सकते है उनको भी रोका जा सकता है तथा लंबे समय तक फंसे खाद्य कण दांत आपके मसूड़ों के लिए खतरनाक होते हैं और मुंह में बैक्टीरिया विकसित करने में मदद करते हैं इसलिए यह बेहतर है कि बैक्टीरिया की वृद्धि को रोका जाए इसके लिए आप जीभ को स्क्रेपर की मदद से जमे हुए कीटाणुओं को भी साफ़ अवश्य करें-

6- यदि आप नियमित अंतराल पर थोड़ी मात्रा में खाते हैं तो आपको यकीन भूख महसूस नहीं होगी और इस तरह से आप मुंह के भीतर बुरी गंध समाप्त कर सकते हैं इसलिए आपके लिए यह बेहतर है कि आप अपने खाने की आदतों को अनुकूलित कर लें यह सबसे अच्छा है कि आप कम मात्रा में खाना खाएं तथा तला हुआ और मसालेदार भोजन करना अच्छा नहीं है-

7- नमक के पानी के गरारे मुँह में कड़वे स्वाद को कम करने में मदद करते है एक गिलास पानी में एक चम्मच नमक घोल लें फिर इस घोल का प्रयोग गरारे करके अपने मुंह में मौजूद बैक्टीरिया को मारने के लिए करें आप अपने मुंह से संक्रमण को दूर करने के लिए इसे एक दिन में दो बार दोहरायें यदि आप इस उपाय को गर्म पानी के साथ करते है तो सामान्य पानी की तुलना में ज्यादा बेहतर है क्योंकि वे जीभ और गले पर बैक्टीरिया और संक्रमण को दूर करने में मदद करता है-

8- पिपरमिंट या श्वास वाले पुदीने के मिंट भी मुँह में कड़वा स्वाद को दूर करने के लिए इस्तेमाल किये जाते हैं यह सरल, आसान घरेलु  उपाय कड़वे स्वाद को अस्थायी रुप से समाप्त करते हैं और त्वरित राहत देते है-

Read Next Post-


Upcharऔर प्रयोग-

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें