Breaking News

प्राकृतिक चिकित्सा के क्या फायदे हैं

आज हर मनुष्य निरापद चिकित्सा चाहता है आज वो इस बात को समझने लगा है कि अगर शरीर को स्वस्थ और सम्रद्ध जीवन जीना है तो प्राकृतिक चिकित्सा(Natural Treatment)ही लाभदायक है प्राकृतिक चिकित्सा का सबसे बड़ा लाभ यही है कि यह निराप्रद और स्थायी तथा एक सम्पूर्ण चिकित्सा पद्धति है यानि रोग के लक्षणों पर नही किन्तु रोग के उदगम की जड़ पर ही चिकित्सा की जाती है जिससे अविश्वसनीय ओर स्थायी लाभ मिलते है-
Benefits of Natural Treatment

हमारे शरीर को ऊर्जा या शक्ति भोजन से, आराम यानि नींद से और श्वासोश्वास से मिलती है हर पल हमारी त्वचा के करोड़ो रोम छिन्द्र ब्रह्मांड से कॉस्मिक एनर्जी का शोषण करते रहते है यानि हमारा शरीर अपने आप मे ही एक ऊर्जा पिंड ही है और जब इस ऊर्जा के मार्ग में कुछ व्यधान आते है चाहे वो शारीरिक हो या मानसिक तब शरीर को क्षति पहुंचती है और रोगों का उदभव होता है-

जब हम उन रोगों की चिकित्सा के लिए प्राकृतिक तरीके यानि की आयुर्वेद, यूनानी, होमियोपैथी, बेचफ्लॉवर, एक्यूप्रेशर और सुजोक जैसी चिकित्साए अपनाते है तब हम स्वयं से जुड़ते है चिकित्सा के दौरान अगर हम गौर करे तो हमारा शरीर ही हमसे एक कनेक्शन बनाता है अगर चिकित्सा के दौरान यदि हम गहरे निरीक्षण करे तो हम शरीर मे होने वाले बदलावों को भी आप महसूस कर सकते है और धीरे-धीरे स्वयम के शरीर पर अपना कंट्रोल रख सकते है-

प्राकृतिक चिकित्सा(Natural Treatment)के दौरान पथ्य अपथ्य से ना केवल स्वास्थ सुधरता है बल्कि हमारी इच्छा शक्ति भी मजबूत बनती है और इसी इच्छा शक्ति की मदद से हम शारीरिक और मानसिक दोनों तकलीफों का सामना कर सकते है-

चिकित्सा के दौरान की परिचर्या से हमे अपने शरीर को जानने का मौका मिलता है और स्वास्थ्य की असली कीमत पता चलती है जब बीमारी से शरीर ही कमजोर नही होता किन्तु मन भी उदास, थका हुआ और निरुत्साही बनता है पर जब हम प्राकृतिक चिकित्सा(Natural Treatment)के तरीके आजमाते है तब शरीर और मन दोनों में स्फूर्ति महसूस होती है और साथ ही साथ में हमारा आत्मविश्वास भी बढ़ता है-

प्राकृतिक चिकित्सा(Natural Treatment)से हमे रोजाना दवाइया नही खानी पड़ती है और ना ही हमे गोलियों का गुलाम बनना पड़ता है बल्कि गड़बड़ सी जीवन शैली को सुधार कर आहार को औषिधि बनाकर बेहद सरल ढंग से स्वास्थ्य प्राप्त कर सकते है और सबसे बड़ा फायदा तो यह है कि रोगी स्वयं स्वस्थ हो कर दूसरो को भी प्रेरित कर सकता है-

इस तरह हम रोगों का इलाज ही नही किन्तु प्रीवेंशन भी कर सकते है इस तरह प्राकृतिक चिकित्सा(Natural Treatment)हमारे शरीर और मन को जोड़ती है तथा मन की नकारात्मकता को सकारात्मकता में बदल देती है और निश्चित ही हमे साइड इफेक्ट्स से बचाकर हमारी ऊर्जा और धन के व्यय को रोकती है और हमे स्वस्थ तन और मन प्रदान करती है-

हमारा स्वास्थ अनमोल है हम लाखो रुपये खर्च करके भी स्वास्थ्य को खरीद नही सकते स्वस्थ जीवन एक साधना है हमे बस अपने शरीर के प्रति थोड़ा जागृत ओर कन्सर्न होने की जरूरत है ताकि समय रहते समस्याओं से निपटा जा सके और रोगों की जड़ मजबूत होने से पहले उसे नेस्तानाबूद किया जा सके और रोगों को असाध्य होने से रोका जा सके और सच मानिए तो यही असली चिकित्सा है-

प्रस्तुती-

Dr. Chetna Kanchan Bhagat

Whatsup & call No- 8779397519

Read Next Post-


Upcharऔर प्रयोग-

कोई टिप्पणी नहीं

//]]>