11 जून 2017

स्वस्थ और फिट रहने के लिए क्या करें

आज भागदौड की लाइफ में हर व्यक्ति यही चाहता है कि वह पूरी तरह से फिट और स्वस्थ रहे तथा हेल्थी लाइफ(HealthyLife)जियें और सेहतमंद बना रहे तो सबसे पहले आप अगर अपने जीवन में सेहतमंद और स्वस्थ रहना चाहते है तो आपको खुद को आपको कुछ समय देना होगा स्‍वस्‍थ रहने के लिए हेल्‍दी डाइट चार्ट और उसका पालन करना बहुत अनिवार्य है-

स्वस्थ और फिट रहने के लिए क्या करें

अगर आप अपनी व्‍यस्‍त दिनचर्या में डाइट चार्ट को फॉलो नही करते हैं तो कई बीमारियों के होने का खतरा बना रहता है इसके अलावा आपका शरीर अस्‍वस्‍थ और कमजोर हो जाता है जिसके कारण आपको तनाव और टेंशन लोगों में एक आम समस्‍या बन जाती है-

आप के पास कितनी भी धन-दौलत क्यों न हो भले ही आपके पास एशो-आराम के हर संसाधन खरीदने की सामर्थ्य हो लेकिन आप अच्छी सेहत किसी दुकान से नहीं खरीद सकते है यदि आप खुद को स्वस्थ नहीं रख पायेगें तो फिर आपका धन-दौलत आपके किसी काम की नहीं है-

महिलाओं की तुलना में पुरुष ज्‍यादा काम करते हैं इसलिए उनको ज्‍यादा पोषणयुक्‍त आहार की जरूरत होती है क्या आप जानते है कि स्‍वस्‍थ रहने के लिए पुरुष को 1800 कैलोरी की जरूरत प्रतिदिन होती है चलिए आज हम आज आपके साथ यहाँ अच्छे स्वास्थ्य के लिए आपको कुछ उपाय बता रहें है जिन्हें अपना कर आप अपनी हेल्थी लाइफ(HealthyLife)जी सकते है-

हेल्दी लाइफ(HealthyLife)के लिए क्या करें-


1- हमारी दिनचर्या का जितना प्रभाव हमारी सफलता पर होता है उतना ही असर इसका हमारे स्वास्थ्य पर भी पड़ता है अगर आपकी दिनचर्या बहुत संतुलित होगी तो आपका स्वास्थ्य भी उतना ही अच्छा रहेगा और जब हमारी दिनचर्या रोजाना एक ही होती है तो इससे हमारे मस्तिष्क को भी हमारे शरीर को समझने में बड़ी आसानी होती है और वह हर काम को करने का आदी बन जाता है-

2- सुबह उठने से लेकर रात में सोने तक, हमारी दिनचर्या यानि दिन भर का शेड्यूल क्या हो यह आपको सेहत के लिए जानना बहुत जरुरी है मान ले कि आप रोज सुबह 6 बजे उठते है तो हल्का व्यायाम या मोर्निंग वाक(Morning Walk)करने के बाद नहा ले तथा फिर अपने रोजाना के समय पर नाश्ता करे और नाश्ता करने के बाद 15 मिनट आराम करे उसके बाद फिर आपको अपने काम में लग जाना चाहिए-

3- स्वस्थ और हेल्थी लाइफ के लिए आपका खाना या भोजन प्रमुख भूमिका निभाता है अगर आपका खाना अच्छा और पौष्टिक होगा तो वह आपकी सेहत को भी अच्छा बनाएगा यदि आप अपने भोजन के प्रति लापरवाही बरतते है या पौष्टिक भोजन नहीं लेते है तो यह आपके स्वास्थ्य को बीमार बना देगा आपको कौन सी चीज खानी चाहिए तथा किन चीजो से आपको परहेज करना चाहिए यह बात आपको अपने शरीर(Body)के हिसाब से आपको अवश्य ही पता होनी चाहिए-

4- आप अपनी प्रकृति(Nature)के हिसाब से ही आहार ले यानि की अगर आप में पित्त प्रकृति की मात्रा बहुत अधिक है तो आप पीली वस्तुओ जैसे कि ज्यादा तेल, हल्दी और इसी तरह की पीली चीजो से परहेज करे इसलिए अपने प्रतिदिन के भोजन में विटामिन्स(Vitamins), प्रोटीन्स(Protins), वसा(Fat), कार्बोहाइड्रेट, मिनरल्स(Minerls)आदि सभी चीजो को संतुलित मात्रा में अपने आहार में शामिल करे-

5- दोपहर दो बजे तक लंच कर ले तथा दोपहर का भोजन करने के बाद पन्द्रह मिनट तक चुपचाप बैठकर आराम करना हेल्थ के लिए अच्छा रहता है और शाम को पांच बजे भूख लगने पर थोड़ा सा नाश्ता लेने में कोई दिक्कत नहीं है यदि आप अपने काम से वापस घर आते है तो आपको आधे घंटे एकांत में आराम करना चाहिए और आपको 9 बजे तक रात का भोजन ले लेना चाहिए तथा फिर भोजन के एक या दो घंटे के बाद ही सोना चाहिए वैसे भोजन के बाद आधे घंटे तक टहलना भी आपकी सेहत के लिए काफी अच्छा होता है ऐसा करने से भोजन का पाचन बड़ी आसानी से हो जाता है-

6- आपको मौसम के अनुसार खुद को प्रकृति के हिसाब से खुद को परिवर्तित कर देना चाहिए जाड़ा, गर्मी और बरसात प्रकृति में जब ऋतु परिवर्तन होता है तब आप को भी खुद में परिवर्तन के लिए तैयार रहना चाहिए यही प्रकृति का नियम है ऋतु के बदल जाने पर प्रकृति में बदलाव दिखाई पड़ता है उसी तरह हमें अपने खान-पान, रहन-सहन, दिनचर्या और योगासनों में भी बदलाव कर लेना चाहिए प्रकृति ने हर ऋतु के अनुकूल फल, सब्जी और खाद्य पदार्थ बनाये है किसी अन्य ऋतु में पैदा होने वाली चीजो को किसी अन्य ऋतु में सेवन नहीं करना चाहिए आजकल तो हर मौसम में कोल्ड स्टोर में रक्खी हर चीज सभी मौसम में उपलब्ध हो जाती है लेकिन आपको उनसे बचना आवश्यक है सिर्फ मौसम के अनुसार ही मौसमी चीजों का सेवन करें-

7- आज बहुत से लोगों का योग के प्रति रुझान बढ़ा है योगा हमारे जीवन में अपना प्रमुख योगदान निभा रहा है वास्तव में योग द्वारा कई लोगो ने गंभीर बीमारियों से निकलकर स्वस्थ जीवन पाया है इसलिए योग करना भी आपके हेल्थ के लिए बहुमूल्य है इसलिए आप सुबह थोडा समय निकाल कर योग अवश्य करें-

8- आप पसीना निकलने वाले और गर्मी बढाने वाले आसनों को गर्मी के दिनों में न करे लेकिन सेहत के लिए मुद्राओ का अभ्यास भी जरुरी है इसलिए आपको ऋतुचर्या के मुताबिक ही योगासन और मुद्राओ का अभ्यास करना चाहिए जैसे-ज्ञान मुद्रा यह मुद्रा अंगूठा और तर्जनी को मिलाने से बनती है इसको रोजाना करने से याददाश्त बढती है और मानसिक बीमारियों को दूर करने में मदद मिलती है इससे अनिद्रा और चिडचिडापन भी दूर होता है-

9- चूँकि मुद्राएँ कई प्रकार की होती है सभी मुद्राओं का वर्णन हमने अपनी वेबसाईट पर दिया है आप पोस्ट खोजे में जाकर मुद्रा लिख कर पूरी जानकारी ले सकते हैं या फिर आप प्राण मुद्रा, पृथ्वी मुद्रा, वायु मुद्रा, ह्रदय मुद्रा, सूर्य मुद्रा आदि किसी अच्छे योग गुरु से सीख सकते है इन मुद्राओ के अभ्यास से आपको कई तरह की शारारिक और मानसिक समस्याओ से छुटकारा मिलता है-

10- हर व्यक्ति में दो प्रकार की सोच होती है निगेटिव और पाजिटिव सोच ये भी आपके जीवन में बड़ी भूमिका अदा करती है आप जरुर जानते होंगे कि ज्यादातर तनाव और अवसाद जैसी समस्याएं नेगेटिव सोच की वजह से पैदा होती है इसलिए तनाव व डिप्रेसन से लड़ने के लिए आपको अपनी थिंकिंग को सकारात्मक बनाना चाहिए तथा आपको अपनी सकारात्मक सोच को बढाने के लिए रोजाना भ्रामरी का अभ्यास करना चाहिए जहाँ तक हो सके तामसिक भोजन से परहेज भी करें और सूर्योदय से पहले उठने की आदत डालें-

11- सबसे ख़ास बात आप को अपनी संगत में अच्छे व्यक्तियों का ही चुनाव करें जब भी आप टी वी देखे या संगीत सुने तो भी सकारात्मक और सार्थक हो जिससे तनाव रहित हों सकारात्मक सोच से ही शारारिक और मानसिक सेहत को बनाये रखा जा सकता है इसलिए खुद को सकारात्मक बनाये रखने की हर समय कोशिश अवश्य करे-

12- क्या आप किसी मायूस व्यक्ति के साथ रहना पसंद करेगें तो आपका उत्तर शायद न में ही होगा तो फिर आप भी अपने समाज में लोगों के साथ खुशमिजाजी से जीना सीखें क्युकि हर व्यक्ति हँसते-मुस्कराते हुए व्यक्ति के साथ रहना ही पसंद करते है और हमेशा खुश रहने से या हँसते-खिलखिलाने से आपकी खुबसूरती भी बहुत बढ़ जाती है जो आपके व्यक्तित्व में चार चाँद लगाती है हँसना भी स्वास्थ के लिए लाभदायक है जब भी हँसे तो खुल कर हसें इससे आपके मुंह का शारीरिक व्यायाम भी हो जाता है-

13- क्या आप जानते है कि खुश रहने के स्वास्थ के लिए क्या लाभ हैं आप जब खुश रहते है तब आपके शरीर में ऐसे हार्मोन्स(Harmons)उत्पन्न होते है जो आपको तनाव(Stress)से लड़ने में भी सहायता करते है आपके रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने तथा शारारिक और मानसिक सेहत को बेहतर करने एवं पाचन क्रिया को बढ़ाने तथा याददाश्त बढ़ाने के लिए खुल कर हंसने से बेहतर और कोई उपचार या दवा या तरीका नहीं है और न ही कोई आसन या प्राणायाम ही है इसलिए हमेशा खुश रहे और स्वस्थ रहें-

14- आप दिन में कम से कम दो बार आधे घंटे पार्क में, बाग़ में या शीशे के सामने अकेले में खुलकर हंसने का अभ्यास करे इससे आपके शरीर के अंग-अंग में स्फूर्ति तथा रक्तसंचार में बढ़ोतरी होती है इसलिए हँसते रहे और अच्छी सेहत बनाये रखे-

15- अब शायद आपको मेरी बात अच्छी तरह समझ आ गई होगी कि अच्छे स्वास्थ्य के लिए शारारिक(Physical)व मानसिक(Mentaly)श्रम करना बहुत आवश्यक है क्योंकि बिना शारारिक श्रम के तंदुरुस्ती बेहतर नहीं हो सकती है फिजिकल वर्क करने से हड्डियाँ भी मजबूत होती है इस तरह आप तन और मन में संतुलन बनाये रखने से शारारिक और मानसिक रूप से सेहतमंद रह सकते है-

Read Next Post-

क्या हो रुटीन आपका डाईट चार्ट-अगली पोस्ट में

Upcharऔर प्रयोग-

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Loading...