Breaking News

कमर दर्द-पीठ दर्द-सायटिका व घुटनो के दर्द केे लिए प्रयोग

कई लोगों को आजकल कमर दर्द(Waist Pain)पीठ दर्द-सायटिका व घुटनो के दर्द की शिकायत हो रही है तो मै आज आपके लिए एक अभ्यंगम दर्द निवारक तैल का प्रयोग बता रही हूँ ये एक अक्सीर चिकित्सा प्रयोग है जिसके प्रयोग से तुरंत ही लाभ होता है-

Waist Pain-Back Pain-Cytica-Knee Pain Oil

इस प्रयोग में(अभ्यंगम)दर्द निवारक तेल से मसाज की जाती है और उसके बाद(पिंड स्वेदनम)कल्क पोटली से मसाज की जाती है जिससे गर्मी व तेल तथा मसाज के गुण एक साथ मिलते है कमर दर्द(Waist Pain)पीठ दर्द(Back Pain)सायटिका(Cytica)व घुटनो का दर्द(Knee Pain)तुरंत गायब हो जाता है यह प्रयोग आप घर पर आसानी से कर सकते हैं व दर्द से राहत पॉ सकते हैं-

तैल(Oil)बनाने की विधि-


लहसुन- 50 ग्राम
अदरक- 50 ग्राम
मेथी दाना- 50 ग्राम
हल्दी- 50 ग्राम
एलोवेरा गुदा- 50 ग्राम
आक के पत्ते- 20 पीस
नीलगिरी के पत्ते- 30-40 पीस
तिल तैल- 500 ml
सरसो का तेल- 500 ml


बनाने की विधि- 


सबसे पहले आप रात को मेथी ओर हल्दी को 100ml पानी मे भिगो दें फिर सुबह बड़े पात्र में दोनों तैल(तिल व सरसों)तथा भिगोई मेथी के साथ डाले तथा अदरक,लहसुन को मोटा-मोटा कूट कर डाले और एलोवेरा गुदा और दोनों पत्तो को छोटे-छोटे टुकड़े इसी तैल में डाले-

अब इस सामग्री को आप 3 घण्टे तक पड़ा रहने दें और फिर तीन घंटे के बाद धीमी आंच पर पकाएं और जब सारा पानी जल जाए और सारी सामग्री तैल में पक कर कड़क हो जाए और तेल उबल जाए तब तक आप इसे पकाएं फिर ठंडा करके साफ बड़े कपड़े से इसे छान लें और छानने पर कपड़े में जो चूरा शेष बचे उसे उसी कपड़े में पोटली बांधकर किसी पात्र में सुरक्षित रख दे-


प्रयोग विधि-


अब आप दर्द वाले स्थान पर ऊपर बनाए गए तैल से मसाज करें तथा मसाज के बाद रक्खी हुई चूरे की पोटली को तवे पर हल्का गर्म करके दर्द के स्थान पर सेक करे-

इस पोटली में बंधे औषधि चुरा ओर उसमे बचा हुआ तेल सेक के दौरान त्वचा में आसानी से जब्ज हो जाता है और दर्द निवारण होता है-


प्रस्तुति-

Dr. Chetna Kanchan Bhagt

Read Next Post-


Upcharऔर प्रयोग-

कोई टिप्पणी नहीं