28 सितंबर 2017

बुद्धिवर्धक और मस्तिष्क को शक्तिशाली बनाये-Make Strong the Intellectual and Brain

Make Strong the Intellectual and Brain-


आजकल विशुद्ध खान-पान की वजह से लोगों का बौद्धिक स्तर कमजोर होता जा रहा है अत: अपने मस्तिष्क(Brain)को शक्तिशाली बनाने के लिए आपके लिए "Upcharऔर प्रयोग" आपके लिए कुछ बुद्धिवर्धक(Intellectual)प्रयोग लाया है जिनका प्रयोग करके आप अपने मस्तिष्क को शक्तिशाली बना सकते है आप किसी एक का भी प्रयोग करके लाभ ले सकते हैं

बुद्धिवर्धक और मस्तिष्क को शक्तिशाली बनाये-Make Strong the Intellectual and Brain

Upcharऔर प्रयोग


"सबसे पहले आप बबूल का गोंद आधा किलो लेकर शुद्ध गाय घृत में तल कर फूलने पर निकाल लें और फिर ठंडा करके बारीक पीस लें फिर इसके बराबर मात्रा में पिसी मिश्री तथा पांच ग्राम दालचीनी का पाउडर इसमें मिला लें और बीज निकाली हुई मुनक्का 250 ग्राम और बादाम की छिली हुई गिरी 100 ग्राम भी मिला कर दोनों को खल बट्टे(इमाम दस्ते)में खूब कूट-पीसकर इसमें मिला लें और कांच के बर्तन में ढक्कन बन्द कर रखें।"


कैसे प्रयोग करें-


अब आप इसे सुबह नाश्ते के रूप में इसके दो चम्मच खूब चबा-चबा कर खाएं तथा साथ में एक गिलास मीठा दूध घूंट-घूंट करके पीते.रहे इसके बाद जब खूब अच्छी भूख लगे तभी भोजन करें इस प्रयोग से मस्तिष्क(Brain)को बल मिलता है और याददास्त भी अच्छी होती है छात्र-छात्राओं के साथ दिमागी मेंहनत करने वाले भी इसका प्रयोग करके लाभ प्राप्त करें।


अन्य कुछ प्रयोग-

1- ब्राह्मी, शंखपुष्पी, वच, असगंध, जटामांसी, तुलसी समान मात्रा में लेकर चूर्ण का प्रयोग नित्य प्रतिदिन दूध के साथ करने पर मानसिक शक्ति, स्मरण शक्ति में वृध्दि होती है। ब्रह्मी दिमागी शक्ति बढाने की मशहूर जडी-बूटी है। इसका एक चम्मच रस नित्य पीना हितकर है। इसके 7 पत्ते चबाकर खाने से भी वही लाभ मिलता है। ब्राह्मी मे एन्टी ओक्सीडेंट तत्व होते हैं जिससे दिमाग की शक्ति घटने पर रोक लगती है।

2- देशी गाय का शुध्द घी, दूध, दही, गोमूत्र, गोबर का रस समान मात्रा में लेकर गरम करें। घी शेष रहने पर उतार कर ठंडा करके छानकर रख लें। यह घी ‘पंचगव्य घृत’ कहलाता है। रात को सोते समय और प्रात: देशी गाय के दूध में 2-2 चम्मच पिघला हुआ पंचगव्य घृत, मिश्री, केशर, इलायची, हल्दी, जायफल, मिलाकर पिएं। इससे बल, बुध्दि, साहस, पराक्रम, उमंग और उत्साह बढ़ता है। हर काम को पूरी शक्ति से करने का मन होता है और मनोवांछित फलों की प्राप्ति होती है।

3- बादाम 9 नग रात को पानी में गलाएं।सुबह छिलके उतारकर बारीक पीस कर पेस्ट बनालें। अब एक गिलास दूध गरम करें और उसमें बादाम का पेस्ट घोलें।  इसमें ३ चम्मच शहद भी डालें।भली प्रकार उबल जाने पर उतारकर मामूली गरम हालत में पीयें। यह मिश्रण पीने के बाद दो घंटे तक कुछ न लें। यह स्मरण शक्ति वृद्दि करने का जबर्दस्त उपचार है। दो महीने तक करें।

4- दूध और शहद मिलाकर पीने से भी याददाश्त में बढोतरी होती है। विद्ध्यार्थियों के लिये फ़ायदेमंद उपचार है।250 मिलि गाय के दूध में 2 चम्मच शहद मिलाकर उपयोग करना चाहिये।

5- अखरोट  जिसे अंग्रेजी में वालनट कहते हैं स्मरण शक्ति बढाने में सहायक है। नियमित उपयोग हितकर है। 20 ग्राम वालनट और साथ में 10 ग्राम किशमिस लेना चाहिये।

6- जिन फ़लों में फ़ास्फ़ोरस तत्व पर्यात मात्रा में पाया जाता है वे स्मरण शक्ति बढाने में विशेषतौर पर  उपयोगी होते है।  अंगूर ,खारक ,अंजीर एवं संतरा दिमागी ताकत बढाने के लिये नियमित उपयोग करना चाहिये।

7- गाजर में एन्टी ओक्सीडेंट तत्व होते हैं। इससे रोग प्रतिरक्षा प्राणाली ताकतवर बनती है। दिमाग की ताकत बढाने के उपाय के तौर पर इसकी अनदेखी नहीं करना चाहिये।

8- चार-पांच बादाम की गिरी पीसकर गाय के दूध और मिश्री में मिलाकर पीने से भी मानसिक शक्ति बढ़ती है।

9- तुलसी के 9 पत्ते ,गुलाब की पंखुरी और काली मिर्च नग एक  खूब चबा -चबाकर खाने से दिमाग के सेल्स को ताकत मिलती है

10- दालचीनी का पावडर बना लें अब 10 ग्राम पावडर शहद में मिलाकर चाट लें। कमजोर दिमाग की अच्छी दवा है आंवला का रस एक चम्मच 2 चम्मच शहद मे मिलाकर उपयोग करें। भुलक्कड पन में आशातीत लाभ होता है।


प्रस्तुति-

STJ- Chetna Kanchan Bhagat

Whatsup-8779397519

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Loading...