9 अक्तूबर 2017

सौंदर्य वर्धक विटामिन

Beauty Enhancer Vitamins 

हमारे शरीर को स्वस्थ रखने तथा शरीर के योग्य विकास के लिए विटामिन्स बेहद जरूरी है विटामिन ना सिर्फ हमारे शरीर को योग्य पोषण देकर उसे स्वस्थ रखते है बल्कि विटामिन्स सौंदर्य वर्धन भी करते है आगे देखे-

सौंदर्य वर्धक विटामिन


सौंदर्य वर्धक विटामिन्स क्या हैं-


सौंदर्य वर्धक विटामिन

विटामिन A- 


जिसे रेटिनोल भी कहते है यह विटामिन चहेरे पर बनते अनचाहे दाग, धब्बों, झुर्रियों को कम करने में मदद करता है त्वचा की उपरि सतह का रूखापन तथा खुरदुरापन दूर करता है विटामिन A में एंटीसेप्टिक गुण भी होता है जिससे कील मुहाँसे कम होने में मदद मिलती है तथा यह शिबेशीयस ग्लैंड्स (Sebaceous Glands) यानि त्वचा की परतों के नीचे आई हुई तैलग्रन्थियो को भी सुचारू रूप से कार्यरत रखता है जिससे त्वचा की झाइयां व झुर्रियां कम होती है यह कोलेजन (Collagen) बनाने की प्राकृतिक प्रक्रिया को गतिशील बनाता है तथा नए कोष (Skin Cells) बनाता है विटामिन A दाग, धब्बों को मिटाकर त्वचा बेदाग बनाता है-

स्त्रोत- 


गाजर, चुकुन्दर, टमाटर, हरी सब्जियां, कद्दू, दुध, पनीर, चीकू, शकरकन्द आदि-

विटामिन B1- 


थाइमाइन के नाम से जाना जाने वाला विटामिन B1 उत्तम एंटीएजिंग है यह बढ़ती उम्र का प्रभाव रोकने में मदद करता है इसके शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidant) फ्री रेडिकल्स को कम करते है तथा बढ़ती उम्र से त्वचा पर होनेवाले प्रभावों को कम करते है-

स्त्रोत- 


गेहूं, मटर, संतरे, मूंगफली, अंडे, चावल, अंकुरित दालें आदि-

विटामिन B5 (Pantothenic acid)-


पंथोथेनिक एसिड झुर्रियां को मिटाता है यह त्वचा की ऊपरी परत पर नमी की परत बनाए रखने में मदद करता है जिससे त्वचा मुलायम बनती है यह त्वचा की सूजन,जलन दूर करता है तथा त्वचा को जवान व चमकीला बनाए रखता है यह विटामिन वजन कंट्रोल करने में भी उत्तम सहाय करता है-

स्त्रोत- 


दूध, मख्खन, पिस्ता, दालें, खमीर वाले खाद्य पदार्थ आदि-

विटामिन B6 (Pyridoxine)-


पायरोडोक्साइन-यह एक उत्तम एंटीसेप्टिक है जो त्वचा रोगों में बेहद कारगर है यह कील, मुहाँसे, फोड़े, फुंसी की उत्तम दवा है यह विटामिन ब्लड सर्क्युलेशन बढाकर त्वचा को पोषण देता है तथा त्वचा व खून से विशैले तत्वों को निकालकर खून साफ करता है यह हीमोग्लोबिन भी बढ़ाता है-

स्त्रोत- 


मांस,मछली, अंडे की जर्दी, चावल, गेहूं, मूली, अंगूर आदि-

विटामिन B9 (Folic acid) फोलिक एसिड-


यह विटामिन कील , मुहाँसे तथा छालों पर बेहद असरदार है इसकी कमी से त्वचा सुष्क, रूखी तथा बेजान हो जाती है इसलिए यह विटामिन स्वस्थ त्वचा व साफ रंगत के लिए बेहद जरूरी है-

स्रोत- 


अंकुरित दाल, दलिया, मटर, मूंगफली आदि-

विटामिन C (Ascorbic acid)-


एस्कोर्बिक ऐसिड यह विटामिन रक्तनलिकाओ को टोन करता है तथा ब्लड सर्क्युलेशन को सुचारू करता है जिससे त्वचा की सफाई ठीक से होती है तथा त्वचा को योग्य पोषण भी मिलता है यह त्वचा की मृत परत (Dead cells) हटाने तथा कोलेजन (Collagen) बनने में भी मदद करता है जिससे त्वचा में कसाव बना रहता है और त्वचा जवान दिखती है-

स्त्रोत- 


मुनक्का, हरा धनिया, पालक, संतरा, अंगूर, खट्टे फल, नींबू, केला, सेब, अमरूद व शलगम आदि-

विटामिन D- 


यह विटामिन त्वचा तथा हड्डियो को पोषण देता ह कुपोषण से बचाता है तथा उम्र से पहले होने वाले एजिंग इफेक्ट्स से बचाता है यह बालों की जड़े मजबूत करता है जिससे बालो का झड़ना कम होता है यह नाखूनों को भी टूटने से बचाता है-

स्त्रोत- 


दूध, चीज, पनीर, गाजर, कोडलीवर, सूरजमुखी के बीज व तेल


विटामिन E -


इस विटामिन को सौंदर्य का खजाना कहा जाता है इसीलिए ब्युटिशयन तथा सौंदर्य प्रसाधन बनाने वाली कम्पनियो की यह पहली पसंद है यह त्वचा तथा बालों को नर्म, मुलायम बनाता है त्वचा को प्रदूषण तथा अल्ट्रावायलेट (Uv) किरणों के दुष्प्रभाव से बचाता है यह एक उत्तम एंटी एजिंग है इसीलिए इसे तैल, फेस पैक, फेस क्रीम तथा जेल में मिलाकर त्वचा पर लगाया जाता है यह त्वचा की रंगत निखारता है त्वचा तथा बालों को चमकीला बनाता है बालों व नाखूनों को टूटने से बचाता है-

स्त्रोत- 


मक्का, ब्रोकोली, बादाम, सूरजमुखी, पालक, एवोकैडो, पार्सली, पपीता, ऑलिव्स-

विटामिन K-


यह विटामिन पिगमेंटेशन कम करता है घावो को भरता है यह त्वचा की सूजन दूर करता है कील मुहाँसे की जलन व सूजन कम करता है तथा उनको जल्दी सुखाता है यह विटामिन त्वचा को इंफेक्शन से भी बचाता है-

स्त्रोत- 


सोयाबीन, स्ट्रॉबेरी, मिट, अंडे, हरि प्याज, मिर्ची, ककड़ी, प्रून्स, फूलगोभी, बंद गोभी, कनोला तैल, कपासिया तैल-

विशेष सूचना-

सभी मेम्बर ध्यान दें कि हम अपनी नई प्रकाशित पोस्ट अपनी साइट के "उपचार और प्रयोग का संकलन" में जोड़ देते है कृपया सबसे नीचे दिए "सभी प्रकाशित पोस्ट" के पोस्टर या लिंक पर क्लिक करके नई जोड़ी गई जानकारी को सूची के सबसे ऊपर टॉप पर दिए टायटल पर क्लिक करके ब्राउज़र में खोल कर पढ़ सकते है....

किसी भी लेख को पढ़ने के बाद अपने निकटवर्ती डॉक्टर या वैद्य के परमर्श के अनुसार ही प्रयोग करें-  धन्यवाद। 

Upchar Aur Prayog 

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Tags Post

Information on Mail

Loading...