9 दिसंबर 2017

गैस नाशक गैसहर चूर्ण आप घर में बनायें

Homemade Gas Discharger


हिंदी में आयुर्वेद उपचार-Ayurveda treatment in Hindi


यदि आप चाहते है कि कोई अच्छा सा गैसहर (Gashar) चूर्ण का नुस्खा मिल जाए तो आप परेशान क्यों हैं आइये आप अपने घर पर ये गैसहर चूर्ण बना ले ये गैसहर चूर्ण आपको बाजार के बने चूर्ण से सस्ता व ताजा भी मिलेगा-

गैस नाशक गैसहर चूर्ण आप घर में बनायें

सबसे पहले आप छोटी हरड़ (बाल हर्र) एक किलो लेकर इन्हें साफ करके दही की छाछ (मही) में भींगने को डाल दें आप यदि सुबह फूलने को छाछ में डालें तो दूसरे दिन सुबह छाछ मे से निकाल कर पानी से साफ करके फिर इसे छाया में कपड़े पर डाल कर सुखा लीजिये और जब सूख जाएं तब फिर पुन: छाछ में डालिये-इस छाछ में डालकर इसे सुखाने को 'मही की भावना' देना कहते हैं-इस प्रकार आप इन हर्रों को मही की 3-4-6 (छ: बार तक) भावनाएं दीजिये-अब भावना देने के बाद, सूख जाने पर इसे आप महीन-महीन पीस लीजिये और बारीक चलनी से छान लीजिये -

अब आप इस प्रकार बनाये गए एक किलो छोटी हरड़ के चूर्ण में पाव किलो (250 ग्राम) अजवाइन पीस कर मिला लीजिये और फिर 50 ग्राम सज्जी खार भी एड करे इस चूर्ण में काला नमक आप अपनी रुचि अनुसार मिला लीजिये-बस आपका उत्तम गैसहर (Gashar) चूर्ण तैयार है-आप कम बनाना चाहें तो इसकी मात्रा आधी कर लें लेकिन भावना आपको चार से छ बार ही देना है-

चूर्ण सेवन विधि-


भोजन के बाद सेहत के अनुसार आप यह चूर्ण गुनगुने पानी से लें-(ठंडा पानी से भी ले सकते है)

लाभ-


1- इससे आपकी पाचन शक्ति भी बढ़ती है और दस्त साफ होते हैं तथा कब्ज भी नहीं होती है-

2- गैस का दर्द दूर करने के लिये यह अचूक और शर्तिया दवा है-

3- इसका नियमित सेवन भी कर सकते है कोई साइड इफेक्ट नहीं है तथा गैस की तकलीफ आपको कभी भी नहीं होगी-

4- यदि आपको ये तकलीफ है तो बस 5-6 मिनिट मे ही आराम होता है-

गैसहर (Gashar) चूर्ण बनाने की दूसरी विधि-


आप इन हर्रों को रेत में भूंज लीजिये भूनने पर खूब फूलती है फिर इन्हें पीस लीजिये ये जल्दी पिस जाते है और पांच ग्राम की मात्रा गुनगुने पानी से सेवन करे-

गैसहर (Gashar) चूर्ण बनाने की तीसरी विधि-


इसी  चूर्ण में 60 ग्राम सनाय (सोनामुखी) की पत्ती को हलका भुनकर चूर्ण बनाकर डालने से पुराने से पुराना बध्दकोष्ट (कब्ज) भी हफते भर में ठीक हो जाता है-सनाय की पत्ती, बिना भून का डालने से, पेट में भरोड़ आती है इसलिये इसे हल्का अवश्य ही भून लें-

पेट की गैस की बीमारी यदि पुरानी न हो तो निम्नलिखित पेट की गैस-निवारक चटनी के सेवन से लाभ प्राप्त किया जा सकता है-

गैस (Gas) निवारक चटनी-


मुनक्का (बीज निकाल कर) -30 ग्राम
अदरक- 6 ग्राम
सौंफ बड़ी- 6 ग्राम
काली मिर्च- 3 ग्राम
सेंधा नमक - 3 ग्राम (या स्वादानुसार)-(ये सभी चीजे बाजार में आसानी से उपलब्ध है)

इन पांचों वस्तुओं को थोड़े पानी में पीसकर चटनी बना लें अब इसे दोनों समय भोजन के समय रोटी या चावल के साथ आवश्यकतानुसार 1-2 चम्मच चटनी की भांति चाटें-आपको पेट की गैस और पेट खराबी में आराम मिलेगा-

नोट-


एक लौंग और एक इलायची प्रत्येक भोजन व नाश्ता के बाद लें लेते हैं तो आपको कभी भी एसिडिटी व गैस नहीं होती है-

प्रस्तुती- Satyan Srivastava

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Tags Post

Information on Mail

Loading...