27 जनवरी 2018

मानसिक बीमारी के लिए उपचार

loading...

आज के युग में इन्शान की तनाव (Tension) भरी जिन्दगी, काम की भागदौड, घरेलू झगडे आदि जैसे कारणों से मस्तिष्क पे बुरा प्रभाव पड़ता है जिससे स्मरण शक्ति (Memory) का हास होना स्वाभाविक है और धीरे-धीरे समयानुसार आत्मविश्वास में भी कमी होने लगती है-

मानसिक बीमारी के लिए उपचार

वक्त रहते आपको इन सभी कमियों को दूर करना भी आवश्यक है वर्ना कुछ समय बाद आपको भूलने जैसी बीमारी का शिकार होना पड़ता है इस प्रकार का व्यक्ति क्रोध , बैचेनी, सिरदर्द, आत्म-ग्लानी का भी शिकार हो जाता है आप सभी के लिए एक नुस्खा है जिसे प्रयोग करके अपने मस्तिष्क को शक्तिशाली बना सकते हैं-

सामग्री-


शंखपुष्पी  - 100 ग्राम
ब्राह्मी     - 100 ग्राम
गिलोय    - 100 ग्राम
आंवला    - 100 ग्राम (सूखा हुआ )
जटामासी - 100 ग्राम 

(सभी सामग्री आयुर्वेद जड़ी-बूटी विक्रेता से आसानी से प्राप्त )

प्रयोग विधि-


उपर दी गई सभी सामग्री को महीन कूट-पीस कर और छान कर एक एयर टाईट कांच के बर्तन में रख ले और प्रतिदिन इसकी एक-एक चम्मच मात्रा शहद या जल या आंवले के शरबत के साथ दिन में तीन बार ले तथा बच्चो को इसकी मात्रा आधा चम्मच दे- 

गर्भवती महिला यदि गर्भ-काल में नियमित सेवन करती है तो होने वाला बच्चा हर प्रकार से स्वस्थ और मानसिक रोगों मुक्त रहता है-वृद्ध भी इसका सेवन कर सकते है ये पूर्ण रूप से सुरक्षित प्रयोग है-

कुछ समय लगातार इसके नियमित प्रयोग से आपका मानसिक स्तर काफी हद तक उच्चता को प्राप्त करता है और जिन लोगों को भूलने की बीमारी है इसके सेवन से उनको काफी लाभ होता है-

आप इसे भी देखे-

विशेष सूचना-

सभी मेम्बर ध्यान दें कि हम अपनी नई प्रकाशित पोस्ट अपनी साइट के "उपचार और प्रयोग का संकलन" में जोड़ देते है कृपया सबसे नीचे दिए "सभी प्रकाशित पोस्ट" के पोस्टर या लिंक पर क्लिक करके नई जोड़ी गई जानकारी को सूची के सबसे ऊपर टॉप पर दिए टायटल पर क्लिक करके ब्राउज़र में खोल कर पढ़ सकते है....

किसी भी लेख को पढ़ने के बाद अपने निकटवर्ती डॉक्टर या वैद्य के परमर्श के अनुसार ही प्रयोग करें-  धन्यवाद। 

Upchar Aur Prayog 

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Loading...

कुल पेज दृश्य

Upchar और प्रयोग

प्रस्तुत वेबसाईट में दी गई जानकारी आपके मार्गदर्शन के लिए है किसी भी नुस्खे को प्रयोग करने से पहले आप को अपने निकटतम डॉक्टर या वैध्य से अवश्य परामर्श लेना चाहिए ...

लोकप्रिय पोस्ट

लेबल