27 जनवरी 2018

मानसिक बीमारी के लिए उपचार


आज के युग में इन्शान की तनाव (Tension) भरी जिन्दगी, काम की भागदौड, घरेलू झगडे आदि जैसे कारणों से मस्तिष्क पे बुरा प्रभाव पड़ता है जिससे स्मरण शक्ति (Memory) का हास होना स्वाभाविक है और धीरे-धीरे समयानुसार आत्मविश्वास में भी कमी होने लगती है-

मानसिक बीमारी के लिए उपचार

वक्त रहते आपको इन सभी कमियों को दूर करना भी आवश्यक है वर्ना कुछ समय बाद आपको भूलने जैसी बीमारी का शिकार होना पड़ता है इस प्रकार का व्यक्ति क्रोध , बैचेनी, सिरदर्द, आत्म-ग्लानी का भी शिकार हो जाता है आप सभी के लिए एक नुस्खा है जिसे प्रयोग करके अपने मस्तिष्क को शक्तिशाली बना सकते हैं-

सामग्री-


शंखपुष्पी  - 100 ग्राम
ब्राह्मी     - 100 ग्राम
गिलोय    - 100 ग्राम
आंवला    - 100 ग्राम (सूखा हुआ )
जटामासी - 100 ग्राम 

(सभी सामग्री आयुर्वेद जड़ी-बूटी विक्रेता से आसानी से प्राप्त )

प्रयोग विधि-


उपर दी गई सभी सामग्री को महीन कूट-पीस कर और छान कर एक एयर टाईट कांच के बर्तन में रख ले और प्रतिदिन इसकी एक-एक चम्मच मात्रा शहद या जल या आंवले के शरबत के साथ दिन में तीन बार ले तथा बच्चो को इसकी मात्रा आधा चम्मच दे- 

गर्भवती महिला यदि गर्भ-काल में नियमित सेवन करती है तो होने वाला बच्चा हर प्रकार से स्वस्थ और मानसिक रोगों मुक्त रहता है-वृद्ध भी इसका सेवन कर सकते है ये पूर्ण रूप से सुरक्षित प्रयोग है-

कुछ समय लगातार इसके नियमित प्रयोग से आपका मानसिक स्तर काफी हद तक उच्चता को प्राप्त करता है और जिन लोगों को भूलने की बीमारी है इसके सेवन से उनको काफी लाभ होता है-

loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कुल पेज दृश्य

सर्च करें-रोग का नाम डालें

Information on Mail

Loading...