अब तक देखा गया

18 मार्च 2018

वायु गैस या अफारा का घरेलू उपचार

Home Remedies for Gas


उदर-वायु एक आम तथा कभी न कभी हर किसी को होने वाली समस्‍या है पेट गैस को अधोवायु बोलते हैं यह तब होती है जब शरीर में भारी मात्रा में गैस भर जाती है ये खान-पान में अनियमितता करने के कारण पेट में बहुत गैस पैदा होने से होती है जब तक यह गैस बनकर निष्कासित होती रहे तब तक तो शरीर को कोई तकलीफ नहीं होती मगर जब यह गैस निकलने का नाम न ले और अफारा बना रहे तब बड़ी ही कठिनाई होती है-

वायु गैस या अफारा का घरेलू उपचार

पेट में गैस बनने के घरेलू उपचार-


1- पेट में वायु-गैस बनने की अवस्था में भोजन के बाद 125 ग्राम दही के मट्ठे में दो ग्राम अजवायन और आधा ग्राम काला नमक मिलाकर खाने से वायु-गैस मिटती है सप्ताह-दो सप्ताह आवश्यकतानुसार दिन के भोजन के पश्चात लें इससे वायु-गोला, अफारा के अतिरिक्त कब्ज भी दूर होती है-

2- 1/2 चम्‍मच सूखा अदरक पाउडर लें और उसमें एक चुटकी हींग और सेंधा नमक मिला कर एक कप गरम पानी में डाल कर पीएं-

3- सोंठ का चूर्ण 3 ग्राम और एरण्ड का तेल 8 ग्राम सेवन करने से कब्ज के कारण होने वाला आध्यमान (अफारा) ठीक हो जाता है-

4- सोंठ का चूर्ण लगभग एक ग्राम का चौथा भाग से लगभग एक ग्राम भाग में काला नमक मिलाकर सुबह और शाम लेने से लाभ होता है-

5- सोंठ और कायफल को मिलाकर काढ़ा बनाकर पीने से गैस मिट जाती है-

6- भोजन के साथ सलाद के रूप में टमाटर का प्रतिदिन सेवन करना लाभप्रद होता है यदि उस पर काला नमक डालकर खाया जाए तो लाभ अधिक मिलता है लेकिन यदि आपको पथरी की शिकायत है तो आपको कच्चे टमाटर का सेवन नहीं करना चाहिए-

7- कुछ ताजा अदरक स्‍लाइस की हुई नींबू के रस में भिगो कर भोजन के बाद चूसने से भी आपको आफारा होने पर राहत मिलेगी-

8- पेट में या आंतों में ऐंठन होने पर एक छोटा चम्मच अजवाइन में थोड़ा नमक मिलाकर गर्म पानी में लेने पर लाभ मिलता है बच्चों को अजवायन थोड़ी दें-

9- भोजन के एक घंटे बाद 1 चम्‍मच काली मिर्च, 1 चम्‍मच सूखी अदरक और 1 चम्‍मच इलायची के दानो को 1/2 चम्‍मच पानी के साथ मिला कर पिएं तथा वायु समस्या होने पर हरड़ के चूर्ण को शहद के साथ मिक्स कर खाना चाहिए-

10- अजवायन, जीरा, छोटी हरड़ और काला नमक बराबर मात्रा में पीस लें अब आप दो से छह ग्राम खाने के तुरंत बाद पानी से लें तथा बच्चों के लिए इसकी मात्रा कम करके दें-

11- अदरक के छोटे टुकड़े कर उस पर काला नमक छिड़क कर दिन में कई बार उसका सेवन करें आपको गैस परेशानी से छुटकारा मिलेगा तथा शरीर हलका होगा और भूख भी आपको खुलकर लगेगी

12- तारपीन के तेल की 60 से 120 बूंद को साबुन के घोल में मिलाकर बस्ति (एक क्रिया जिसमें गुदा मार्ग से पानी डालते हैं) देने से पेट की गैस दूर हो जाती है-

13- बैंगन को अंगारों पर सेंककर उसमें सज्जीखार मिलाकर पेट पर बांधने से, पेट में भार हो गया हो तो वह दूर होता है तथा बैंगन की सब्जी में ताजे लहसुन और हींग का छौंक लगाकर खाने से आध्यमान (अफारा, गैस) को होने से रोकता है-

14- पेट में गैस या अफारा यदि ज्यादा परेशानी का कारण बन जाए तो सूखे धनिये, इलायची और हल्दी का सेवन करने से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है-

15- गैस की समस्या को दूर करने के लिए त्रिफला सबसे अधिक अचूक दवा होती है इससे गैस और अपच पेट के विकारों से काफी हद तक छुटकारा पाया जा सकता है त्रिफला का एक चम्मच चूर्ण गर्म पानी के साथ लें इससे गैस की समस्या दूर हो सकती है-

16- गुड़ और मेथी दाना को उबालकर पीने से अफारा मिट जाता है-

17- मेथी 250 ग्राम और सोया 250 ग्राम को लेकर, दोनों को तवे पर सेंक लें तथा मोटा-मोटा कूटकर (अधकुटा) करके 5-5 ग्राम की मात्रा में सेवन करने से वायु, लार की अधिकता, अफारा (पेट में गैस का बनना), खट्टी हिचकियां और डकारें आने का कष्ट मिट जाता है-

क्या करे और क्या न करे-


1- वायु कम से कम बने इसलिये आप आलू, चावल, तेल, मांस, शराब आदि का सेवन बंद कर दें-

2- कभी भी आप भूखे मत रहें जब भी पेट खाली रहेगा तो भी गैस बनेगी-

3- व्रत रखना एक गैस या अफारे का अच्छा उपचार है सात दिनों में केवल आधा पौना दिन ही व्रत रखें-

4- पुदीना, अनारदाना, प्याज, धनिया आदि की चटनी भोजन के साथ जरूर लिया करें हो सके तो लहसुन, अदरक का प्रयोग अवश्य करें-

5- अपनी आदत बना लें कि एक गिलास गुनगुने पानी में नींबू निचोड़ कर प्रतिदिन पिया करें उसके बाद ही शौच आदि जाएं-

6- जिन्हें कब्ज, भी रहता हो और हवा भी काफी बनती हो वे खाना खाने के बाद काला नमक, जीरा, नींबू मिलाकर खारा सोडा पी लें आपको उससे काफी आराम मिलेगा तथा आंतड़ियां साफ हो जाएगी-

7- जिन्हें पेट में अधिक हवा बनने की तकलीफ रहती हो वे गर्मी के मौसम में तरबूज, खरबूजा तथा आम आदि को अधिक मात्रा में न खाएं इनसे भी हवा बनती है-

8- भोजन पचेगा, पेट साफ रहेगा तो गैस कम बनेगी यदि आप हरे साग जैसे बथुआ, पालक, सरसों का साग खाएं खीरा, ककड़ी, गाजर, चुकंदर भी इस रोग को शांत रखते हैं लेकिन इन्हें कच्चा खाना चाहिये-

9- नारियल का पानी दिन में तीन बार पियें इससे भी आपका सारा कष्ट मिट जाएगा-

10- खानो खाने के बाद आइसक्रीम खाना या ठंडे पेय पीना भी हानि करता है ऐसे में ठंडा जूस पीना भी ठीक नहीं रहता है-

11- यदि किसी को चाय या काफी की आदत हो तो यह भी नुकसान करती है इस आदत को आपको छोड़ना ही अच्छा है-

12- मैदे से बने पदार्थ या सुपरफाइन आटे की रोटी आसानी से नहीं पचती है और वायु पैदा करती हैं अत: मोटे चोकर युक्त आटे से या चना अथवा सोयाबीन मिले आटे की रोटी खाएं-यह जल्दी पचेगी भी और अफारा जैसी तकलीफें नहीं होगी अगर इस प्रकार यदि आप अपने खानपान में सुधार कर लें तो गैस बनने या अफारा होने की तकलीफ नहीं रहेगी-

तत्काल लाभ के लिए-


एक दो लहसुन की फांकें छीलकर बीज निकाली हुई मुनक्का में लपेटकर, भोजन करने के बाद, चबाकर निगल जाने से थोड़े समय में ही पेट में रुकी हवा निकल जायेगी-सर्दी के कारण सारा शरीर जकड़ गया हो और कमर दर्द हो तो वह भी जाता रहेगा-

प्रस्तुती- Satyan Srivastava

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Information on Mail

Loading...