27 मार्च 2018

जीरे का हिम घर पर कैसे बनाएं

Make Cumin Seed Detox Water


जीरा (Cumin Seed) हमारी रोजमर्रा के भोजन में उपयोग होने वाला रुचिवर्धक व स्वादिष्ट मसालों में से एक है लेकिन जीरे के औषधीय उपयोग इससे कहीं ज्यादा है जीरा अग्नि को प्रदीप करने वाला, अतिसार को रोकने वाला, बुद्धि बढ़ाने वाला, बल देने वाला, रूचि को उत्पन्न करने वाला, कफ को मिटाने वाला तथा नेत्र के लिए हितकारी है जीरा के नियमित सेवन से वायु, पेट का आफरा, वायु से होने वाले पेट दर्द, उल्टी (Vomit), अतिसार, पित्त विकार, कृमि (Worms) तथा रक्त विकार जैसी समस्याएं दूर होती है-

जीरे का हिम घर पर कैसे बनाएं

महर्षि चरक ने जीरे (Cumin Seed) को शूल मिटाने वाला, रुचिकारक, वातहर, भूख बढ़ाने वाला तथा ठंडा कहा है महर्षि सुश्रुत ने जीरे को वातनाशक, कफ का शमन करने वाला और अरुचि को नाश करने वाला, दीपक तथा गुल्म,फोड़े फुंसी (Boils) को मिटाने वाला व आम का नाश करने वाला कहा है-

आजकल बाजारों में जलजीरा पीने का प्रचलन काफी बड़ा है लेकिन बाजारु उत्पादनों में जीरे का फ्लेवर तथा कृत्रिम रंग का उपयोग होने की वजह से जीरे के उत्तम लाभ नहीं मिल पाते हैं इसीलिए जीरे का हीम (Cumin Seed Detox Water) घर में बनाया जाए तो बेहद उपयोगी तथा हितकारी होता है-

कैसे बनायें-


जीरे को 8 से 10 गुना पानी में 7 से 8 घंटे भिगोकर रखें सुबह मसलकर उसे छान ले इसी द्रव्य को जीरे का हिम (Cumin Seed Detox Water) कहते हैं आप चाहे तो इस पानी को थोड़ा उबालकर भी इस्तेमाल कर सकते हैं-

जीरे के हिम (Cumin Seed Detox Water) से होने वाले लाभ-


1- वायु संबंधित रोगों में जीरे के हिम (Cumin Seed Detox Water) में नींबू, सेंधा नमक तथा हींग डालकर पीने से गैस, आफरा, पेट दर्द, बदहजमी जैसी समस्याएं दूर होती है-

2- उष्णता जन्यरोग या समस्याओं में जीरे के हिम में मिश्री मिलाकर पीने से एसिडिटी, खाना खाने के बाद होने वाली सीने की जलन, वमन, जी मचलाना, बेचैनी तथा अरुचि जैसी समस्याओं में बेहद लाभ होता है-

जीरे का हिम घर पर कैसे बनाएं

3- जीरे का हिम (Cumin Seed Detox Water) पेट, लिवर तथा आंतों को बलवान बनाता है आंतों के अंदर जंतुओं का व कृमि का नाश करता है पसीने की दुर्गंध (Sweat Odour) को दूर करता है, पेट साफ करने में मदद करता है, पेट में गैस बनना, पेट दर्द, कब्ज (Constipation), आफरा जैसी समस्याओं को मिटाता है-

4- जीरे का हिम चयापचय की क्रिया को तेज करता है इसीलिए जीरे के हिम के नियमित सेवन से वजन घटने में काफी सहायता होती है-

5- पाचन क्रिया की विकृति से होने वाली कब्ज हो या गर्भाशय की कमजोरी या शिथिलता की वजह से मासिक संबंधी समस्याएं हो यह दोनों समस्या में जीरे का हिम बेहद लाभदायक है स्त्रियों में होने वाले श्वेत प्रदर (White Discharge) तथा रक्त प्रदर में भी जीरे का हिम नियमित पीने से बेहद लाभ होता है-

6- जीरा आंखों की रोशनी बढ़ाने में भी बेहद लाभदायक है जीरे के हिम से आंखें धोने से आंखों को ठंडक मिलती है तथा आंखों की जलन दूर होती है-

7- जीरे के हिम (Cumin Seed Detox Water) के नियमित सेवन से शरीर का फूलना और शरीर की सुजन कम होने में भी काफी लाभ होता हैं-

इसे भी देखे-



प्रस्तुती- Chetna Kanchan Bhagat-Mumbai

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कुल पेज दृश्य

सर्च करें-रोग का नाम डालें

Information on Mail

Loading...