24 मार्च 2018

गर्मियों में लाभदायक विविध आयुर्वेदिक डिटॉक्स वाटर

Various Ayurvedic Detox Water Beneficial in Summer


पिछले हमने आयुर्वेदिक हिम या डिटॉक्स वाटर (Ayurvedic Detox Water) की विधि लाभ तथा उसके उपयोग के बारे में विस्तार से जाना इस लेख में हम आपको तेज गर्मी से राहत देने वाले तथा गर्मियों में होने वाली समस्याओं में लाभदायक आयुर्वेदिक डिटॉक्स वाटर की जानकारी देंगे जो आप आसानी से घर पर बना कर गर्मियों में होने वाली समस्याओं से राहत पा सकते हैं-

गर्मियों में लाभदायक विविध आयुर्वेदिक डिटॉक्स वाटर

आयुर्वेदिक डिटॉक्स वाटर (Ayurvedic Detox Water) आयुर्वेदिक हिम-


अपनी समस्या तथा ऋतु के अनुसार योग्य औषधि चुन कर उसको 6 घंटे पानी में भिगोकर बनाए गए योग को हिम कहा जाता हैं हिम या डेटोक्स वोटर (Ayurvedic Detox Water) पीने से शरीर को पोषण मिलता है तथा शरीर का योग्य तरीके से शुद्धिकरण भी होता है आयुर्वेदिक हिम पीने से शरीर के विषैले तत्वों का आसानी से उत्सर्जन होता है जिससे पाचन संस्था सुचारू होती है, सुजन कम होती हैं, वजन घटता हैं, त्वचा रोगों में राहत मिलती है त्वचा चमकीली होती है व शरीर में ताजगी व तरावट बनी रहती है-

आप कोई भी औषधि द्रव्य जिसका हिम (Ayurvedic Detox Water) बनाना हो उसे पानी में भिगोकर रख दें सुबह मसल करके उसमें थोड़ी मिश्री मिलाकर पी सकते हैं आप चाहे तो उसे उबालकर भी पी सकते हैं अथवा एक कांच की बोतल या बड़े जग में औषधि मिलाकर पानी भरकर वह पानी पूरे दिन भी पी सकते हैं-

अपनी आवश्यकता अनुसार या समस्या अनुसार औषधियों का हिम बनाकर रख ले यह हिम आप ठंडा या गर्म दोनों तरीके से पी सकते हैं इस हिम का यानी डिटॉक्स वाटर का इस्तेमाल आप शरबत, मिल्कशेक या शिकंजी बनाने में भी कर सकते हैं-

हिम का इस्तेमाल सूप बनाने में भी कर सकते हैं इस तरह से आप सुप को ना सिर्फ स्वादिष्ट बनाएंगे बल्कि ज्यादा पौष्टिक व गुणकारी भी बना सकते हैं-आप इसे डाल या सब्जियों में भी डाल कर प्रयोग कर सकते हैं-

इस तरह आयुर्वेदिक हिम उपयोग करने के बेहद आसान तथा बनाने में भी बेहद सरल है गर्मियों में इसका इस्तेमाल करने से आप गर्मियों की परेशानियों से ना सिर्फ बचेंगे बल्कि कई समस्याओं की रोकथाम भी कर पाएंगे-

विविध आयुर्वेदिक हिम (Ayurvedic Detox Water) व उसके उपयोग-


गर्मियों में घर में मिलने वाले या आसानी से सुलभ चीजों से हम आयुर्वेदिक हिम (Ayurvedic Detox Water) बना सकते हैं यह मसाले, फूल, धान्य व अन्य औषधिया आसानी से उपलब्ध होने के साथ-साथ गर्मियों में बेहद लाभदायक व हितकर मानी गई है इनका नियमित प्रयोग करने से आप गर्मी से होने वाले स्वास्थ्य समस्याओँ से आसानी से बच सकते हैं तथा उष्णता से होने वाली स्वास्थ संबंधी समस्याओं से छुटकारा भी पा सकते हैं-

गर्मियों में लाभदायक विविध आयुर्वेदिक डिटॉक्स वाटर

गर्मियों में ज्यादा पसीना आने से शरीर का जलांश कम हो जाता है जिससे मूत्र संबंधी तथा किडनी संबंधी बीमारियां होने का खतरा बना रहता है ऐसे समय अगर नियमित आयुर्वेदिक हिम का सेवन किया जाए तो मूत्र संबंधित समस्याएं तथा किडनी संबंधित समस्याओं को टाला जा सकता है आयुर्वेदिक हिम पीने से शरीर में संचित विषैले तत्व मूत्र द्वारा बाहर निकलते हैं इसलिए जिन लोगों को गर्मियों में पथरी बनने की समस्या है वैसे लोगों ने अवश्य ही आयुर्वेदिक हीम का सेवन पूरी गर्मियों के मौसम में बिना नागा करना चाहिए-

पित्त प्रकृति के लोग या जिन्हें कब्ज रहती हो या आंतों का कड़ापन रहता हो, होंठ फटे या सूखे रहते हो ऐसे व्यक्तियों ने भी अपनी आवश्यकता व समस्या के अनुसार औषधि चुन कर उसका हिम अवश्य पीना चाहिए-

इस लेखन माला की विविध कड़ियों के अंतर्गत हम आपको आसानी से उपलब्ध सुलभ औषधि द्रव्यों का हिम बनाने की विधि, उपयोग तथा लाभ के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे जिन्हें आप घर में बनाकर स्वास्थ्य लाभ ले सकते हैं-

इसे भी देखे-




विशेष सूचना-

सभी मेम्बर ध्यान दें कि हम अपनी नई प्रकाशित पोस्ट अपनी साइट के "उपचार और प्रयोग का संकलन" में जोड़ देते है कृपया सबसे नीचे दिए "सभी प्रकाशित पोस्ट" के पोस्टर या लिंक पर क्लिक करके नई जोड़ी गई जानकारी को सूची के सबसे ऊपर टॉप पर दिए टायटल पर क्लिक करके ब्राउज़र में खोल कर पढ़ सकते है....

किसी भी लेख को पढ़ने के बाद अपने निकटवर्ती डॉक्टर या वैद्य के परमर्श के अनुसार ही प्रयोग करें-  धन्यवाद। 

Upchar Aur Prayog 

Upcharऔर प्रयोग की सभी पोस्ट का संकलन

loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Information on Mail

Loading...